वीटग्रास के सेवन से दूर होती है थॉयराइड, पाचन होता है दुरूस्‍त

By:Atul Modi, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Apr 17, 2018
प्राचीन काल से ही गेहूं के ज्वारे को विभिन्न रोगों जैसे अर्थराइटिस, कैंसर, त्वचा रोग, मोटापा, डायबिटीज आदि के उपचार में प्रयोग किया जाता हैं। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक और चिकित्‍सकीय गुणों से भरपूर गेहूं के ज्‍वारे के पाउडर के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के बारे में जानते हैं।
  • 1

    चिकित्‍सकीय गुणों से भरपूर वीट ग्रास

    स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक और चिकित्‍सकीय गुणों से भरपूर गेहूं के ज्‍वारे को वीट ग्रास के नाम से भी जाना जाता है। प्राचीन काल से ही गेहूं के ज्वारे या वीट ग्रास को विभिन्न रोगों जैसे अर्थराइटिस, कैंसर, त्वचा रोग, मोटापा, डायबिटीज आदि के उपचार में प्रयोग किया जाता हैं। इसमें विटामिन, 19 अमीनो एसिड और 92 मिनरल के साथ पोषक तत्‍व मौजूद होते हैं, जो शरीर को कार्य करने की ताकत प्रदान करते हैं। जब गेहूं के बीज को अच्छी उपजाऊ जमीन में बोया जाता है तो कुछ ही दिनों में वह अंकुरित होकर बढ़ने लगता है और उसमें पत्तियां निकलने लगती है। जब यह अंकुरण पांच-छह पत्तों का हो जाता है तो अंकुरित बीज का यह भाग गेहूं का ज्वारा कहलाता है। गेहूं के ज्‍वारे के पाउडर को पानी में मिलाकर एक पोषक पेय बनाया जा सकता है, या इसे जूस में अथवा अन्य किसी हल्के पेय में भी मिलाया जा सकता है। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से गेहूं के ज्‍वारे के पाउडर के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के बारे में जानते हैं।

    चिकित्‍सकीय गुणों से भरपूर वीट ग्रास
    Loading...
  • 2

    पाचन और पीएच बैलेस को ठीक करने में उपयोगी

    गेहूं के ज्‍वारे का पाउडर पाचन क्रिया को बेहद आसान बनाता है। इस पाउडर में मौजूद कुछ क्षारीय मिनरल अल्सर, कब्ज और दस्त से राहत प्रदान करते हैं। मैग्नीशियम का उच्च स्तर भी कब्ज से राहत में मदद करता है। एक क्षारीय भोजन के पूरक होने के कारण यह पाउडर शरीर के पीएच को संतुलन प्रदान करता है। इस प्रकार, यह रक्त में अम्लता के स्तर को कम करने में फायदेमंद होता है तथा इसकी क्षारीयता को वापस लाता है।

    पाचन और पीएच बैलेस को ठीक करने में उपयोगी
  • 3

    एनीमिया में उपयोगी और लाल रक्‍त कोशिकाओं के निर्माण में सहायक

    गेहूं के ज्‍वारे में पाउडर एनीमिया को दूर करने में सहायक होता है। गेहूं के ज्‍वारे के पाउडर में पाये जाने वाले क्लोरोफिल के उच्च स्तर को शरीर आसानी से अवशोषित कर लेता है, जिससे खून को मात्रा में वृद्धि होती है और हीमोग्लोबिन का स्तर सामान्य हो जाता है। इस प्रकार गेहूं के ज्‍वारे का पाउडर एनीमिया के इलाज में मदद करता है। गेहूं के ज्‍वारे के पाउडर में प्रचुर मात्रा में क्लोरोफिल होता है, जो शरीर में हीमोग्लोबिन उत्पादन को बढ़ाने में मदद करता है। बढ़ा हुआ यह उत्पादन रक्त को अधिक ऑक्सीजन के संचरण को संभव बनाकर शरीर को ऊर्जावान बनाता है। इस प्रकार, यह लाल रक्त कोशिकाओं के गठन में मदद करता है।

    एनीमिया में उपयोगी और लाल रक्‍त कोशिकाओं के निर्माण में सहायक
  • 4

    वजन घटाने में सहायक

    चूंकि गेहूं के ज्‍वारे में पाउडर को जूस अथवा तरल में घोला जा सकता है, इसे अन्य सामग्रियों व स्वाद प्रदान करने वाली चीजों के बदले एक स्वास्थ्यकारी विकल्प के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। यह शरीर को ज्यादा एनर्जी प्रदान करता है, जो शरीर को लंबे समय तक मेहनत करने लायक बनाता है, और इस तरह तेजी से वजन घटाया जा सकता है। इसके अलावा, यह पाउडर थायरायड ग्रंथि की सक्रियता को बढ़ाकर वजन घटाने में भी मदद करता है। यह मेटाबॉल्जिम को बढ़ावा देने में मदद करता है जिससे मोटापा और अपच से बचाता है।

    इसे भी पढ़ें: लिवर में गंदगी से होती हैं गंभीर बीमारियां, इस तरह 10 मिनट में करें लिवर साफ

    वजन घटाने में सहायक
  • 5

    कैंसर और डायबिटीज में उपयोगी

    गेहूं के ज्‍वारे में मौजूद क्लोरोफिल, रेडिएशन के हानिकारक प्रभावों को कम करने में मदद करता है। इस प्रकार, गेहुं के ज्‍वारे का पाउडर अक्सर कीमोथेरेपी / रेडियोथेरेपी के दौरान कैंसर के रोगियों को लेने के लिए कहा जाता है। इसके अलावा गेहूं का ज्‍वारे का पाउडर खासतौर पर डायबिटीज के रोगियों के लिए लाभदायक होता है। यह कार्बोहाइड्रेट के अवशोषण में देरी उत्‍पन्‍न कर ब्‍लड शुगर के स्तर को विनियमित करने में मदद करता है। इस प्रकार, यह डायबिटीज को नियंत्रित करता है।

    कैंसर और डायबिटीज में उपयोगी
  • 6

    त्‍वचा के लिए लाभकारी

    गेहूं के ज्‍वारे का पाउडर एक अच्‍छा त्वचा शोधक है। यह सतह पर स्थित मृत कोशिकाओं को हटाकर त्वचा को चमक प्रदान करता है। इस प्रकार यह आपके आंतरिक कायाकल्प में मदद करके, आपकी त्वचा को जवानी व लोच प्रदान करता है। इस प्रकार त्वचा की युवा चमक को पुनर्जीवित करता है। साथ ही वीट ग्रास पाउडर, अपने एंटीबैक्‍टीरियाल गुणों के कारण मुंहासों को निकलने से रोकता है। वीटग्रास पाउडर और दूध से बने पेस्ट को लगाने से मुंहासे, झुर्रियां और काले धब्‍बों को दूर करने में मदद मिलती है। इसके अलावा गेहूं के ज्‍वारे का पाउडर मुक्त कोशिकाओं से होने वाले नुकसान से बचाता है। इसमें प्राकृतिक उम्र बढ़ने से रोकने वाले गुण मौजूद हैं जो कोशिकाओं की कायाकल्प में मदद करते हैं, इस तरह उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करता है। इसके एंटीसेप्टिक गुणों के कारण, यह पाउडर, घाव, कीड़े के काटने, चकत्तों के इलाज के लिए आदर्श है। साथ ही यह सूरज से जली त्वचा, फोड़े और एथलीटों के पैरों को भी आराम प्रदान करता है।

    त्‍वचा के लिए लाभकारी
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK