आवश्‍यक तेलों का प्रयोग करने के तरीके

कुछ तेल का हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से बहुत उपयोग होता है, क्‍योंकि इन तेलों में रोगों को दूर करने का गुण होता है साथ ही इनके औषधीय और एंटीबैक्‍टीरियल गुण स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को भी दूर करते हैं।

Nachiketa Sharma
Written by: Nachiketa SharmaPublished at: Aug 16, 2014

आवश्‍यक तेल का प्रयोग

आवश्‍यक तेल का प्रयोग
1/10

कुछ तेलों का प्रयोग हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से बहुत उपयोग होता है, क्‍योंकि इन तेलों में रोगों को दूर करने का गुण होता है। इनके औषधीय और एंटीबैक्‍टीरियल गुण हमारी स्‍वास्‍थ्‍य की कई समस्‍याओं को दूर करते हैं। नींबू का तेल, मिंट, वैनीला, गुलाब, लौंग और लैवेंडर के तेल हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत फायदेमंद हैं। तो इन आवश्‍यक तेलों का प्रयोग कर इनका फायदा उठाइये। image source - getty images

आवश्‍यक तेलों के गुण

आवश्‍यक तेलों के गुण
2/10

ये तेल कई गुणों से भरपूर होते हैं, इनमें जीवाणुरोधी, एंटीवायरल, आदि कई औषधीय गुण पाये जाते हैं। इनकी सबसे बड़ी खासियत यह भी है कि ये आसानी से उपलब्‍ध हो जाते हैं। नींबू, अंगूर, नीलगिरी, पुदीना, चाय के पेड़, लैवेंडर, रोजमेरी के तेल इनमें प्रमुख हैं। image source - getty images

रोजमैरी ऑयल

रोजमैरी ऑयल
3/10

रोजमैरी यानी दौनी का तेल एक प्रकार का ऊर्जावर्धक तेल है। इसके प्रयोग से मस्तिष्क की एकाग्रता बढ़ती है और ध्यान में सुधार होता है। यह दिमागी ताकत के बढ़ाकर शरीर को ऊर्जावान बनाता है। इसमें आयरन, कैल्शियम और विटामिन बी-6 पाया जाता है। image source - getty images

तुलसी का तेल

तुलसी का तेल
4/10

यह तेल सर्दी और खांसी के विरूद्ध दवाओं के लिए प्रयोग किये जाने वाले अच्‍छे विकल्‍पों में से एक है। कोल्‍ड और खांसी की समस्‍या होने पर इसकी एक छोटी सी बूंद फायदा करती है। इसमें एंटीऑक्सिडेंट, विषाणुरोधी एवं रोगाणुरोधी गुण पाये जाते हैं। image source - getty images

वनिला का तेल

वनिला का तेल
5/10

इसमें एंटीऑक्सिडेंट गुण पाये जाते हैं। इसका प्रयोग कैंसर के उपचार में और चिंता तथा अनिद्रा जैसी मानसिक समस्याओं से राहत पहुंचाने में भी किया जाता है। इसका जायका दुनिया के सबसे पसंदीदा जायकों में से एक है। image source - getty images

गुलाब का तेल

गुलाब का तेल
6/10

इसकी खुश्‍बू तन और मन को रोमांचित करने वाली होती है। इसके अलावा इसका तेल कई बीमारियों के खिलाफ शरीर की रक्षा करने में मदद कर सकता है। चिंता, तनाव और डर को दूर करने में गुलाब का तेल मदद करता है, क्योंकि इसका उपयोग शरीर और दिमाग को आराम पहुंचाता है। image source - getty images

लौंग का तेल

लौंग का तेल
7/10

लौंग का तेल नैचुरल गुणों से भरपूर है। यह एक एनाल्जेसिक एवं एन्टीसेप्टिक तेल है जो मुख्य तौर पर दांत की समस्‍याओं को दूर करने के लिए प्रयोग किया जाता है। यह दांत दर्द जैसी समस्‍याओं को आसानी से दूर करता है। इसमें आयरन, विटामिन ए और सी पाया जाता है। यह शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है। image source - getty images

पुदीने का तेल

पुदीने का तेल
8/10

पाचन की समस्‍या दूर करने के लिए पुदीने के तेल का प्रयोग कीजिए। पेट में सूजन, पेट फूलना और आंत की अन्य समस्याओं से यह छुटकारा दिलाता है। पिपरमेंट माहवारी की ऐंठन तथा सिर दर्द में भी आराम पहुंचाता है। image source - getty images

लैवेंडर का तेल

लैवेंडर का तेल
9/10

लैवेंडर के तेल का प्रयोग बहुत पहले से होता आया है। एरोमाथेरेपी में भी इसका प्रयोग होता है, क्‍योंकि यह दिमाग को सुकून पहुंचाता है। इसमें एंटीसेप्टिक व दर्दनिवारक गुण हैं, जलने, कीड़े के काटने, डंक लगने की समस्‍या को इस तेल से दूर किया जा सकता है। image source - getty images

नींबू का तेल

नींबू का तेल
10/10

स्वाद को बेहतर बनाने के अलावा, यह उन विटामिन और खनिजों से युक्त है, जो शरीर के विकारों को दूर करते हैं। यह शरीर से टॉक्सिक पदार्थों को भी दूर कर तन-मन को शांति पहुंचाता है। image source - getty images

Disclaimer