मल त्याग के समय पेट में दर्द और मरोड़ से हैं परेशान? इन घरेलू उपायाें से पाएं दर्द से छुटकारा

क्या आपकाे मल त्याग करते हुए दर्द हाेता है? इसके पीछे कई कारण जिम्मेदार हाे सकते हैं। लेकिन आप इसे कुछ खास घरेलू उपायाें की मदद से ठीक कर सकते हैं।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Aug 19, 2021

1/10

एक व्यक्ति अपने जीवनकाल में विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करता है। इनमें से सबसे सामान्य है कब्ज। अगर आपकाे लंबे समय तक कब्ज रहता है, ताे मल त्याग करते हुए दर्द महसूस हाे सकता है। अकसर लाेग शुरुआत में इसे नजरअंदाज कर देते हैं, लेकिन समस्या बढ़ने पर यह गंभीर रूप ले लेता है। ऐसे में आपकाे असहनीय पीड़ा का सामना करना पड़ता है। इतना ही नहीं कई बार मल त्याग के दौरान रक्त भी निकलता है। मल त्याग करते समय दर्द गुदा क्षेत्र में समस्याओं के कारण होता है। इसलिए इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। आप चाहें ताे इसके लिए कुछ घरेलू उपाय आजमा सकते हैं।

सेंधा नमक है फायदेमंद

सेंधा नमक है फायदेमंद
2/10

अगर आपकाे मल त्याग के दौरान दर्द हाेता है, ताे ऐसे में आप सेंधा नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप एक टब में गर्म पानी में सेंधा नमक यानी एप्सम सॉल्ट डालें। इसके बाद इसमें थाेड़ी देर अपने गुदा क्षेत्र काे डालकर बैठ जाएं। इससे आपके गुदा में हाेने वाली जलन शांत हाेगी। आप चाहें ताे गर्म पानी में सेंधा नमक डालकर नहा भी सकते हैं। इतना ही नहीं अगर कब्ज की समस्या रहती है, ताे आप राेज सुबह खाली पेट एक गिलास गर्म पानी में काला नमक डालकर पी भी सकते हैं। 

नारियल तेल है फायदेमंद

नारियल तेल है फायदेमंद
3/10

नारियल तेल काे कई समस्याओं काे दूर करने के लिए घरेलू उपायाें के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। मल त्याग के दौरान दर्द की समस्या काे भी नारियल के तेल से ठीक किया जा सकता है। इसके लिए आप एक रूई का टुकड़ा लें, इस पर नारियल तेल लगाएं। इसके बाद इसे अपने गुदा द्वार पर थपथपाएं। ऐसा करने से दर्द, जलन और लालिमा से राहत मिलेगी। लेकिन अगर नारियल के तेल से एलर्जी है, ताे इसके इस्तेमाल से बचें।

एलाेवेरा जेल

एलाेवेरा जेल
4/10

एलाेवेरा जेल भी मल त्याग के दौरान हाेने वाले दर्द में आराम दिला सकता है। इसके लिए आप फ्रेश एलाेवेरा से पल्प निकाल लें। इसे अपने एक उंगुली से गुदा क्षेत्र में लगाएं। हल्के हाथाें से मालिश करें। एलोवेरा में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो जलन और खुजली का इलाज करने में मदद कर सकते हैं। इससे दर्द भी कम हाेता है। यह गुदा क्षेत्र काे ठीक करता है, जिससे मल त्याग में राहत मिलती है। 

आइस पैक का उपयाेग

आइस पैक का उपयाेग
5/10

मल त्याग करते समय होने वाले दर्द से छुटकारा पाने  के लिए आइस पैक फायदेमंद होता है। क्योंकि आइस पैक दर्द को सुन्न कर देता है और क्षेत्र में सूजन को अस्थायी रूप से कम कर देता है। यह गुदा क्षेत्र में दर्द और सूजन से राहत दिलाने में भी उपयोगी है। इसके लिए बर्फ को  मुलायक कपड़े पर लपेटें, इसके बाद इसे प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। दिन में 10-15 मिनट ऐसा करने से आपके दर्द में काफी हद तक आराम मिलेगा। 

इंडियन टॉयलेट का यूज करें

इंडियन टॉयलेट का यूज करें
6/10

नॉर्मल वेस्टर्न टॉयलेट सीट आपके पेट पर दबाव नहीं डालती, जिससे कई लोगों को कब्ज या मल त्याग करने में समस्या होती है। आसानी से मल त्याग करने के लिए स्क्वाट पोजीशन सबसे अच्छी होती है। इसलिए इसके लिए आपकाे इंडियन टॉयलेट का यूज करना चाहिए। इससे आपकाे मल त्याग करने में आसानी हाेगी। साथ ही मल त्याग करते हुए दर्द भी कम हाेगा।

नियमित एक्सरसाइज करें

नियमित एक्सरसाइज करें
7/10

राेजाना व्यायाम करने से पाचन तंत्र सही तरीके से कार्य करता है, जिससे आपकाे कब्ज हाे सकता है। इसलिए आपकाे एक्सरसाइज काे अपनी रूटीन लाइफ में जरूर शामिल करना चाहिए। एक्सरसाइज करने से मल नरम बनता है और आसानी से बाहर निकल जाता है। इसके अलावा व्यायाम करने से अधिक पानी या लिक्विड का सेवन किया जाता है, जाे मल त्याग काे आसान बनाते हैं।

अरंडी का तेल

अरंडी का तेल
8/10

कब्ज की समस्या काे दूर करने के लिए अरंडा का तेल सबसे कारगर माना जाता है। रात में दूध के साथ एक चम्मच अरंडी का तेल पीने से सुबह आसानी से पेट साफ हाे जाता है। यह मल का नरम करने में मदद करता है। साथ ही इसके सेवन से गुदा वाले हिस्से में नसाें पर कम दबाव पड़ता है, जिससे दर्द भी कम हाेता है। लेकिन अगर आपके शरीर की प्रकृति पित्त है, ताे इसका सेवन भूलकर भी न करें। इससे आपकाे रैशेज हाे सकते हैं। 

पपीता है लाभकारी

पपीता है लाभकारी
9/10

पपीते में पपैन नामक एक शक्तिशाली पाचन एंजाइम हाेता है, जाे कब्ज की समस्या काे दूर करता है। अगर आपकाे कब्ज नहीं रहेगी ताे मल त्याग के दौरान दर्द भी नहीं हाेगा। इसके साथ ही पपीता पाेषक तत्वाें से भरपूर हाेता है, जाे स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी हाेता है। आप नाश्ते में पपीते का सेवन कर सकते हैं।

छाछ

छाछ
10/10

पेट के लिए छाछ काे भी बेहद लाभकारी माना जाता है। यह कब्ज, बवासीर जैसी गंभीर बीमारियाें काे दूर करने में सहायक हाेता है। इसके लिए आप एक गिलास छाछ में एक चुटकी नमक और अजवाइन मिलाएं। इसे नियमित रूप से पीने से आपका मल आसानी से निकल जाएगा। यह पेट काे साफ करता है और मल त्याग की प्रक्रिया काे आसान बनाता है।

Disclaimer