आखिर महिलायें क्‍यों करती हैं एक दूसरे को नापसंद

एक दूसरे के प्रति महिलाओं का नारी द्वेषी रवैया उनके भीतर गहरे और अस्पष्ट रंग के संबंधों को उजागर करता है।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Oct 22, 2014

महिलाओं का स्‍वभाव

महिलाओं का स्‍वभाव
1/8

क्‍या कभी आपने इस बारे में सोचा है कि क्‍यों ज्‍यादातर महिलाएं एक दूसरे को पसंद क्‍यों नहीं करतीं? यदि आपके चारों ओर यानी ऑफिस और कॉलेज में कुछ अच्‍छी और मदद करने वाली महिलाएं हैं, तो कुछ महिलाये ऐसी भी होंगी जो स्‍वभाव से घमंडी, चालाक और मतलबी है। image courtesy : getty images

महिलाओं की प्रकृति

महिलाओं की प्रकृति
2/8

वास्‍तव में इस तरह की महिलाएं आपको अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में देखने को मिल जाएंगी। और दुर्भाग्‍य से इस तरह की महिलाएं स्‍वभाव से ईर्ष्यालु, प्रतिस्पर्धी और असुरक्षित होती हैं। अगर आप जानना चाहते हैं कि महिलाएं एक दूसरे को नापसंद क्‍यों करती है, तो उनमें से कुछ से ही बात करके आपको इस बात का अंदाजा लग जाएगा। शायद ही कोई ऐसी महिला हो, जिसके जीवन में ऐसी कोई महिला न हो, जिसे वह नफरत करती हो। वैसे स्‍कूल और कॉलेज के समय से ही इस तरह की लड़कियों से रूबरू होने लगती हैं। लेकिन, काम और ऑफिस में चीजें छुपकर होने लगती हैं ओर आपको अधिक संभलकर रहना पड़ता है। image courtesy : getty images

महिलाओं का एक दूसरे को नापसंद करना

महिलाओं का एक दूसरे को नापसंद करना
3/8

महिलाये को अपने जीवन की शुरुआत से ही कई विरोध झेलने पड़ते हैं। हमारे समाज में उन्‍हें असुरक्षा और उपेक्षा का सामना करना पड़ता है। एक दूसरे के प्रति महिलाओं का नारी द्वेषी रवैया उनके भीतर गहरे और अस्पष्ट रंग के संबंधों को उजागर करता है। जब पुरुषों और महिलाओं की बात आती है तो वैसे तो दोनों प्रकृति से प्रतिस्पर्धी होते हैं। पुरुषों को आसानी से उनकी प्रतिस्पर्धात्मक प्रकृति व्यक्त करते हैं। जबकि महिलाएं आमतौर पर दूसरे रास्‍ते अपनाती हैं। वे सकारात्मक तरीके से स्थिति से निपटने की कोशिश नहीं करतीं। ऐसा करने के कारण महिलायें व्यवहार से, आक्रामक, ईर्ष्यालु, प्रतिस्पर्धी और असुरक्षित हो जाती हैं। यहां महिलाओं के एक दूसरे से नफरत करने के कुछ कारण दिये गये हैं। image courtesy : getty images

सौंदर्य

सौंदर्य
4/8

हम में से अधिकांश इस सच पर विश्वास करते हैं कि अगर एक औरत सोचती है कि आप उसकी तुलना में सुंदर है तो वह असुरक्षित महसूस करने लगती है। आपके बगल में खड़े होते हुए उसे अपनी उपस्थिति शर्मिंदगी महसूस कराती है। और अगर आप सिंगल है तो वे आपको प्रतियोगी के रूप में देखती है। महिला एक दूसरे से नफरत इसलिए भी करती है कि कही आप करिश्‍माई रूप से उसके प्रेमी या पति को लुभाने न लग जाये। image courtesy : getty images

प्यार न किया जाने का डर

प्यार न किया जाने का डर
5/8

महिलाओं में हमेशा स्वीकृति और मैत्रीपूर्ण सहयोग के लिए तरस रहती है। महिलाओं की हमेशा यह चाहत हैं कि उनसे प्‍यार करने वाला या उनका पसंदीदा व्‍यक्ति हमेशा उनकी प्रशंसा करें। वह दूसरों द्वारा स्‍वीकार न किया जाने वाले विचार से नफरत करती है। चाहे फिर वह उसका ऑफिस हो, कॉलेज, परिवार या समाज, वे केवल दूसरों के द्वारा स्वीकार किया जाना चाहती हैं और सकारात्मक सुदृढीकरण से उन्‍हें आत्मविश्वास महसूस होता है। image courtesy : getty images

आत्मसम्मान में कमी

आत्मसम्मान में कमी
6/8

आत्‍मसम्‍मान की कमी को हमेशा ईर्ष्या के साथ जुड़ा हुआ पाया जाता है। आत्मसम्मान की कमी का निर्माण किसी में भी बचपन से जाता है। आत्‍मसम्‍मान की कमी के साथ कुछ महिलाएं खुद को खुश और सफल दिखाने का अभिनय करती है, जबकि कुछ महिलाएं बिल्‍कुल भी दिखावा नहीं करती है। आत्‍मसम्‍मान की कमी के कारण कुछ महिलाएं ईर्ष्या, गुस्सा, नर्वस  या असहज महसूस करती हैं। और कुछ महिलाएं दूसरी महिलाओं की उपलब्धियों को देखकर नाराज हो जाती है। image courtesy : getty images

प्रतियोगिता

प्रतियोगिता
7/8

स्त्रियों के साथ अपने वजूद को लेकर बड़ी समस्‍या होती है। वह इस काम के लिए हमेशा पुरुषों पर निर्भर रहती हैं। डेटिंग और रिश्‍ते में होने पर महिलाओं की बीच हमेशा प्रतिस्‍पर्धा देखने को मिलती है। कभी-कभी प्रतिस्‍पर्धा स्‍वस्‍थ होती है। लेकिन हमेशा एक फाइन लाइन महिलाओं द्वारा बहुत बार पार की जाती है। image courtesy : getty images

जनरल उदासी

जनरल उदासी
8/8

जिन महिलाओं में घबराहट और चिंता जीवन में स्‍ट्रेस पैदा करती है, वह दूसरों के प्रति भी निराशा की भावना रखती है, खासकर दूसरी महिलाओं के प्रति। और वह खुद के मुद्दों पर ध्‍यान केंद्रित करने की बजाय, उन्‍हें नीचा दिखने में लगी रहती है। क्रोध और अवसाद बदमाशी का आम कारण हैं। image courtesy : getty images

Disclaimer