इंसान की आवाज से जुड़ी वे बातें, जो हैं बेहद दिलचस्प!

मनुष्‍य की आवाज जादुई होती है। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से आवाज से जुड़े ऐसे ही कुछ अज्ञात और रोचक तथ्‍यों के बारे में जानते हैं।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Oct 24, 2016

मानव आवाज से जुडे तथ्‍य

मानव आवाज से जुडे तथ्‍य
1/5

मनुष्‍य की आवाज जादुई होती है। हम शब्‍दों के माध्‍यम से विचार व्‍यक्‍त करते है, जिससे हमारा बाहर का जीवन खूबसूरत बनता है। लेकिन हम कभी भी आवाज या वोकल कोड से जुडे अज्ञात तथ्‍यों के बारे में गंभीरता से विचार नहीं करते, जब तब कि इसके लिए किसी चिकित्‍सा की जरूरत नहीं होती है। चिल्‍लाने से लेकर फुसफुसाने से नसों पर पड़ने वाले दबाव तक, मानव आवाज से जुड़े ऐसे ही कई तथ्‍यों के बारे में हमें पता होना चाहिए। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से आवाज से जुड़े ऐसे ही कुछ अज्ञात और रोचक तथ्‍यों के बारे में जानते हैं।

तथ्‍य # 1

तथ्‍य # 1
2/5

मानव की आवाज उम्र के अनुसार बदलती है। जब आप यौवन तक पहुंचते है, तो वोकल कोड मोटी हो जाती है जिसके परिणामस्‍वरूप आवाज भारी हो जाती है, विशेष रूप से पुरुषों में। बाद में आवाज मेज़्ज़ो-सोप्रनो या बैरीटोन में बदलती है। ज्‍यादातर पुरुषों की बैरीटोन यानी मध्‍यम आवाज होती है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि पुरुषों की आवाज बुरी होती है। क्‍योंकि अधिकतर लड़कियां, लड़कों की इस भारी आवाज पर फिदा होती है।

तथ्‍य # 2

तथ्‍य # 2
3/5

क्‍या आप जानते हैं कि मनुष्‍य सबसे तेज आवाज का उत्‍पादन लगभग 129 डीबीए कर सकता है? जी हां, इस उच्चतम रिकॉर्ड को गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में रिकॉर्ड किया गया है। यह आवाज केंट, इंग्लैंड के एक शिक्षण सहायक द्वारा तैयार की गई थी।

तथ्‍य # 3

तथ्‍य # 3
4/5

क्‍या आप जानते हैं कि सबसे पहले मानव की आवाज को इतिहास में वर्ष 1860 में रिकॉर्ड किया गया था? यह वही साल है जब मानव आवाज का रिकॉर्ड करने के उपकरण का आविष्‍कार किया गया था। इसके अलावा क्‍या आप जानते हैं कि वोकल फोल्ड के कारण वास्‍तव में फुसफुसाते समय नियमित स्‍वर में बोलने की तुलना में कठिन काम करना पड़ता है? हममम ...यह  दुख की बात है लेकिन यह भी आवाज से जुड़ा एक तथ्य है!

तथ्‍य # 4

तथ्‍य # 4
5/5

क्‍या आप जानते हैं कि मस्तिष्क और मानव आवाज में बहुत गहरा संबंध होता है? हां, ऐसा हैं! जब व्यक्ति गा रहा होता है या सिर्फ बोलता है तो मानव मस्तिष्क अतिरिक्त सक्रिय हो जाता है। हां ना यह आश्चर्यजनक है? मानव की आवाज अत्‍यंत लचीली होती है। यह लोगों की अलग-अलग टोन में विभिन्‍न ध्‍वनियों का उत्‍पादन करने में मदद करती है। इसलिए प्रदर्शन के दौरान विभिन्‍न ध्‍वनि संशोधनों के साथ आता है। Image Source : Getty

Disclaimer