मांसपेशियों में दर्द के लिए घरेलू उपचार

कुछ लोगों को मांसपेशियों में दर्द कभी-कभी सताता है, जबकि कुछ लोग इससे स्थायी रूप से परेशान रहते हैं। इस समस्‍या से बचने के कुछ नुस्खे इस स्‍लाइड शो में दिए जा रहे हैं, जिन्हें आजमाकर आपको दर्द से राहत मिल सकती है।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Feb 07, 2014

मांसपेशियों में दर्द

मांसपेशियों में दर्द
1/11

व्‍यस्‍त और भाग-दौड़ भरी जिंदगी के कारण मांसपेशियों में दर्द की समस्‍या एक आम समस्‍या बन गई हैं। वैसे तो मांसपेशियों में दर्द की समस्‍या किसी भी उम्र में हो सकती है लेकिन तीस से चालीस वर्ष की आयुवर्ग के लोगों में जो मसल्‍स बनाने वाली एक्‍सरसाइज करते है उनमें यह समस्‍या ज्‍यादा देखने को मिलती है। इसके कुछ मुख्य कारण हैं, जैसे अत्याधिक कसरत करना, भारी वजन उठाना, सीढ़ चढ़ना।

मसाज

मसाज
2/11

मांसपेशियों के दर्द को दूर करने क‍े लिए मसाज बहुत फायदेमंद होती है। मांसपेशियों में खिंचाव आने से वह सिकुड़ जाती हैं, जिससे मांसपेशियों में ब्‍लड का फ्लो ठीक से नहीं हो पाता और उनमें दर्द होने लगते है। सही तरीके से दर्द वाली जगह पर मसाज करने से राहत मिलती है और ब्‍लड फ्लों में सुधार होता है।

थोड़ी सी स्ट्रेचिंग करें

थोड़ी सी स्ट्रेचिंग करें
3/11

वैसे तो मांसपेशियों में दर्द होने पर हिलना-डुलना मुश्किल होता है, लेकिन जितना आप सहन कर सकें, मांसपेशियों को आराम से स्ट्रेच करें। ऐसा थोड़ी देर करने से आपको दर्द से राहत मिलती हैं।

सिंकाई का जादू

सिंकाई का जादू
4/11

मांस‍पेशियों में दर्द को कम करने के लिए नमक की सिंकाई भी बहुत फायदेमंद होती है। इसको करने के लिए आप सेंधा नमक मिलें गरम पानी से सिंकाई करें और सिंकाई करने के बाद हल्के गुनगुने सरसों के तेल की मालिश करें।

तुलसी का उपयोग

तुलसी का उपयोग
5/11

मांसपेशियों के दर्द को दूर करने में तुलसी बहुत कारगर होती है। तुलसी में वात विकार को मिटाने के प्राकृतिक गुण होता है। तुलसी के रस को सरसों के तेल में मिलाकर दर्द वाले स्‍थान पर लगाने से तुरंत राहत मिलती है।

भरपूर प्रोटीन

भरपूर प्रोटीन
6/11

मांसपेशियों में दर्द भारी-भरकम शारीरिक गतिविधियों के कारण होता है। भारी-भरकम शारीरिक गतिविधियां करने के बाद मांसपेशियों को प्रोटीन की जरूरत होती है, ताकि शरीर में एनर्जी का स्तर बना रहें। इसलिए दर्द से बचने के लिए और एनर्जी को बनाएं रखने के लिए प्रोटीनयुक्त प्राकृतिक खाद्य उत्पादों का सेवन करना चाहिए।

बर्फ से सिंकाई

बर्फ से सिंकाई
7/11

दर्द करने वाली मांसपेशियों को बर्फ और गर्म पानी की बोतल से कम करने की कोशिश करें। बर्फ लगाने से मांसपेशियों की सूजन कम हो जाती है। लेकिन ध्यान रहे बर्फ त्वचा के सीधे संपर्क में न आए। अगर दर्द बहुत ही गंभीर है और बर्फ से कोई आराम नहीं मिल रहा है तो अपनी मांसपेशियों में गर्म तेल से मालिश करें।

मैगनीशियम का उपयोग

मैगनीशियम का उपयोग
8/11

शरीर में मैग्नीशियम की कमी से मांसपेशियों में दर्द और ऐंठन की समस्‍या पैदा हो सकती हैं। इस समस्‍या से बचने के लिए अपने आहार में मैग्नीशियम से भरपूर उच्च खाद्य पदार्थों को शामिल कर सकते हैं। मैग्नीशियम से भरपूर खाद्य पर्दा‍थो में कद्दू के बीज, पालक, कोको पाउडर, सेम, आलसी के बीज, तिल के बीज, सूरजमुखी के बीज, बादाम और काजू शामिल हैं।

वजन कम करें

वजन कम करें
9/11

अधिक वजन होने से भी कमर, घुटने की मांसपेशियों में दर्द की समस्या होती है। वजन बढ़ने से रीढ़ और टांगों पर तनाव बढ़ता है, जिससे कमर और घुटने में दर्द शुरू हो जाता है। इसलिए मांसपेशियों में होने वाले दर्द को कम करने के लिए सबसे पहले वजन को कम करें।

अनन्नास

अनन्नास
10/11

अनन्‍नास में ब्रोमलेन नामक एंजाइम पाया जाता है, जो मांसपेशियों के दर्द को दूर करने में बहुत सहायक होता है। साथ ही यह गठिया व जोड़ों के दर्द को दूर करने के लिए भी बहुत उपयोगी होता है। यह पाचन क्रिया को भी सुधारता है।

Disclaimer