कच्चे लहसुन खाने के हानिकारक प्रभाव

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Apr 25, 2014
क्‍या आप जानते हैं कि लहसुन की अधिक मात्रा आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक हो सकती हैं। इसलिए इसके इस्‍तेमाल से पहले विशेष सावधानियों को ध्‍यान रखना चाहिए।
  • 1

    लहसुन

    लहसुन एक जड़ी बूटी है। इसे भोजन को स्‍वादिष्‍ट बनाने वाले मसाले के रूप में जाना जाता है। लेकिन पिछले कुछ वर्षों में, लहसुन रोगों और स्थितियों की एक विस्तृत श्रृंखला को रोकने या इलाज के लिए दवा के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। लहसुन की ताजा कली या इसकी कली से बने सप्‍लीमेंट का उपयोग दवा के लिए किया जाता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि लहसुन की अधिक मात्रा आपके स्‍वास्‍थ्‍य को हानिकारक प्रभाव भी दे सकती हैं।

    लहसुन
    Loading...
  • 2

    लहसुन के हानिकारक प्रभाव

    मुंह से लेने पर लहसुन ज्यादातर लोगों के लिए सुरक्षित होता है। ल‍ेकिन लहसुन सांस में बदबू, मुंह, पेट या सीने में जलन, गैस, मतली, उल्टी, शरीर में गंध और दस्त का कारण बन सकता है। अक्‍सर कच्चा लहसुन स्थिति को और भी खराब कर देता हैं। लहसुन से रक्तस्राव का खतरा भी बढ़ सकता है। सर्जरी के बाद लहसुन का सेवन से अन्य एलर्जी प्रतिक्रियाओं और ब्‍लीडिंग की शिकायत हो सकती है।

    लहसुन के हानिकारक प्रभाव
  • 3

    त्‍वचा के लिए नुकसानदेह

    कुछ लोग त्‍वचा पर लहसुन का पेस्‍ट बना कर लगता है। लेकिन त्‍वचा पर लहसुन का इस्‍तेमाल संभवतः असुरक्षित होता है। लहसुन के गाढ़े पेस्ट का त्‍वचा पर उपयोग त्‍वचा को जलने की तरह नुकसान पहुंचा सकता है।

    त्‍वचा के लिए नुकसानदेह
  • 4

    गर्भावस्था और स्तनपान

    आमतौर पर भोजन में निश्‍चित मात्रा में लिया गया लहसुन गर्भावस्था में सुरक्षित होता है। लेकिन लहसुन संभवतः असुरक्षित होता है, अगर गर्भावस्था और स्तनपान में औषधीय मात्रा में प्रयोग किया जाता है। जब आप गर्भवती है या स्तनपान करा रही हैं, तो त्वचा पर लहसुन के उपयोग की सुरक्षा के बारे में पर्याप्त विश्वसनीय जानकारी नहीं है। इसलिए सुरक्षित पक्ष में रहने के लिए इसके उपयोग से बचें।

    गर्भावस्था और स्तनपान
  • 5

    सर्जरी

    क्‍या आप जानते हैं कि लहसुन के सेवन से खून का बहाव ज्‍यादा होता है। इसलिए अनुसूचित सर्जरी से कम से कम दो सप्ताह पहले लहसुन का सेवन करना बंद कर दें।

    सर्जरी
  • 6

    गैस्ट्रोइंटेस्टिनल ट्रैक्ट

    लहसुन गैस्ट्रोइंटेस्टिनल ट्रैक्ट में जलन पैदा कर सकता है। इसलिए अगर आपको पाचन संबंधी समस्‍या हो तो लहसुन का प्रयोग सावधानी से करें।

    गैस्ट्रोइंटेस्टिनल ट्रैक्ट
  • 7

    ब्लीडिंग डिसऑर्डर

    लहसुन, विशेष रूप से ताजा लहसुन के सेवन से ब्‍लीडिंग की समस्‍या बढ़ जाती है। इसलिए ब्लीडिंग डिसऑर्डर की समस्‍या से बचने के लिए लहसुन का सेवन करते समय इसकी मात्रा का ध्‍यान रखें।

    ब्लीडिंग डिसऑर्डर
  • 8

    बच्चों के लिए

    बच्‍चों को मुंह से और उचित रूप से लहसुन की थोड़ी सी मात्रा सुरक्षित होती है। लेकिन अधिक मात्रा में मुंह से खिलाने पर यह संभवतः असुरक्षित होता है।  कुछ सूत्रों के अनुसार, लहसुन की उच्च खुराक बच्चों के लिए खतरनाक या घातक भी हो सकती है। हालांकि, इस चेतावनी के लिए कारण ज्ञात नहीं है।

    बच्चों के लिए
  • 9

    दिल के लिए अच्‍छा नहीं

    कई अध्ययनों के अनुसार, लहसुन की खुराक मुंह से लेने के बाद रक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर में एक छोटी सी कमी देखी गई हैं।  लेकिन एक मामले में मुंह से लहसुन की एक बड़ी राशि लेने के बाद एक स्वस्थ आदमी में दिल का दौरा पड़ने का उल्लेख किया गया।

    दिल के लिए अच्‍छा नहीं
  • 10

    थायराइड

    कुछ शोधों से यह बात सामने आई हैं कि थायराइड और थायराइड हार्मोन (हाइपोथायरायडिज्म) के निम्न स्तर में कम आयोडीन का अवशोषण लहसुन की पूरकता के साथ होता है। लेकिन अन्‍य शोधों के अनुसार, लहसुन को थायराइड के पिंड या ट्यूमर से जोड़ा जा सकता है।

    थायराइड
  • 11

    पेट और पाचन संबंधी समस्‍या

    मुंह से लिया जाने वाला कच्‍चा लहसुन मुंह की जलन, पेट दर्द या परिपूर्णता, भूख कम लगना, गैस, डकार, मतली, उल्टी, पेट अस्तर की जलन, पेट या सीने में जलन, कब्‍ज, हार्टबर्न, डायरिया और आंतों में बैक्टीरिया के परिवर्तन का कारण हो सकता है। एक नए शोध के अनुसार, पूरे लहसुन की गांठ का सेवन करने से आंत्र बाधा उत्पन्‍न हो सकती है। इसलिए पेट के अल्‍सर और जलन वाले लोगों को इसका इस्‍तेमाल सावधानी से करना चाहिए।

    पेट और पाचन संबंधी समस्‍या
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK