बालों के झड़ने से जुड़े इन 7 मिथ की सच्चाई जानें

By:Nachiketa Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Sep 16, 2014
बालों की गिरने की समस्‍या के लिए कई कारण जिम्‍मेदार होते हैं, लेकिन इससे जुड़े कई मिथक भी हैं और बालों की समस्‍या से ग्रस्‍त लोगों को लगता है कि यह सही हैं, जबकि वास्‍तव में वे केवल मिथ मात्र हैं।
  • 1

    बालों का झड़ना

    उम्र बढ़ने के अलावा कई कारणों से बालों के झड़ने की समस्‍या होती है। अगर शरीर में प्रोटीन की कमी है, और खाने में अन्‍य पौष्टिक तत्‍वों कमी है तब भी बालों के गिरने की समस्‍या होने लगेगी। अनियमित दिनचर्या के कारण भी बाल समय से पहले झड़ने लगते हैं। लेकिन कुछ लोग बालों की समस्‍या से अधिक मिथको को अधिक मानते हैं। बाल झड़ने की समस्‍या से संबंधित ये मिथक हास्‍यास्‍पद तो हो सकते हैं लेकिन शायद ये सच भी हैं।

    image source - getty images

    बालों का झड़ना
    Loading...
  • 2

    मिथ - बालों को अधिक धोने से गंजापन

    सच - लोगों को लगता है कि बालों को अधिक बार धाने से सिर के सारे बाल गिरने की संभावना यानी गंजापन होने की गुंजाइश अधिक रहती है। गंजापन की समस्‍या अधिकतर आनुवांशिक होती है, इसके अलावा बाल गिरते हैं तो उनकी जगह पर नये बाल उगते हैं। तो अगर आप रोज बालों में शैंपू करते हैं तो उसका कुछ हद तक नकारात्‍मक प्रभाव पड़ सकता है, लेकिन यह गंजेपन का कारण नहीं बन सकता।

    image source - getty images

    इसे भी पढ़ें- 8 संकेत हेयरफॉल के बारे में आपको करते हैं सावधान

    मिथ - बालों को अधिक धोने से गंजापन
  • 3

    मिथ - बालों को काटने से वे जल्‍दी बढ़ते या पतले होते हैं

    सच - यह बिलकुल भी सच नहीं है, बालों के काटने से इनके बढ़ने या पतले होने से कोई संबंध नहीं है। बालों के बढ़ने और उनके मोटापे के पीछे बालों के फॉलिकल्‍स और बालों में पौष्टिकता जिम्‍मेदार होते हैं।

    image source - getty images

    मिथ - बालों को काटने से वे जल्‍दी बढ़ते या पतले होते हैं
  • 4

    मिथ - दवाओं के प्रयोग से बढ़ सकते हैं बाल

    सच - अगर आप यह सोचते हैं कि बालों को बढ़ाने के लिए बाजार में कोई दवा है तो आप गलत सोच रहे हैं। अभी तक ऐसी कोई दवा ईजाद नहीं हुई है जो बालों को बढ़ा सके। बालों का बढ़ना सिर में मौजूद फॉलिकल्‍स पर निर्भर करता है।

    image source - getty images

    इसे भी पढ़ें- सर्दी में स्वस्थ बालों के लिए खाएं ये आहार

    मिथ - दवाओं के प्रयोग से बढ़ सकते हैं बाल
  • 5

    मिथ - रोज 40-100 बाल गिरना सामान्‍य है

    सच - जी हां, हर रोज 40-100 बाल गिरना सामान्‍य बात है। लेकिन वह तभी सामान्‍य है जब आपके घर में गंजेपन के शिकार अन्‍य लोग हों और आप भी उसी समस्‍या से गुजर रहे हों। दरअसल बालों का गिरना नये उगने वाले बालों की संख्‍या पर निर्भर करता है, नहीं तो यह गंजेपन की शुरूआत हो सकता है।

    image source - getty images

    मिथ - रोज 40-100 बाल गिरना सामान्‍य है
  • 6

    मिथ - हेयर ड्रायर का प्रयोग बालों के झड़ने का कारण हो सकता है

    सच - जी हां, बालों को सुखाने के लिए प्रयोग किये जाने वाले हेयर ड्रायर के प्रयोग से बालों के गिरने की समस्‍या हो सकती है, लेकिन हेयर ड्रायर के प्रयोग से जितने बाल गिरते हैं उतने ही बाल कुछ दिनों में उग भी जाते हैं। इसके अलावा आप कोई भी हेयर केयर प्रोडक्‍ट का प्रयोग बालों के गिरने का कारण नहीं हो सकता है। इसलिए हेयर ड्रायर को बालों के झड़ने से सीधे तौर पर नहीं जोड़ा जा सकता है।

    image source - getty images

    इसे भी पढ़ें- बालों की देखभाल करते समय कभी न करें ये गलतियां!

    मिथ - हेयर ड्रायर का प्रयोग बालों के झड़ने का कारण हो सकता है
  • 7

    मिथ - कलर का प्रयोग करने से बाल तेजी से गिरते हैं

    सच - बालों में रंग लगाने या बालों को ब्‍लीच करने से बाल कड़े हो जाते हैं, लेकिन यह बालों के झड़ने का कारण नहीं हो सकता है। क्‍योंकि ये रंग बालों के ऊपरी परत तक ही होते हैं बाल जड़ों से कमजोर होकर गिरते हैं।

    image source - getty images

    मिथ - कलर का प्रयोग करने से बाल तेजी से गिरते हैं
  • 8

    मिथ - उम्र बढ़ने के साथ बाल नहीं गिरते

    सच - लोगों को लगता है कि एक निश्चित उम्र तक पहुंचने के बाद बालों के गिरने की समस्‍या नहीं होती है, जबकि वास्‍तव में ऐसा बिलकुल भी नहीं है। एक बार बालों के गिरने की समस्‍या शुरू होने के बाद यह जीवनपर्यंत तक चलता रहता है। बालों के झड़ने की समस्‍या प्रत्‍येक व्‍यक्ति में अलग-अलग हो सकती है।

    image source - getty images

    मिथ - उम्र बढ़ने के साथ बाल नहीं गिरते
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK