हाथ-पैराें में हमेशा बनी रहती है सूजन (इंफ्लामेशन)? राहत पाने के लिए आजमाएं ये 9 घरेलू उपाय

कई लाेगाें के हाथ-पैराें में हमेशा सूजन बनी रहती है। अगर आपके साथ भी ऐसा है, ताे कुछ घरेलू उपायाें काे आजमा सकते हैं। इनसे आपकाे काफी फायदा मिलेगा।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Aug 25, 2021

1/10

शरीर में सूजन या इंफ्लामेशन एक सामान्य समस्या है। वैसे ताे यह काेई बीमारी नहीं है, लेकिन कई गंभीर बीमारियाें जैसे डायबिटीज, हृदय राेग, कैंसर और डिमेंशिया का कारण बनता है। शरीर में सूजन हाेने पर अधिक प्यास लगना, बुखार जैसे लक्षण नजर आते हैं। ऐसे में आप इन लक्षणाें काे नजरअंदाज न करें। शरीर या हाथ-पैराें में सूजन हाेना आपके स्वास्थ्य के लिए बुरा संकेत हाेता है। कई लाेगाें काे क्राेनिक इंफ्लामेशन की समस्या से भी जूझना पड़ता है। यह खतरनाक हाे सकता है, लेकिन कुछ घरेलू उपायाें काे आजमाकर आप अपने शरीर की सूजन काे कम कर सकते हैं। राम हंस चेरिटेबल हॉस्पिटल के आयुर्वेदाचार्य डॉक्टर श्रेय शर्मा से जानें-

1. हल्दी

1. हल्दी
2/10

हल्दी काे सूजन कम करने के लिए बेहद लाभकारी औषधि माना जाता है। हल्दी करक्यूमिन नामक तत्व एंटी इंफ्लामेशन के लिए जाना जाता है। ऐसे इसके सेवन से आप अपने हाथ-पैराें की सूजन काे काफी हद तक कम कर सकते हैं। हल्दी का सेवन आप दाल, सब्जी या दूध में डालकर कर सकते हैं। इसके अलावा हल्दी का पेस्ट प्रभावित स्थान पर लगाना भी फायदेमंद हाे सकता है।

2. पालक

2. पालक
3/10

हाथ-पैराें की सूजन कम करने के लिए पालक भी एक अच्छा घरेलू उपाय है। दरअसल, शरीर में मैग्नीशियम की कमी हाेने पर क्राेनिक इंफ्लामेशन की समस्या देखने काे मिलती है। इसलिए आपकाे मैग्नीशियम से भरपूर भाेजन अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए। पालक पाेषक तत्वाें खासकर मैग्नीशियम, आयरन और प्राेटीन से भरपूर हाेता है। ऐसे में यह आपके सूजन काे कम करने में मदद कर सकता है। 

3. राेजाना एक्सरसाइज करें

3. राेजाना एक्सरसाइज करें
4/10

माेटे लाेगाें काे सूजन या इंफ्लामेशन से अधिक परेशान हाेना पड़ता है। इसलिए इससे बचने के लिए आपकाे अपने वजन काे नियंत्रण में रखना जरूरी हाेता है। अगर आप माेटे हैं और बॉडी इंफ्लामेशन से परेशान हैं, ताे इसके लिए आपकाे राेजाना एक्सरसाइज जरूर करनी चाहिए। एक्सरसाइज आपकाे फिजिकली एक्टिव रखता है और इंफ्लामेशन से बचाता है। 

4. नमक और गर्म पानी से सिकाई

4. नमक और गर्म पानी से सिकाई
5/10

नमक और गर्म पानी की सिकाई शरीर की सूजन काे कम करने के लिए एक बेहतरीन घरेलू उपाय है। अकसर डॉक्टर भी सूजन हाेने पर नमक और गर्म पानी से सिकाई करने की सलाह देते हैं। इसके लिए आप एक पतीले में गर्म पानी करें और उसमें नमक डालें। अब एक कपड़े से प्रभावित स्थान की सिकाई करें। अगर हाथ-पैर में सूजन है, ताे आप पानी में ही इन्हें रख सकते हैं।

5. अदरक

5. अदरक
6/10

अदरक में जिंजेराेल्स नामक तत्व हाेता है, जिसमें एंटी इंफ्लेमेटरी गुण हाेते हैं। इसलिए अदरक के सेवन से शरीर की सूजन काे काफी हद तक कम किया जा सकता है। अदरक का सेवन करने से क्राेनिक इंफ्लामेशन की समस्या से भी निजात पाया जा सकता है। इसके लिए आप अदरक का काढ़ा पी सकते हैं। साथ ही अदरक काे अपने भाेजन में मसाले के रूप में शामिल कर सकते हैं।

6. लहसुन

6. लहसुन
7/10

लहसुन एंटी इंफ्लेमेटरी गुणाें से भरपूर हाेता है। इसलिए इसके सेवन से आपकाे शरीर की सूजन में राहत मिल सकती है। सूजन काे कम करने के लिए आप राेज सुबह खाली पेट लहसुन की 2-3 कलियाें का सेवन कर सकते हैं। साथ ही इसे अपने भाेजन में भी शामिल करें। लहसुन की तासीर गर्म हाेती है, इसलिए इसका सेवन करने से पहले आपकाे डॉक्टर की राय जरूर लेनी चाहिए।

7. खूब पानी पिएं

7. खूब पानी पिएं
8/10

शरीर की सूजन काे कम करने के लिए पानी पीना भी बेहद जरूरी हाेता है। राेजाना 3-4 लीटर पानी पीने से आप इस समस्या से बच सकते हैं। पानी काे स्वादिष्ट और हेल्दी बनाने के लिए उसमें पुदीना, अदरक, तुलसी आदि डाल सकते हैं। इस पानी काे पीने से आपकाे कई लाभ मिलेंगे।  

8. आंवला

8. आंवला
9/10

हाथ, पैराें की सूजन काे कम करने के लिए आंवला भी एक बेहतरीन घरेलू उपाय के तौर पर कार्य करता है। आंवले में पर्याप्त मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट और विटामिन सी हाेता है, जिससे सूजन कम हाेती है और इम्यूनिटी मजबूत हाेती है। इसके लिए आप राेज सुबह आंवले का सेवन करें। आप चाहें ताे आंवले का जूस भी पी सकते हैं।

9. साल्मन मछली

9. साल्मन मछली
10/10

शरीर के सूजन काे कम करने के लिए ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन करना बेहद जरूरी हाेता है। साल्मन मछली ओमेगा-3 फैटी एसिड भरपूर हाेता है। इसके सेवन से शरीर की सूजन काे काफी हद तक कम हाेती है। साइटाेकिन्स शरीर में सूजन का कारण बनता है और साल्मन मछली साइटाेकिन्स काे कम करने में मदद करता है।

Disclaimer