जानें, किन स्‍वास्‍थ्‍य गुणों से भरपूर हैं अजवायन की चाय

अजवायन की पत्ती, जिसका सबसे ज्‍यादा प्रयोग रसोई में किया जाता है, वास्तव में मिंट परिवार में आने वाली स्‍वादिष्‍ट जड़ी-बूटी है। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से जानें कि अजवायन की चाय आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कैसे फायदेमंद हो सकती है।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Mar 22, 2016

स्‍वास्‍थ्‍य गुणों से भरपूर अजवायन की चाय

स्‍वास्‍थ्‍य गुणों से भरपूर अजवायन की चाय
1/6

अजवायन की पत्ती, जिसका सबसे ज्‍यादा प्रयोग रसोई में किया जाता है, वास्तव में मिंट परिवार में आने वाली स्‍वादिष्‍ट जड़ी-बूटी है। हालांकि इस जड़ी बूटी इटालियन डिश के साथ जोड़ दिया गया है, लेकिन इसकी चाय को भी लोग बहुत पसंद करते है। सैकड़ों वर्षों से अजवायन की चाय को कई उपचार के इलाज का एक प्रभावी हर्बल पूरक माना जाता है। कई शोध मानते हैं कि इस विशेष चाय में समाहित मिनरल और विटामिन के कारण इसे एक उत्कृष्ट पूरक पेय माना जाता हैं। इसमें आयरन, मैंगनीज जैसे मिनरल के अलावा, ए, सी और के जैसे विटामिन और कैल्शियम भी पाया जाता है। इसके अलावा इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड और फ्लेवोनॉयड्स जैसे अतिरिक्‍त पोषक तत्‍व भी पाये जाते हैं। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से जानें कि अजवायन की चाय आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कैसे फायदेमंद हो सकती है।

एंटी-बैक्‍टीरियल गुणों से भरपूर

एंटी-बैक्‍टीरियल गुणों से भरपूर
2/6

एक कप अजवायन की चाय आपके पूरे दिन के लिए एक उत्‍कृष्‍ट एंटी-बैक्‍टीरियल खुराक है। इस पहाड़ी जड़ी-बूटी में थीमोल और सर्वक्रोल जैसे तेल पाये जाते है, जो बैक्‍टीरिया से लड़ने के लिए जाने जाते हैं। हाल ही में हुए एक अध्‍ययन के दौरान शोधकताओं ने पाया कि यह जड़ी-बूटी बैक्‍टीरिया से होने वाले इंफेक्‍शन को आसानी से दूर कर सकती है। नियमित रूप से अजवायन की चाय का सेवन किसी भी प्रकार के सूक्ष्‍म जीवों के विकास को दबाकर, संक्रमण से बचाने में मदद करता है।

ओमेगा -3 फैटी एसिड

ओमेगा -3 फैटी एसिड
3/6

अजवायन की चाय ओमेगा -3 फैटी एसिड प्राप्त करने का प्राकृतिक तरीका है। ये आवश्यक फैटी एसिड के रूप में जाना जाता है, क्योंकि यह स्वास्थ्य लाभ की विविधता प्रदान करता है। ओमेगा -3 पूरे शरीर की सूजन कम करने में मदद करता है। यह विशेष रूप से आवश्यक एसिड दिल की बीमारियों, अर्थराइटिस की आंशका को कम करने के साथ ही ब्रेन के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए भी अच्‍छा होता है।

अस्थमा के अटैक से राहत

अस्थमा के अटैक से राहत
4/6

अजवायन की चाय अस्थमा के अटैक को कम करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। अस्‍थमा अटैक होने पर शहद के साथ चाय को मीठा करके इसे गर्म पीयें। इसके अलावा अजवायन की चाय की स्‍टीम में सांस लेने से नाक का रास्ता साफ करने में मदद मिलती है। हालांकि, अच्‍छा परिणाम पाने के लिए आपको इस उपाय को दिन में कम से कम 4-5 बार करना चाहिए।

वजन प्रबंधन

वजन प्रबंधन
5/6

अजवायन की चाय को सामान्यतः फाइबर से भरपूर स्रोत माना जाता है। फाइबर का अच्‍छी मात्रा में सेवन वजन को नियंत्रित करने, पूरे शरीर को फिट रखने और कई बीमारियों की संभावना को कम करने में मदद करता है।

पाचन को दुरुरूत रखें

पाचन को दुरुरूत रखें
6/6

कई वैद्य अच्‍छी पाचन प्रणाली को बनाये रखने के लिए अजवायन की चाय पीने का सुझाव देते हैं। अजवायन की चाय में पाये जाने वाले कुछ तेल रिलैक्‍स करने के साथ-साथ गैस्ट्रोइंटेस्टिनल सिस्टम को समर्थन देने में मदद करते हैं। Image Source : Getty

Disclaimer