कोल्‍ड और फ्लू से लड़ने में मददगार हैं ये 7 फल

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Mar 07, 2015
कोल्‍ड और फ्लू एक परेशान करने वाली बीमारी है जिसमें अच्‍छे से अच्‍छे व्‍यक्ति भी परेशान हो जाता है। यह बीमारी अक्‍सर उन लोगों को ज्‍यादा घेरती है जिनकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है। लेकिन यहां दिये 7 आहार को नियमित रूप से दिनचर्या में शामिल करने से वह कोल्‍ड और फ्लू से बचा रह सकता है।
  • 1

    कोल्‍ड और फ्लू से बचाने में मददगार फल

    कोल्‍ड और फ्लू एक परेशान करने वाली बीमारी है जिसमें अच्‍छे से अच्‍छे व्‍यक्ति भी परेशान हो जाता है। यह बीमारी अक्‍सर उन लोगों को ज्‍यादा घेरती है जिनकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है। फ्लू के दौरान थकान महसूस होना सामान्‍य लक्षण है। और कोल्‍ड और फ्लू के कारण रोगी के शरीर में एनर्जी लेवल भी कम होने लगता है। लेकिन यहां दिये 7 आहार को नियमित रूप से दिनचर्या में शामिल करने से वह कोल्‍ड और फ्लू से बचा जा सकता है। क्‍योंकि इन हेलदी फल को खाने से आपकी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। साथ ही फल, प्रोटीन और विटामिन का प्राकृतिक स्रोत होते है। संतरा, अंगूर, केला और सेब आदि खाने से फ्लू के दौरान शरीर को ताकत मिलती है। फल खाने से शरीर डिहाई्ड्रेट होने से बचता है।  
    Images: Getty

    कोल्‍ड और फ्लू से बचाने में मददगार फल
    Loading...
  • 2

    सेब

    सेब हमारे आहार में एंटी-ऑक्‍सीडेंट का सबसे लो‍कप्रिय स्रोत है। एक सेब में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट लगभग 1500 मिलीग्राम विटामिन सी के बराबर होता है। इसके अलावा सुरक्षात्मक फ्लेवोनॉयड से भरपूर होने के कारण, यह हृदय रोग और कैंसर की रोकथाम में मदद करता है।
    Images: Getty

    सेब
  • 3

    पपीता

    जिन लोगों को बार-बार कोल्‍ड और फ्लू की समस्‍या होती रहती है, उनके लिए पपीते का नियमित सेवन काफी लाभकारी होता है। इससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। आरडीए के 250 प्रतिशत के साथ विटामिन सी, के कारण आपके शरीर से कोल्‍ड को दूर करने में मदद करता है। इसके अलावा, पपीते में बीटा कैरोटीन और विटामिन सी और ई अस्थमा के प्रभाव को कम करने के साथ पूरे शरीर में सूजन को कम करने में मदद करता है।
    Images: Getty

    पपीता
  • 4

    क्रैनबेरी

    अन्‍य फलों और सब्जियों की तुलना में क्रैनबेरी में बहुत अधिक मात्रा में एंटी-ऑक्‍सीडेंट होता है। एक बार क्रैनबेरी खाने से आपको ब्रोकली के मुकाबले पांच गुना ज्‍यादा एंटीऑक्‍सीडेंट प्राप्‍त होता है। क्रैनबेरी एक प्राकृतिक प्रोबायोटिक हैं, जो पेट में गुड बैक्‍टीरिया के स्‍तर को बढ़ाकर यह आहार जनित बीमा‍रियों से बचाती है।
    Images: Getty

    क्रैनबेरी
  • 5

    संतरा

    संतरे में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है। इसके सेवन से आपको कोल्‍ड और फ्लू जैसी समस्याएं नहीं होती और साथ ही आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ जाती है। संतरे के बारे में अक्‍सर यह भी कहा जाता हैं कि यदि नियमित रूप से संतरा खाया जाए तो आपको घर में एंटीबायोटिक दवाएं रखने की जरुरत नहीं पड़ेगी।
    Images: Getty

    संतरा
  • 6

    ग्रेपफ्रूट

    विटामिन सी से भरपूर होने के साथ ग्रेपफ्रूट में प्राकृतिक तत्‍व लिमोनोइड भी पाया जाता है, जो कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा ग्रेपफ्रूट की लाल किस्‍म में कैंसर से लड़ने वाला लाइकोपीन नामक शाक्तिशाली तत्‍व भी पाया जाता है।
    Images: Getty

    ग्रेपफ्रूट
  • 7

    केला

    हालांकि लोग कोल्‍ड और फ्लू में केला खाने को माना करते हैं लेकिन यह सही नहीं, केला विटामिन बी-6 के सबसे अच्‍छे स्रोतों में से एक है। यह थकान, तनाव, अनिद्रा और अवसाद के साथ कोल्‍ड को दूर करने में मदद करता है। इसके साथ केला मैग्‍नीशियम से भरपूर होने के कारण हड्डियों को मजबूत रखता है और इसमें मौजूद पोटेशियम हृदय रोग और उच्च रक्तचाप को रोकने में मदद करता है।
    Images: Getty

    केला
  • 8

    कीवी

    यह मीठा, हरा फल एंटीऑक्सीडेंट जैसे विटामिन सी और ई विटामिन सी का शक्तिशाली पॉवरहाउस है। यह कोल्ड या फ्लू से छुटकारा पाने में मदद करने के साथ इसे पहली ही स्‍टेज में रोकने में मदद करता है। विटामिन सी संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में मददगार एंटीबॉडी और सफेद रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ने में मदद करता है। और विटामिन ई इम्युनोग्लोबुलिन के उत्पादन के लिए आवश्यक है। दिन में दो कीवी खाकर शरीर को भरपूर विटामिन सी दिया जा सकता है। यह कफ और कोल्ड से लड़ने में आपकी मदद करता है।
    Images: Getty

    कीवी
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK