पीसीओएस (PCOS) से राहत पाने के लिए अपनाएं ये 7 घरेलू उपाय

आजकल हर दूसरी लड़की पीसीओएस (PCOS) की समस्या से जूझ रही हैं। ऐसे में इससे राहत पाने के लिए वे कई तरीके अपनाती हैं। आप इन घरेलू उपायों से इस समस्या से निजात पा सकती हैं।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 15, 2021

इन घरेलू उपायों से दूरी होगी पीसीओएस की समस्या (Home Remedies to Get Relief in PCOS)

इन घरेलू उपायों से दूरी होगी पीसीओएस की समस्या (Home Remedies to Get Relief in PCOS)
1/9

आजकल खराब लाइफस्टाइल, खानपान और हार्मोनल बदलाव की वजह से लड़कियों और महिलाओं में पीसीओएस (PCOS) की समस्या बेहद सामान्य हो गई है। पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम यानी पीसीओएस (Polycystic Ovarian Syndrome) पहले बड़ी उम्र की महिलाओं में देखने को मिलती थी, लेकिन आजकल यह समस्या छोटी उम्र की लड़कियों में भी आम हो गई है। इस बीमारी में महिलाओं के अंडाशय में सिस्ट (Cyst in Ovary) बनने लगते हैं। इस दौरान पीरियड्स में अनियमितता आ जाती है (Irregular Periods)। पीसीओएस का सीधा असर महिलाओं की प्रजनन क्षमता (Fertility) पर पड़ता है, जिससे उन्हें गर्भधारण करने से दिक्कत होती है। इसमें महिलाओं के चेहरे और शरीर पर अधिक बाल आने लगते हैं। आप इस समस्या से राहत पाने के लिए कुछ घरेलू उपायों को भी अपना सकती हैं। आयुर्वेदाचार्य श्रेय शर्मा से जानते हैं पीसीओएस के लिए कुछ बेहतरीन घरेलू उपायों के बारे में (home remedies to get relief in PCOS)-

पीसीओएस में घरेलू उपाय (Home Remedies For PCOS)

पीसीओएस में घरेलू उपाय (Home Remedies For PCOS)
2/9

रेगुलर एक्सरसाइज करें मेथी है पीसीओएस में फायदेमंद पीसीओएस में लाभकारी मुलेठी पीसीओएस में दालचीनी सहायक आंवला जूस से पीसीओएस में मिलेगी राहत  शहद से ठीक होगा पीसीओएस तुलसी की पत्तियां चबाएं इन घरेलू उपायों से आप पीसीओएस की समस्या से राहत पा सकती हैं। आगे के स्लाइड शो में जानें इन घरेलू उपायों को उपयोग में लाने का सही तरीका-

1. रेगुलर एक्सरसाइज करें (Regular Exercise in PCOS)

1. रेगुलर एक्सरसाइज करें (Regular Exercise in PCOS)
3/9

शारीरिक रूप से सक्रिय रहने के लिए एक्सरसाइज करना बहुत जरूरी होता है। व्यायाम पीसीओएस की समस्या में राहत दिलाने में भी फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, पीसीओएस में मोटापा काफी बढ़ जाता है। ऐसे में एक्सरसाइज इसे कंट्रोल करने में मदद करता है। इसके लिए आप नियमित रूप से व्यायाम करें। आपको पेट के निचले हिस्सों की एक्सरसाइज करनी चाहिए। रोजाना इसे करने से आपको धीरे-धीरे इस समस्या से निजात मिलने लगेगी। इसके लिए आप पिलेट्स, लाइट एरोबिक्स आदि कर सकती हैं। शलभासन, भुजंगासन और धनुरासन भी इसमें फायदेमंद होता है। आपको बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करने से भी बचना है, क्योंकि यह हार्मोन असंतुलन का कारण भी बन सकता है।

2. मेथी दाने (Fenugreek Seeds)

2. मेथी दाने (Fenugreek Seeds)
4/9

मोटापा पीसीओएस का एक सामान्य लक्षण होता है। इसलिए इस समस्या को ठीक करने के लिए सबसे पहले वजन कम करना जरूरी होता है। इसके लिए आप मेथी के दानों का सेवन कर सकते हैं। मेथी का सेवन करने से वजन तेजी से कम होता है। मेथी को वजन कंट्रोल में रखने के लिए काफी अच्छा माना जाता है। इसके साथ ही मेथी शरीर में ग्लूकोज (Glucose) के चयापचय को बढ़ावा देती है और इंसुलिन (Insulin Level) को बढ़ने से रोकती है। मेथी के बीज इंसुलिन के स्तर को सामान्य रखने में मदद करते हैं। इसके लिए आप मेथी के बीजों को रात में पानी में भिगोकर रख दें। सुबह खाली पेट इस बीजों का सेवन करें। आप चाहें तो मेथी के पत्तों (Fenugreek Leaves) का भी सब्जी के रूप में सेवन कर सकते हैं।

