इन व्‍यायाम से कमजोर घुटनों को बनायें मजबूत

घुटने का दर्द और घुटने कमजोर होने की समस्या आमतौर पर किसी दुर्घटना में लगी चोट या फिर घुटने पर ज्यादा दबाव पड़ने से होती है। इस समस्‍या से निजात पाने के लिए एक्‍सरसाइज फायदेमंद है, आइए हम बताते हैं कौन सा व्‍यायाम करें।

Rahul Sharma
Written by:Rahul SharmaPublished at: Aug 07, 2015

कमजोर घुटनों के लिये व्‍यायाम

कमजोर घुटनों के लिये व्‍यायाम
1/8

घुटने का दर्द या घुटने कमजोर होने की समस्या आमतौर पर या तो किसी दुर्घटना में लगी चोट या फिर घुटने पर बहुत ज्यादा दबाव पड़ने से होता है। कई बार हमारी रोजमर्रा की गतिविधियां जैसे वॉकिंग, रनिंग, जंपिंग या सीढ़ियां चढ़ने से घुटने पर बहुत ज्यादा दबाव पड़ सकता है और घुटने धीरे धीरे कमजोर पड़ सकते हैं, हालांकि कुछ व्‍यायामों का नियमित अभ्यास कर हम घुटनों को मजबूत बना सकते हैं। Images source : © Getty Images

थोड़ी देर स्ट्रेचिंग जरूर करें

थोड़ी देर स्ट्रेचिंग जरूर करें
2/8

घुटनों के दर्द से या कमजोर घुटनों को मजबूत बनाने के लिये मसल स्ट्रेचिंग एक बेहतरीन एक्सरसाइज होता है। ऐसे कई स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज हैं, जैसे हैम्स्ट्रिंग स्ट्रेचिंग जो घुटने के लिए काफी अच्छे होते हैं।Images source : © Getty Images

साइकलिंग भी किया करें

साइकलिंग भी किया करें
3/8

साइकलिंग चाहे जिम साइकिल पर हो या खुले में, दोनों से घुटने मजबूत बनते हैं। साइ​कलिंग से पैर और घुटने मजबूत होते हैं और घुटने का अस्थिरज्जु और मसल्स भी मजबूत होते हैं। Images source : © Getty Images

स्टेप अप एक्सरसाइज

स्टेप अप एक्सरसाइज
4/8

स्टेपिंग या स्टेप अप्स एक कार्डियो एक्सरसाइज है, जिसके कई फायदे हैं, जिनमें से एक है मजबूत घुटने। स्टेप अप एक्सरसाइज घुटने को गर्मी प्रदान  कर उसपर से तनाव कम करता है। अगर आप घुटनों को मजबूत  करना चाहते हैं तो इस एक्सरसाइज को कर सकते हैं।Images source : © Getty Images

मैट एक्सरसाइज

मैट एक्सरसाइज
5/8

कुछ मैट एक्सरसाइज जैसे लेग लिफ्ट, नी लिफ्ट आदि में घुटने के मसल्स स्ट्रेच होते हैं, जिससे घुटने मजबूत बनते हैं और उनका दर्द कम होता है। मैट एक्सरसाइज को आप घर पर भी कर सकते हैं। Images source : © Getty Images

एक्सपर्ट्स व फिजियोथेरेपिस्ट का मार्गदर्शन लें

 एक्सपर्ट्स व फिजियोथेरेपिस्ट का मार्गदर्शन लें
6/8

घुटनों का खयाल रखने के लिये जिम में हमेशा एक्सपर्ट्स व फिजियोथेरेपिस्ट के निर्देशन में ही एक्सरसाइज करना चाहिए। नियमित रूप से डॉक्टर या फिजियोथेरेपिस्ट द्वारा बताए गए घुटनों के विशिष्ट व्यायाम करना फायदेमंद होता है। Images source : © Getty Images

वजन को काबू में रखें

वजन को काबू में रखें
7/8

अपने वजन को उम्र, ऊंचाई एवं शारीरिक बनावट के हिसाब से उचित बनाए रखना चाहिए। इसके लिए प्रिवेंटिव फिजियोथेरेपी के अन्तर्गत विशेष व्यायाम करना चाहिए। अपना वजन नियंत्रित रखें क्योंकि ज्यादा वजन से घुटने तथा कूल्हों पर दबाव पड़ता है। Images source : © Getty Images

थोड़ा आराम भी करें

थोड़ा आराम भी करें
8/8

आमतौर पर 1 से डेढ़ घंटे लगातार खड़े रहने के बाद घुटनों को 5 से 10 मिनट का आराम देना चाहिए। इसके अलावा चप्पल व जूते आदि सही आकार-प्रकार का बेहद ध्यान रखना चाहिये। एक्सरसाइज के लिये और दफ्तर के लिये उसी हिसाब से फुटवियर चुनना चाहिये।  Images source : © Getty Images

Disclaimer