हमेशा हेल्‍दी लगने वाली ये आदतें वास्‍तव में आपको करती हैं बीमार

कुछ चीजें हम शुरू से करते आएं हैं क्योंकि हमें मालुम है कि वो हेल्दी हैं, लेकिन क्या होगा जब आपको मालुम चलेगा कि ये हेल्दी आदतें वास्तव में बीमार बनाती हैं, उन आदतों के बारे में इस स्‍लाइडशो में जानें।

Gayatree Verma
Written by: Gayatree Verma Published at: Nov 17, 2015

हेल्दी आदतें जो हैं अनहेल्‍दी

हेल्दी आदतें जो हैं अनहेल्‍दी
1/6

सुबह उठते ही मम्मी कहती थी कि बाथरुम जाना जरूरी है। दिन में 8 ग्लास पानी पीना जरूरी है। बालों को रोज भिगा कर नहीं नहाना चाहिए... ये करना चाहिए, ये नहीं करना चाहिए, आदि कई बातों की टोका-टाकी हेल्दी आदतों के नाम पर हमारी जिंदगी का हिस्सा बन गई। जबकि वास्तव में ये काफी अनहेल्दी हैं। इन अनहेल्दी होने वाली हेल्दी आदतों के बारे में इस स्लाइड शो में विस्तार से पढ़ें।

मिथ 1- एक दिन में आठ ग्लास पानी

मिथ 1- एक दिन में आठ ग्लास पानी
2/6

पानी शरीर को ठंडा और तरोताजा रखता है। लेकिन आठ ग्लास पानी पीना जरूरी नहीं। ये जरूरी नहीं कि आप ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं तभी आपके शरीर को पानी प्राप्त होगा। पानी का कुछ हिस्सा खाने से भी प्राप्त हो जाता है। वैसे भी ये जानना जरूरी है कि आपके शरीर को कितने पानी की जरूरत है? सो अगर आपका शरीर पांच से छह ग्लास में भी सही रहता है तो इतना पानी काफी है। आप पर्याप्‍त पानी पी रहे हैं या नहीं, इस‍की जांच आप अपने यूरीन के रंग से कर सकते हैं। अगर आपके यूरीन का रंग सामान्‍य है तो आप पर्याप्‍त मात्रा में पानी का सेवन कर रहे हैं।

मिथ 2- दिन में एक बार ही त्‍यागें मल

मिथ 2- दिन में एक बार ही त्‍यागें मल
3/6

वर्षों से लोगों का मानना रहा है कि दिन में एक बार संडास जाना चाहिए। खासकर तो सुबह के वक्त जाना बेहतर है। लेकिन दिन में कई बार संडास जाने वाला व्यक्ति एक बार जाने वाले व्यक्ति से ज्यादा हेल्दी होता है। अचानक से आप ज्यादा या कम बार संडास  जाने लगे तो चिंता की बात है।

मिथ 3- आठ घंटे की नींद जरूरी

मिथ 3- आठ घंटे की नींद जरूरी
4/6

आठ ग्लास पानी के रुल की तरह ये भी माना गया है कि दिन में आठ घंटा सोना चाहिए। ये सही है लेकिन, पांच से छह घंटे सोने वाले भी अपने आपको अगले दिन तरोताजा महसूस करते हैं जबकि नौ घंटे सोने वाले अगले दिन आलस महसूस करते हैं।

मिथ 4- लगातार डिटॉक्स की जरूरत

मिथ 4- लगातार डिटॉक्स की जरूरत
5/6

शरीर को डिटॉक्स करने के लिए लोग जूस और शेक रोज पीते हैं। ये चीजें डिटॉक्सीफायर हैं। लेकिन जरूरी नहीं कि आप इन्हें रेग्युलर पीएंगे तभी आपकी बॉडी डिटॉक्स होगी। बॉडी को डिटॉक्स करने का बेस्ट उपाय है कि शरीर जैसा चाहें वैसा खाएं औऱ पिएं। जबरदस्ती या खुद से रेड मीट, एक्स्ट्रा प्रोटीन, पानी आदि ना लें।

मिथ 5- भीगे बालों से होते हैं बीमार

मिथ 5- भीगे बालों से होते हैं बीमार
6/6

मां बचपन में ये बात बाल सुखाने के लिए लगातार बोलती थीं। किसी चीज का गीला होना और आपके बालों का गीला होने में अंतर है। गीली चीज फ्लू का माध्यम हो सकती है लेकिन आपके बाल नहीं। वो अपने आप सूख जाएंगे। इसलिए अगर आप हेयर ड्रायर से बाल सुखाते हैं तो शायद आपके बाल और खराब हो जाएं।

Disclaimer