हर रोज सांस लेते समय हम करते हैं ये बड़ी गलतियां

दिन में हम लगभग 20,000 बार सांस लेते हैं लेकिन इसे भी सही हम ठीक ढंग से नहीं करते हैं। इन गलतियों को सुधार कर हम स्वस्थ, निरोग और लंबा जीवन जी सकते हैं।

Rahul Sharma
Written by:Rahul SharmaPublished at: Sep 15, 2015

सांस लेते समय गलतियां

सांस लेते समय गलतियां
1/5

सांस ही जीवन है और एक दिन में हम लगभग 20,000 बार सांस लेते हैं लेकिन इसे भी सही हम ठीक ढंग से नहीं करते हैं। सांस लेने का सही तरीका हमारे बेहतर स्वास्थ्य को सुनिश्चित करता है। सांसों का मनुष्य की आयु से सीधा संबंध होता है। छोटी, अधूरी और उथली सांस लेना वास्तविक उम्र में से कई साल घटा सकता है। हम सांस लेते समय कई गतलियां करते हैं, जिन्हें सुधार कर हम स्वस्थ, निरोग और लंबा जीवन पा सकते हैं। चलिये जानें कि हम रोज सांस लेते समय कौन सी गलतियां करते हैं और इन्हें ठीक कैसे किया जा सकता है। Images source : © Getty Images

तेजी से सांस लेना

तेजी से सांस लेना
2/5

ज्यों - ज्यों हम बड़े होते जाते हैं, वैसे - वैसे हमारी सांसें भी तेज चलने लगती हैं और हमारी कोशिकाओं तक ढंग से ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाती है। इस कारण स्ट्रेट-रेस्पॉन्स सिस्टम भी ज्यादा सक्रिय हो जाता है। नतीजतन हमारी रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने लगती है और कई तरह के रोग हमें आ घेरते हैं। Images source : © Getty Images

सांसों को माध्यम से रेगुलेट करना सीखें

 सांसों को माध्यम से रेगुलेट करना सीखें
3/5

तकरीबन 80 प्रतिशत बीमारियां तनाव के कारण होती हैं और अगर हम अपने आंतरिक सॉफ्टवेयर को ब्रीदिंग के माध्यम से रेगुलेट करना सीख जाएं, तो शरीर का हर हिस्सा सही ढंग से काम करने लगेगा। प्राणायाम करने से अपनी ब्रीदिंग तकनीक पर काबू पाकर अपने शरीर को साधा जा सकता है। Images source : © Getty Images

केवल 30 प्रतिशत उपयोग

केवल 30 प्रतिशत उपयोग
4/5

शोध के परिणाम बताते हैं कि आधुनिक जीवनशैली में पला-बढ़ा दुनिया का हर इंसान गलत तरीके से सांस ले रहा है। शोध में पाया गया कि आधुनिक मनुष्य अपने फेफड़ों की सांसों को भरने की क्षमता का केवल 30 प्रतिशत ही उपयोग कर रहा है। बाकी की 70 प्रतिशत क्षमता प्रयोग में न आने की वजह से बेकार ही रह जाती है। Images source : © Getty Images

पेट से सांस न लेना

 पेट से सांस न लेना
5/5

अकसर हम उथली-उथली सांस लेते हैं जोकि सांस लेने का गलत तरीका है। सांस हमेशा पेट से लनी चाहिये। इस तरह सांस न केवल आपको शारीरिक तौर पर फायदा देगी, बल्कि यह आपको मानसिक तौर पर शांत भी करेगी। Images source : © Getty Images

Disclaimer