वजन कम करने के साथ डायबिटीज, कैंसर जैसे रोगों से बचाती है काली मिर्च

काली मिर्च खाने का स्वाद तो बढ़ाती ही है, ये आपकी सेहत के लिए भी बहुत अच्छी है। इसलिए आयुर्वेद में काली मिर्च को मसाले के साथ-साथ औषधि भी माना गया है।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jan 05, 2018

वजन कम करने के लिए

वजन कम करने के लिए
1/5

काली मिर्च फैट बर्न करती है। अगर आप वजन कम करना चाहते हैं या अतिरिक्त चर्बी को खत्म करना चाहते हैं तो रोज सुबह एक चम्मच शहद में दो चुटकी काली मिर्च पाउडर मिलाकर सेवन करें। काली मिर्च वसा मुक्त होती है और इससे शरीर में पेशाब और मूत्र बढ़ता है। इस वजह से ये शरीर के विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में भी मदद करती है।

दांत दर्द के लिए

दांत दर्द के लिए
2/5

काली मिर्च में दर्द और सूजन को कम करने के औषधीय गुण होते हैं। दांत का दर्द दूर करने के लिए लौंग के तेल में चुटकी भर काली मिर्च का पाउडर मिलाकर दर्द वाली जगह पर लगाएं। इससे दर्द में राहत मिलेगी और अगर मसूढ़ों में सूजन होगी तो वो भी चली जाएगी।

कैंसर, डाइबिटीज और ब्लड प्रेशर से बचाव

कैंसर, डाइबिटीज और ब्लड प्रेशर से बचाव
3/5

काली मिर्च में फ्लैवोनॉयड्स, कॉरोटेन्‍स जैसे कई एंटी-ऑक्‍सीडेंट पाये जाते हैं, जो कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से हमारा बचाव कर सकते हैं। काली मिर्च में पॉलीफेनॉल भी होता है जो दिल की बीमारियों के साथ-साथ डाइबिटीज और ब्लडप्रेशर में भी फायदेमंद है।

कब्ज, गैस और अपच के लिए

कब्ज, गैस और अपच के लिए
4/5

काली मिर्च पेट के रोगों के लिए भी अच्छी होती है। गैस या अपच होने पर एक कप पानी में एक चम्मच नींबू का रस, थोड़ा सा काला नमक और काली मिर्च के 3-4 दाने पीसकर डालें और पियें। दिन में दो बार पीने से अपच और गैस ठीक हो जाती है। अगर कब्ज पुरानी है तो खाने के बाद यही मिश्रण रोज पियें, दो हफ्ते में कब्ज एकदम ठीक हो जाएगी।

सर्दी-जुकाम से राहत

सर्दी-जुकाम से राहत
5/5

काली मिर्च खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। ये जमी हुई कफ को ठीक करती है और शरीर को गर्माहट देती है। इसलिए ठंडियों में काली मिर्च खाने से सर्दी-जुकाम जैसी बीमारियां नहीं होती हैं। अगर आपको जुकाम हो गया है तो काली मिर्च के पाउडर को गुड़ में मिलाकर खाएं।

Disclaimer