काम के बाद कामयाब लोग करते हैं ये 8 चीजें

कामयाबी और नाकामयाबी हमारी आदतों से तय होती हैं। हमारी दिनचर्या ही हमारे जीवन की दिशा तय करती है। इसलिए जरूरी है कि आप अपनी दिनचर्या को सही रखें। और यह जानने की कोशिश करें कि कामयाब लोग काम के बाद ऐसी कौन सी आदतों को अपनाते हैं, जिनसे उनके करियर और निजी जीवन में सही तालमेल बना रहता है।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Nov 10, 2014

क्‍या है कामयाबी की राह

क्‍या है कामयाबी की राह
1/9

कहते हैं कि कामयाब लोग जीवन में अलग काम नहीं करते, बल्कि वे काम को अलग तरीके से करते हैं। कामयाब लोग प्‍यास लगने पर कुआं नहीं खोदते वे जीवन की लंबी योजना बनाकर उस पर अमल करते हैं। हम दिन में आठ से दस घंटे काम करते हैं। और उसके बाद हमारे पास काफी वक्‍त बच जाता है अन्‍य उपयोगी काम करने के लिए। तो, इस वक्‍त का फायदा उठाइये और कुछ रचनात्‍मक और उपयोगी काम कीजिये। image courtesy : getty images

वे अपने काम की योजना बनाते हैं

वे अपने काम की योजना बनाते हैं
2/9

अगर आपका बहुत डिमांडिंग है, तो चाहे आप कितनी ही कोशिश क्‍यों न कर लें, घर आकर भी आप अपने काम से निजात नहीं पा सकते। लेकिन, कामयाब लोगों के पास इससे निपटने की एक योजना होती है। वे अपने परिवार के साथ बिताने के लिए वक्त निकाल ही लेते हैं। वे सारा काम एक साथ करने के स्‍थान पर उसे टुकड़ों में बांट लेते हैं ताकि वे प्रियजनों के साथ समय बिता सकें। एक अच्‍छा ब्रेक आपकी कार्य-उत्‍पादकता को बढ़ा सकता है। परिवार के साथ वक्‍त बिताने के बाद आप अपने काम को बेहतर तरीके से अंजाम दे पाएंगे। image courtesy : getty images

जब मौका मिले

जब मौका मिले
3/9

हर काम रोजाना एक ही समय पर हो, ऐसा जरूरी नहीं। कई लोग कहते हैं कि परिवार के चलते वे शाम को व्‍यायाम नहीं कर सकते। लेकिन आप सप्‍ताह में कभी-कभार तो ऐसा कर सकते हैं। कामयाब लोगों को जब कोई रचनात्‍मक काम करने का मन करता है, वह उसे जरूर करते हैं। अगर वे सप्‍ताह में एक बार ही अपने दोस्‍तों से मिल सकते हैं, तो वे इस मौके को भी हाथ से जाने नहीं देते। image courtesy : getty images

वे टीवी नहीं देखते

वे टीवी नहीं देखते
4/9

हालांकि टीवी देखने में कोई बुराई नहीं। लेकिन, आप इस समय को अधिक रचनात्‍मक कामों में भी लगा सकते हैं। इसके साथ ही आप टीवी देखने का टाइम भी बांध सकते हैं। और उस समय में भी वे उपयोगी कार्यक्रम ही देखते हैं। इससे आपके पास सकरात्‍मक काम करने के लिए काफी वक्‍त बच जाता है। image courtesy : getty images

वे व्‍यायाम करते हैं

वे व्‍यायाम करते हैं
5/9

व्‍यायाम न करने के पीछे हमारा पहला बहाना समय की कमी होना होता है। लेकिन, अमेरिका में हुए एक शोध के मुताबिक सामान्‍य अमेरिकियों से अधिक व्‍यस्‍त लोग व्‍यायाम के लिए समय निकाल लेते हैं। कामयाब लोग इस तथ्‍य को स्‍वीकार करते हैं कि स्‍वस्‍थ जीवन के लिए व्‍यायाम करना बेहद लाजमी है। कामयाब लोग जो शाम को व्यायाम करते हैं वे इसकी योजना पहले से बनाकर रखते हैं। क्‍योंकि वे पहले से इसके लिए योजना बनाकर रखते हैं, उन्‍हें जिम जाते समय मानसिक रूप से थकान भी नहीं होती। व्‍यायाम करने की चाह रखने वाले ऑफिस से सीधा जिम जाते हैं और वहां से फिर घर। image courtesy : getty images

वे मजा करते हैं

वे मजा करते हैं
6/9

कामयाब लोग परिवार के साथ अच्‍छा वक्‍त बिताने में यकीन रखते हैं, फिर चाहे यह वक्‍त 15 मिनट ही क्‍यों न हो। वे रात के खाने से पहले परिवार के सभी लोगों के साथ मिलकर अच्‍छा वक्‍त बिताते हैं। एक ग्रुप एक्टिविटी करने से डिनर बोरिंग नहीं होता। हालांकि इसका संबंध काम से नहीं होता, लेकिन इससे पूरे परिवार का मूड अच्‍छा हो जाता है। आपको इसके लिए बहुत पहले से योजना बनाने की जरूरत नहीं है। रात को खाने के बाद सब नजदीक ही टहलने भी जा सकते हैं। image courtesy : getty images

साथी के साथ डेट पर जाते हैं

साथी के साथ डेट पर जाते हैं
7/9

कामयाब लोग अपने रोमांटिक रिश्‍ते की कद्र समझते हैं। वे व्‍यस्‍तता के बावजूद अपने प्‍यार के लिए वक्‍त निकाल लेते हैं। वे सप्‍ताह में कम से कम एक बार अपने साथी के साथ रोमांटिक डेट पर जरूर जाते हैं। तमामत व्‍यस्‍तताओं के बावजूद हाथ में हाथ लेकर बैठना और एक दूसरे के साथ वक्‍त बिताना उनके दिमाग को स्‍फूर्ति और ऊर्जा से भर देता है। image courtesy : getty images

वे दोस्‍तों के लिए वक्‍त निकालते हैं

वे दोस्‍तों के लिए वक्‍त निकालते हैं
8/9

सामाजिक जुडा़व जीवन के सबसे महत्‍वपूर्ण हिस्‍सों में से होते हैं। लेकिन, वक्‍त की कमी के कारण हम अपने दोस्‍तों के लिए समय नहीं निकाल पाते। लेकिन कामयाब लोग जीवन में दोस्‍तों की अहमियत समझते हैं। और वे इसके लिए तैयारी भी रखते हैं। क्‍यों न ऐसी योजना बनायी जाए कि हर महीने के आखिरी सोमवार या रविवार को आप सब दोस्‍त मिलकर बैठेंगे। इससे मिलना आसान हो जाता है। हर बार मिलने की तारीख तय करने से मुलाकात जरा मुश्किल हो जाती है। image courtesy : getty images

नींद है जरूरी

नींद है जरूरी
9/9

कामकाजी माता-पिता को अकसर पूरी नींद नही मिल पाती। लेकिन, कामयाब लोग अपनी नींद के साथ समझौता नहीं करते। वे सात से नौ घंटे जरूर सोते हैं। उन्‍हे मालूम होता है कि किस प्रकार वे काम को जल्‍दी निपटा सकते हैं। वे अच्‍छे और स्‍मार्ट फैसले लेते हैं जिनसे बच्‍चों को भी किसी प्रकार की तकलीफ न हो और साथ ही उनकी नींद पर भी कोई असर न पड़े। image courtesy : getty images

Disclaimer