3. मुलेठी (Mulethi)

3. मुलेठी (Mulethi)
5/9

पीसीओएस की समस्या में मुलेठी का सेवन करना बेहद फायदेमंद होता है। मुलेठी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) बढ़ाने के साथ ही वजन को भी नियंत्रण में रखता है। इसके सेवन से महिलाओं में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन (Testosterone Hormone) के स्तर में भी कमी आती है। इसके लिए आप कुछ दिनों तक नियमित रूप से मुलेठी का सेवन करें। आप इसे चाय या काढ़े के रूप में ले सकती हैं। इसे स्वादिष्ट बनाने के लिए इसमें शहद का उपयोग कर सकती हैं। कोरोना काल में मुलेठी का इस्तेमाल काफी ज्यादा किया गया है।

4. दालचीनी (Cinnamon)

4. दालचीनी (Cinnamon)
6/9

दालचीनी सब्जी और दाल में इस्तेमाल किया जाने वाला एक मसाला है, जिसे स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। लड़कियों और महिलाओं में पीसीओएस की समस्या में भी दालचीनी का इस्तेमाल किया जा सकता है। यह इंसुलिन के स्तर को कम करने और सामान्य रखने में मदद करता है। साथ ही दालचीनी मोटापे को भी कम करता है (Cinnamon is Helpful in Obesity)। इस समस्या से राहत पाने के लिए आप गर्म पानी में कुछ दिनों तक लगातार दालचीनी का पाउडर लें। आप चाहें तो इसके पाउडर को दूध के साथ भी ले सकती हैं। इससे आपको काफी फायदा मिल सकता है।

5. आंवला जूस (Amla Juice)

5. आंवला जूस (Amla Juice)
7/9

आंवला विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट्स (Vitamin C and Antioxidants) का काफी अच्छा सोर्स होता है। नियमित रूप से आंवला जूस पीने से शरीर से सारे विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं, जिससे वजन में कमी आती है। यह ब्लड शुगर लेवल को भी कंट्रोल में रखता है। आंवला जूस महिलाओं में फर्टिलिटी (Fertility in Women) को बढ़ाने में भी मदद करता है। नियमित रूप से आंवला जूस पीने से पीसीओएस की समस्या में भी राहत मिल सकती है। आप रोजाना एक गिलास पानी में एक चम्मच आंवला जूस डालकर इसका सेवन कर सकती हैं। इससे आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को फायदा मिलता है।

6. शहद (Honey)

6. शहद (Honey)
8/9

रोज सुबह खाली पेट एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से कई रोग दूर हो सकते हैं। यह एक काफी अच्छा वेट लॉस ड्रिंक (Weight Loss Drink) होता है। मोटापा और पीसीओएस में गहरा संबंध होता है, ऐसे में वजन को कम कर लिया जाए तो पीसीओएस में भी काफी हद तक राहत मिल सकती है। आप शहद के पानी में नींबू की कुछ बूंदे भी मिला सकती हैं। 

7. तुलसी (Basil)

7. तुलसी (Basil)
9/9

तुलसी को भी पीसीओएस की समस्या ठीक करने के लिए उपयोग में लाया जा सकता है। एंड्रोजन (Androgen) के स्तर को नियंत्रण में रखने में मदद करता है। साथ ही तुलसी की पत्तियों के सेवन से इंसुलिन (Insulin Level) का स्तर भी सामान्य रहता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स (Antioxidants) भी भरपूर होते हैं। अपनी इस समस्या से राहत पाने के लिए आप रोज सुबह खाली पेट तुलसी की कुछ पत्तियों (Basil Leaves) को चबाकर खा सकती हैं। आप चाहें तो तुलसी की पत्तियों को पानी में उबालकर भी इस पानी का सेवन कर सकती हैं। आप इन सभी घरेलू उपायों की मदद से इस समस्या में काफी हद तक राहत पा सकती हैं। लेकिन अगर आपको पीरिड्स 2-3 महीने में एक बार आता है या आपके शरीर में बाल ज्यादा उगने लगे तो आपको तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट करने की जरूरत होती है। इसमें अंडाशय में सिस्ट बन जाते हैं, जिनका उपचार करना जरूरी होता है।

Disclaimer