सूजन और जलन से लड़ने में मदद करते हैं ये विटामिन

सूजन, किसी चोट या संक्रमण के लिए हमारे शरीर की प्रतिक्रिया है, जो आमतौर पर सूजन, लालिमा और कोमलता से चिह्नित होती है। सूजन को पोषक दृष्टिकोण से कम करने के लिए आपको कुछ विटामिन के सेवन को बढ़ाना होगा।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Oct 27, 2014

सूजन के अनुकूल है और हानिकारक रूप

सूजन के अनुकूल है और हानिकारक रूप
1/8

सूजन एक जैविक प्रतिक्रिया है, जो बाहरी आक्रमणकारियों के खिलाफ शरीर का बचाव और आपको बीमार होने से रोकता है। यह सूजन का अनुकूल पक्ष है, और हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए सहायक होता है। लेकिन, शरीर में बिना किसी कारण के सूजन गठिया, मधुमेह और हृदय की समस्याओं की तरह स्व-प्रतिरक्षित बीमारियों के कारण स्वास्थ्य पर कहर बरपा सकता  है। image courtesy : getty images

सूजन को नियंत्रित करने के उपाय

सूजन को नियंत्रित करने के उपाय
2/8

सूजन, को संतुलित आहार के माध्‍यम से नियंत्रित किया जा सकता है। शोधों ने भी सूजन को कम करने में एक स्‍वस्‍थ आहार की भूमिका की पुष्टि की है। इसके अलावा, कुछ विटामिन शरीर में सूजन प्रक्रियाओं को नियंत्रित करने में आपकी मदद कर सकते हैं। आप इन विटामिनों को पूरक के रूप में या स्वाभाविक रूप से खाद्य पदार्थों के माध्‍यम से ले सकते हैं। image courtesy : getty images

विटामिन 'ए'

विटामिन 'ए'
3/8

शरीर में विटामिन 'ए' की कमी से आंतों, फेफड़ों और त्वचा में सूजन का कारण बन सकती है। विटामिन 'ए' की खुराक कुछ लोगों में आंत्र की सूजन, मुंहासे, और फेफड़ों के रोग जैसी स्थितियों में सूजन को कम करने में योगदान देती है। आप स्वाभाविक रूप से विटामिन 'ए' को होल मिल्‍क, लीवर, गाजर और कुछ दृढ़ खाद्य पदार्थों से ग्रहण कर सकते हैं। image courtesy : getty images

विटामिन 'बी-6'

विटामिन 'बी-6'
4/8

विटामिन बी -6 की कमी से रयूमेटायड अर्थराइटिस की समस्‍या हो सकती है। हालांकि इस कमी को विटामिन बी-6 की खुराक के माध्यम से सुधारा जा सकता है। लेकिन इसके लिए अनुसंधान सबूत अभी तक निर्णायक नहीं है। मांस, टर्की, सब्जियों, और मछली जैसे खाद्य पदार्थों में विटामिन बी की भरपूर मात्रा होती हैं। आपको विटामिन बी-6 नियमित रूप से लेना चाहिए क्‍योंकि यह पानी में घुलनशील होता है और लगातार शरीर के बाहर प्लावित हो जाता है। image courtesy : getty images

विटामिन 'सी'

विटामिन 'सी'
5/8

शोध के अनुसार, विटामिन 'सी' लेने से सीआरपी (सी-रिएक्टिव प्रोटीन) का स्‍तर काफी कम हो जाता है। यह भड़काऊ मार्कर है इसलिए हृदय रोगों के जोखिम को कम करने के लिए इनके निम्‍न स्‍तर की ओर काम करने के लिए अधिक शोधों को मान्‍य किया जाना चाहिए। संतरे और अन्य खट्टे फलों में बहुतायत में पाया जाने वाला विटामिन 'सी' त्वचा के कोलेजन के उत्‍पादन, उपास्थि, स्नायु और रक्त वाहिकाओं जैसे कई अन्य तरीकों से हमारे शरीर की मदद करता है। image courtesy : getty images

विटामिन 'डी'

विटामिन 'डी'
6/8

शरीर में विटामिन 'डी' की कमी से सूजन से संबंधित अनेक प्रकार की बीमारियां जैसे रयूमेटायड अर्थराइटिस, ल्‍यूपस, सूजन आंत्र रोग और टाइप-1 डायबिटीज से आप पीड़‍ित हो सकते हैं। वास्तव में, एक अध्‍ययन के अनुसार, विटामिन 'डी' के उच्‍चतम स्‍तर के साथ लोगों में पेट के कैंसर का जोखिम अन्‍य लोगों की तुलना में लगभग 40 प्रतिशत कम होता है। विटामिन 'डी' की कमी आप सूर्य के प्रकाश, मछली, लीवर, बीफ, अंडे के योक और कुछ दृढ़ खाद्य पदार्थों से पूरी कर सकते हैं। image courtesy : getty images

विटामिन 'ई'

विटामिन 'ई'
7/8

अल्फा-टोकोफ़ेरॉल प्रकार का विटामिन 'ई' दिल को नुकसान पहुंचाने वाले इफ्लेमेंटरी पदार्थों की रिहाई को धीमा कर दिल की बीमारियों को रोकने में मदद करता है। साथ ही यह एलर्जी से संबंधित फेफड़ों में सूजन को कम करने में भी प्रभावी होता है।  विटामिन सी की तरह, विटामिन 'ई' एंटी-इफ्लेमेंटरी गुणों से युक्त एक और एंटीऑक्सीडेंट है। आप इसे नट्स, बीज और हरी पत्तेदार सब्जियों के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं।  image courtesy : getty images

विटामिन 'के'

विटामिन 'के'
8/8

विटामिन 'के' की अधिक मात्रा शरीर में सूजन के स्‍तर को कम करने की क्षमता रखता है। इसलिए आपको पर्याप्‍त मात्रा में विटामिन प्राप्‍त करने के लिए शतावरी, ब्रोकोली, गोभी, पालक जैसी हरी सब्जियों को उपभोग करना चाहिए। विटामिन 'के' को अन्‍य लाभों के साथ खून के थक्‍कों में मदद करने के लिए भी जाना जाता है। image courtesy : getty images

Disclaimer