Hoarseness : गला बैठने के कारण और इसे ठीक करने के 9 घरेलू उपाय

कई लोगों का अकसर बार-बार गला बैठ जाता है। लेकिन यह एक सामान्य समस्या है, जिसे कुछ घरेलू उपायों की मदद से ठीक किया जा सकता है।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: May 28, 2021

गला बैठने के कारण (Causes of Hoarseness)

गला बैठने के कारण (Causes of Hoarseness)
1/10

गला बैठना एक आम समस्या है। यह समस्या अकसर बदलते मौसम में लोगों को परेशान करती है। इस दौरान व्यक्ति को खाना निगलने में तकलीफ होती है और आवाज में बदल जाती है। खांसी, बंद नाक और बोलने में भी दिक्कत होती है। साइनस और जुकाम की वजह से लोगों को अकसर यह समस्या हो जाती है। कई बार संक्रमण भी इसकी एक वजह हो सकती है। इसके साथ ही धूम्रपान और ठंडी चीजों के सेवन से भी गला बैठने की समस्या हो सकती है। गैस, एसिडिटी और गले में सूजन होने पर भी गले में दिक्कत लगती है। अगर आपको भी गला बैठने की समस्या हो रही है, तो ऐसे में आपको घबराने की जरूरत नहीं है। आप कुछ सामान्य से घरेलू उपायों को अपनाकर अपनी इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। 

1. अदरक (Ginger)

1. अदरक (Ginger)
2/10

गला बैठने की समस्या को ठीक करने के लिए आप अदरक का सेवन कर सकते हैं। अदरक को कूटकर उसमें नमक या नींबू लगाकर मुंह में रख लें। इसे धीरे-धीरे चबाते रहें इससे अदरक का रस गले में जाएगा। जिससे आपको इस समस्या से काफी हद तक राहत मिल सकती है। आप चाहें तो अदरक को पकाकर उसे शहद के साथ भी ले सकते हैं। इससे भी आपके गला बैठने की समस्या ठीक हो सकती है। इस समस्या में अदरक की चाय भी फायदेमंद हो सकती है। गला बैठने की समस्या होने पर सभी तरह से अदरक का सेवन करना फायदेमंद होता है। 

2. नमक के पानी से गरारे (Gargle with Salt Water)

2. नमक के पानी से गरारे (Gargle with Salt Water)
3/10

गले के रोगों को दूर करने के लिए नमक के पानी से गरारा करना काफी फायदेमंद माना जाता है। गला बैठने की स्थिति में भी आप दिन में 3-4 बार नमक के पानी से गरारे कर सकते हैं। नमक में एंटीसेप्टिक गुण (Antiseptic Properties) होते हैं, जो इंफेक्शन को कम करने में मददगार होता है। नमक के पानी से गरारे करने से श्वसन तंत्र से कफ साफ होता है। अगर आपका भी बार-बार गला बैठ जाता है, तो आप इस घरेलू उपाय को अजमा सकते हैं। यह एक बेहतरीन घरेलू नुस्खा है, जिससे कुछ ही दिनों में आपकी समस्या दूर हो सकती है।

3. काली मिर्च (Black Pepper)

3. काली मिर्च (Black Pepper)
4/10

गला बैठने की समस्या में काली मिर्च का सेवन करना बेहद फायदेमंद हो सकता है। यह इंफेक्शन से लड़ने में आपकी मदद कर सकता है। इसलिए गला बैठने की समस्या होने पर अगर आप दो-तीन दिन तक काली मिर्च का सेवन करेंगे, तो इससे जल्दी ही आपकी समस्या ठीक हो जाएगी। इसके लिए आप काली मिर्च को शहद के साथ ले सकते हैं। आप चाहें तो काली मिर्च का काढ़ा या चाय भी बना सकते हैं। काली मिर्च गले की सूजन, जलन और दर्द को शांत करने में भी मददगार होता है।

4. स्टीम थेरेपी (Steam Therapy)

4. स्टीम थेरेपी (Steam Therapy)
5/10

स्टीम लेने से गले का संक्रमण कम होने में फायदा मिलता है। इसके लिए आप एक बर्तन में पानी गर्म करें, सिर को तैलिया से ढकें और फिर भाप लें। इससे आपकी समस्या में काफी आराम मिलेगा। इसके लिए आप दिन में दो बार भाप ले सकते हैं। स्टीम करने से गले के कई तरह के रोग दूर होते हैं। यह गले में जमे बलगम को भी बाहर निकालने में मदद करता है। गले के इंफेक्शन को कम करने में भी लाभकारी होता है। 

5. तेजपत्ता (Bay Leaf)

5. तेजपत्ता (Bay Leaf)
6/10

तेजपत्ते की चाय पीने से सेहत को कई फायदे मिलते हैं। यह गले के रोगों को भी दूर करने में मददगार होता है। गला बैठने की समस्या को ठीक करने के लिए आप तेजपत्ते की चाय पी सकते हैं। यह इस समस्या को ठीक करने में फायदेमंद हो सकती है। तेजपत्ते की तासीर गर्म होती है, ऐसे में इसके सेवन से गले से सारा बलगम निकल जाता है। साथ ही यह इंफेक्शन भी कम करता है। आप चाहें तो तेजपत्ते का सेवन सब्जी या दाल में डालकर भी कर सकते हैं। इससे भी आपको थोड़ा बहुत फायदा मिल सकता है।

6. लहसुन (Garlic)

6. लहसुन (Garlic)
7/10

लहसुन गले की खराश के लिए बेहद लाभकारी होता है। लहसुन में एलीसिन नामक तत्व होता है, जो बैक्टीरिया या इंफेक्शन को मारने में कारगर होता है। ऐसे में अगर आपके गले में दर्द है या आपकी आवज बदली है तो आप लहसुन की कली का सेवन कर सकते हैं। दिन में 2-3 कली के सेवन से आपको इस समस्या में काफी हद तक आराम मिल सकता है। आप चाहें तो सब्जी या दाल में भी लहसुन को शामिल कर सकते हैं। 

7. शहद (Honey)

7. शहद (Honey)
8/10

शहद कई तरह के रोगों को दूर करने के लिए फायदेमंद माना जाता है। गला बैठने की समस्या में भी शहद का सेवन करना बेहतरीन घरेलू उपायों में से एक है। शहद एंटीबायोटिक की तरह काम करता है, जिससे यह गले के संक्रमण और बैक्टीरिया को खत्म करने में कारगर होता है। इसमें कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए ही बेहतर माने जाते हैं। गला बैठने की समस्या को ठीक करने के लिए आप शहद को गर्म पानी में ले सकते हैं। आप चाहें तो शहद की चाय भी पी सकते हैं। शहद स्वादिष्ट होने के साथ ही सेहत के लिए भी लाभदायक होता है। ऐसे में आप इसका सेवन नियमित रूप से भी कर सकते हैं।

8. सेब का सिरका (Apple Vinegar)

8. सेब का सिरका (Apple Vinegar)
9/10

गला बैठने पर होने वाले दर्द को शांत करने के लिए आप सेब के सिरके का इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आपको गले में दर्द, सूजन या जलन की समस्या हो तो आप इसका इस्तेमाल सेवन कर सकते हैं। इसमें एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं, जो गले में हो रहे इंफेक्शन को कम करने में मददगार होते हैं। एक गिलास गुनगुने पानी में एक छोटा चम्मच सेब का सिरका डालकर उसे पी सकते हैं। आप इसे दिन में 4-5 बार पी सकते हैं। ऐसा करने से जल्दी ही आपका गला बैठने की समस्या ठीक हो जाएगी।

9. दालचीनी (Cinnamon)

9. दालचीनी (Cinnamon)
10/10

गला बैठने की समस्या को दूर करने के लिए आप दालचीनी का उपयोग कर सकते हैं। दालचीनी में कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो श्वसन तंत्र से जुड़े रोगों को दूर करने में मददगार होता है। दालचीनी में सूजनरोधी और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, जो गले में हो रहे इंफेक्शन या संक्रमण को कम करते हैं। आप एक छोटा चम्मच दालचीनी पाउडर शहद के साथ ले सकते हैं। इससे आपको शहद और दालचीनी दोनों के गुण साथ में मिलेंगे।

Disclaimer