प्रोस्टेट ग्रंथि को रखना है स्वस्थ, तो रोज खाएं ये 5 आहार

प्रोस्टेट ग्रंथि को पौरुष ग्रंथि भी माना जाता है। यह पुरुषों के जनानांगों का अहम हिस्‍सा होता है। अखरोट के आकार की ये ग्रंथि सीनम के निर्माण में मदद करती है। पुरुषों की सेहत के लिए इस ग्रंथि का स्वस्थ रहना बहुत जरूरी है। पुरुषों में पाई जाने वाली इस ग्रंथि में सामान्‍य बैक्‍टीरियल संक्रमण से लेकर कैंसर जैसे गंभीर रोग हो सकते हैं। प्रोस्टेट के रोगों के कारण ये ग्रंथि बढ़ जाती है या कैंसर जैसी समस्या पैदा हो जाती है। ऐसे में कुछ आहारों के द्वारा आप इस ग्रंथि को स्वस्थ रख सकते हैं, ताकि आप इन गंभीर बीमारियों से बच सकें।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Aug 08, 2018

कच्‍चा लहसुन

कच्‍चा लहसुन
1/5

कच्‍चे लहसुन का सेवन करने से न सिर्फ प्रोस्टेट स्वास्थ्य बेहतर बनाता है, बल्कि यह पेट और हृदय के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है। लहसुन 20 प्रतिशत तक प्रोस्टेट कैंसर के विकास की संभावनाओं को कम कर सकता है। रोजाना लहसुन को कच्‍चा ही खाएं इससे आपकी प्रोस्टेट ग्रंथि स्वस्थ रहेगी।

भरपूर मात्रा में टमाटर खाएं

भरपूर मात्रा में टमाटर खाएं
2/5

शोधों के अनुसार फल और सब्जी भरपूर मात्रा में खाने वालों में भी कैंसर का जोखिम, सब्जी और फल आदि न खाने वालों की तुलना में 24 प्रतिशत तक कम पाया जाता है। पुरुषों पर हुए एक शोध में पाया गया कि नियमित रूप से टमाटर खाने वाले पुरुषों में प्रोस्टेट कैंसर होने का जोखिम 18 प्रतिशत तक कम हो जाता है। दरअसल टमाटर के अंदर कैंसर प्रतिरोधी गुण वाला लाइकोपेन होता है जो कि एक एंटीऑक्सीडेंट है और डीएनए और कोशिका को क्षति पहुंचाने से रोक सकता है।

खूब पानी पियें

खूब पानी पियें
3/5

प्रोस्टेट ग्रंथि को स्वस्थ रखने के लिए आपको खूब सारा पानी पीना चाहिये। इससे न सिर्फ प्रोस्टेट स्वास्थ्य को बेहतर होता है बल्कि त्वचा भी स्वस्थ होती है और किडनी आदि से संबंधित समस्याएं भी नहीं होतीं। जब आप पर्याप्त पानी नहीं पीते हैं तो मूत्र की मांसपेशियां सिकुड़ने लगती हैं, जिससे प्रोस्टेट ग्रंथि को नुकसान पहुंच सकता है।

सीताफल के बीज

सीताफल के बीज
4/5

सीताफल के बीज इस प्रोस्टेट संबंधी बीमारी में बेहद लाभदायक होते हैं। सीताफल के कच्चे बीज को अगर हर दिन भोजन में उपयोग किया जाए, तो यह काफी हद तक यह प्रोस्टेट की समस्या से बचाव करने में मददगार होता है। इन बीजों में ऐसे 'प्लांट केमिकल' होते हैं, जो शरीर में जाकर टेस्टोस्टेरोन को डिहाइड्रोटेस्टोस्टेरोन में बदलने से रोकते हैं, जिससे प्रोस्टेट कोशिकाएं नहीं बन पातीं।

विटामिन डी वाले आहार

विटामिन डी वाले आहार
5/5

विटामिन डी की कमी दूर करने और अपने प्रोस्‍टेट को बचाने के लिए ऐसे आहार का सेवन कीजिए जिसमें विटामिन डी भरपूर मात्रा में मौजूद हो। इसके लिए सालमन और टूना मछली खायें, मशरूम में भी विटामिन डी होता है। दूध, फलों, सेरेल्‍स में विटामिन डी पाया जाता है। इसके अलावा सूर्य की किरणों में भी पाया जाता है। अगर विटामिन डी की कमी पूरी न हो पाये तो विटामिन डी के सप्‍लीमेंट का सेवन करना चाहिए, यह पूरी तरह से सुरक्षित है। लेकिन सप्‍लीमेंट लेने से पहले अपने चिकित्‍सक से सलाह जरूर लीजिए।

Disclaimer