क्या आपका चेहरा रहता है बहुत ज्यादा लाल? जानें चेहरे के लालपन (क्रॉनिक रेडनेस) को दूर करने के 9 घरेलू उपाय

त्वचा की रेडनेस काे कम करने के लिए आप कुछ खास घरेलू उपाय आजमा सकते हैं। कुछ दिनाें तक इनके उपयाेग से आपकाे फायदा मिलेगा।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jul 27, 2021

1/10

क्या आपके चेहरे पर भी रेडनेस रहती है? खराब लाइफस्टाइल, धूल, प्रदूषण का असर हमारे चेहरे पर भी पड़ता है। इसके साथ ही कई बार खराब ब्यूटी प्राेडक्ट्स यूज करने से भी त्वचा में रैशेज हाे जाते हैं। कई लाेग चेहरे पर रेडनेस, रैशेज से परेशान रहते हैं। अकसर सेंसिटिव स्किन वालाें काे इस समस्या का सामना करना पड़ता है। अगर आप चाहें ताे इस समस्या काे दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपाय ट्राई कर सकते हैं। जानें इनके बारे में-

1. एलाेवेरा जैल

1. एलाेवेरा जैल
2/10

चेहरे की लालिमा काे दूर करने के लिए एलाेवेरा बेहतरीन घरेलू उपायाें में से एक है। यह त्वचा काे ठंडक देता है और जलन दूर करता है। इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी गुण हाेते हैं, जाे त्वचा के इंफेक्शन काे भी ठीक करता है। एलाेवेरा के नियमित उपयाेग से चेहरे की रेडनेस दूर हाेती है और चेहरे पर प्राकृतिक निखार आता है। इसके लिए एलाेवेरा की पत्ती लें, इससे पल्प निकालें और चेहरे पर लगाएं। 15-20 मिनट बाद चेहरे काे अच्छे से धाे दें।

2. खीरा

2. खीरा
3/10

एलाेवेरा की तरह की खीरा भी त्वचा के लिए बेहद लाभकारी हाेता है। आप अपने चेहरे की लालिमा काे कम करने के लिए खीरे काे छाेटे-छाेटे टुकड़ाें में काट लें। इसे प्रभावित स्थान पर लगाएं और 10 मिनट बाद हटा दें। खीरे की तासीर ठंडी हाेती है, जाे त्वचा काे कूलिंग इफेक्ट देता है और जलन काे शांत करता है। इसके अलावा खीरे में ब्लीचिंग प्राेपर्टीज हाेती है, जाे त्वचा में निखार लाता है।

3. चंदन

3. चंदन
4/10

त्वचा की लालिमा और जलन काे शांत करने के लिए चंदन काे एक बेहतरीन घरेलू उपायाें के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। चंदन में एंटी बैक्टीरियल गुण हाेते हैं, जाे त्वचा की समस्याओं काे दूर करने में सहायक हाेते हैं। इसके लिए चंदन का पेस्ट चेहरे पर लगाएं। सूखने पर साफ पानी से चेहरा धाे दें। इससे त्वचा काे ठंडक मिलेगी और रेडनेस कम हाेगी।

4. मुल्तानी मिट्टी

4. मुल्तानी मिट्टी
5/10

चंदन की तरह ही मुल्तानी मिट्टी की तासीर भी ठंडी हाेती है। अपने चेहरे की क्रॉनिक रेडनेस काे खत्म करने के लिए आप मुल्तानी मिट्टी के पेस्ट काे चेहरे पर लगाएं। 15 मिनट बाद चेहरे काे ताजे साफ पानी से धाे लें। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट्, साेडियम, हाइड्रेटेड एल्यूमिनियम सिलिकेट जैसे तत्व पाए जाते हैं,  स्किन सेल्स काे हेल्दी बनाती है। साथ ही त्वचा काे हाइड्रेटेड भी रखती है, जिससे जलन और लालिमा कम हाेती है।

5. शहद

5. शहद
6/10

चेहरे की लालिमा काे कम करने के लिए शहद का उपयाेग भी किया जा सकता है। इसमें फ्लेवाेनॉयड, एंटी बैक्टीरियल, एंटी इंफ्लेमेटरी गुण हाेते हैं, ताे त्वचा की सूजन और जलन काे शांत करने में मदद करते हैं। शहद त्वचा काे मॉयश्चराइज भी करता है। इससे त्वचा में नमी बनी रहती है। लेकिन इसके इस्तेमाल से पहले एक्पर्ट की सलाह जरूर लें। 

6. ग्रीन टी

6. ग्रीन टी
7/10

त्वचा की समस्याओं काे दूर करने के लिए ग्रीन टी एक काफी अच्छा उपाय है। इसमें पॉलीफेनाेल्स, एंटीऑक्सीडेंट्स हाेते हैं, जाे त्वचा की सूजन काे कम करते हैं। इसके इस्तेमाल से त्वचा की लालिमा भी कम हाेती है। इसके लिए आप कूल्ड ऑफ ग्रीन टी बैग्स लें, इससे प्रभावित स्थान पर लगाएं। इससे आपकी यह समस्या काफी हद तक दूर हाे सकती है।

7. हल्दी

7. हल्दी
8/10

हल्दी को एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुणों के पावरहाउस के रूप में जाना जाता है, जो त्वचा के लिए फायदेमंद हाेती है। हल्दी में मौजूद करक्यूमिन सूजन को शांत करने में मदद करता है। इसके लिए हल्दी-दही का पेस्ट तैयार करें, इसे चेहरे पर लगाएं। 10-15 मिनट बाद चेहरे काे अच्छी तरह से धाे लें। इससे आपकी त्वचा की सारी समस्याएं दूर हाेगी।

8. नारियल तेल

8. नारियल तेल
9/10

नारियल के तेल काे त्वचा के लिए बेहद लाभकारी माना जाता है। नारियल तेल ठंडा हाेता है, जिससे त्वचा की लालिमा शांत हाेती है। इसके अलावा नारियल तेल त्वचा काे मॉयश्चराइज भी करती है। इसमें एंटी एंफ्लेमेटी औऱ एंटी ऑक्सीडेंट गुण हाेते हैं। इसके उपयाेग से मृत काेशिकाएं भी निकल जाती है। अगर आप त्वचा की लालिमा से परेशान हैं, ताे इसके लिए राेजाना रात काे नारियल तेल लगाएं और सुबह चेहरे काे अच्छी तरह से धाे लें।

9. कैमाेमाइल

9. कैमाेमाइल
10/10

कैमाेमाइल एक उपयाेग फूल वाली जड़ी-बूटी है। इसके उपयाेग त्वचा के राेगाें काे दूर करने के लिए किया जा सकता है। यह एक मॉयश्चराइजिंग एजेंट है, इसका उपयाेग सूजन और लालिमा वाली त्वचा के इलाज के लिए किया जाता है। इसके लिए कैमाेमाइल टी बैग्स काे ठंडा करके प्रभावित स्थान पर लगाएं। इसके इस्तेमाल से पहले आप एक बार डॉक्टर से कंसल्ट जरूर करें। आप चाहें ताे इसका तेल भी यूज कर सकते हैं।

Disclaimer