एंडोमेट्रियोसिस के उपचार के लिए 5 प्रभावी घरेलू नुस्खे

एंडोमेट्रियो‍सिस महिलाओं की पेट की बहुत ही गंभरी समस्‍या है, इसके उपचार के लिए घरेलू नुस्‍खों का प्रयोग किया जा सकता है, इस स्‍लाइडशो में उन घरेलू नुस्‍खों के बारे में जानें।

Devendra Tiwari
Written by: Devendra Tiwari Published at: May 02, 2016

क्या है एंडोमेट्रियोसिस

क्या है एंडोमेट्रियोसिस
1/6

एंडोमेट्रियोसिस (Endometriosis) को हिंदी में गर्भकला-अस्थानता कहते हैं। यह महिलाओं के पेट से संबंधित बीमारी है जो कि बहुत दर्दनाक है और पूरी दुनिया में लाखों महिलायें इस बीमारी से ग्रस्त हैं। एंडोमेट्रियोसिस की समस्या के लिए सबसे अधिक‍ जिम्मेदार कारक हार्मोन में बदलाव होना है। यह बीमार महिला के पेट के फैलोपियन ट्यूब और गर्भ को प्रभावित करती हैं। पेट में दर्द, बांझपन, थकान, तनाव और मासिक धर्म के दौरान बहुत अधिक मात्रा में ब्लीडिंग इस बीमारी के प्रमुख लक्षण हैं। इस बीमारी के उपचार के लिए आप इन घरेलू नुस्खों को आजमा सकते हैं। Images source : © Getty Images

फ्लैक्सीड यानी अलसी

फ्लैक्सीड यानी अलसी
2/6

एंडोमेट्रियोसिस के दर्द को दूर कर इसके उपचार में अलसी के बीज बहुत ही प्रभावी हैं। दरअसल अलसी में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है जो शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालकर बीमारियों को दूर करता है। इसके लिए अलसी के कुछ दानें लेकर इसे पानी में डालें, रात भर इसे रखें और सुबह जल्दी उठकर इस पानी का सेवन करें। अलसी के दानों का पाउडर बनाकर भी आप इसका प्रयोग कर सकती हैं। Images source : © Getty Images

फायदेमंद है शहद

फायदेमंद है शहद
3/6

शहद कई औषधीय गुणों से युक्त है, एंडोमेट्रियोसिस के उपचार में भी यह बहुत अधिक प्रभावी है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण दर्द से आराम दिलाती हैं। एंडो‍मेट्रियोसिस में शुगर का सेवन दर्द को बढ़ा सकता है। ऐसे में आप शहद का प्रयोग शुगर के रूप में भी कर सकते हैं। Images source : © Getty Images

गुणकारी है हल्दी

गुणकारी है हल्दी
4/6

हल्दी रोग भगाये जल्दी, यह जुमला नहीं बल्कि सच्चाई है। हल्दी ऐसी औषधि है जिसका प्रयोग खाने को स्वाभदिष्ट बनाने के साथ-साथ सामान्य और खतरनाक बीमारियों के उपचार में भी किया जाता है। एंडोमेट्रियोसिस में होने वाला दर्द बहुत ही दर्दनाक होता है, ऐसे में हल्दी इस दर्द से आराम दिलाता है। इसका सेवन करने के लिए पानी को थोड़ा उबालें, फिर उसमें एक चम्मच हल्दी डालें और इसमें नींबू का जूस मिलाकर इसे अच्छे से मिलायें, फिर इसका सेवन करें। दिन में दो बार इसका सेवन करने से जल्द आराम मिलता है। Images source : © Getty Images

अदरक

अदरक
5/6

अदरक ऐसा मसाला है जिसका प्रयोग औषधि के रूप में अधिक किया जाता है। इसमें पाये जाने वाले एंटी-इंफ्लेमेट्री गुणों के कारण दर्द से छुटकारा मिलता है। मासिक धर्म के दौरान अधिक दर्द हो तो अदरक का सेवन करें। अदरक को पतले टुकड़ों में काटकर इसका चाय बना लें और नियमित रूप से इसका सेवन करने से आराम मिलेगा। Images source : © Getty Images

कैस्टर ऑयल

कैस्टर ऑयल
6/6

कैस्टर ऑयल आसानी से घर में उपलब्ध हो सकता है। एंडोमेट्रियोसिस के उपचार के लिए इसका प्रयोग करें। यह शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों को दूर करने में मददगार है। अगर आपको मासिक धर्म के दौरान अधिक दर्द हो तो मासिक धर्म से पहले इसका सेवन करें। इसमें लैवेंडर ऑयल को मिलाने से यह और अधिक प्रभावी हो जाता है। इसे प्रयोग करने के लिए कैस्टर ऑयल को थोड़ा सा गर्म कर लें, फिर एक कपड़े में इसे लगाकर पेट के निचले हिस्से में लगायें। फिर देखिये इससे तुरंत आराम मिल जायेगा। इसके अलावा आप सेब का सिरका भी प्रयोग कर सकती हैं।Images source : © Getty Images

Disclaimer