गर्भनिरोधक दवाएं बंद करने के बाद शरीर में होते हैं ये बदलाव

गर्भनिरोधक दवाओं का सेवन बंद करने पर भी इसके कुछ प्रभाव होते हैं। विशेषज्ञों से जब इस संबंध में बात की गई तो उन्होंने भी बताया कि हार्मोनल बर्थ कंट्रोल पिल्स लेना बेद करने पर इसके कुछ प्रभाव होते हैं, लेकिन ये अलग-अलग महिलाओं में भिन्न होते हैं।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Sep 29, 2015

गर्भनिरोधक दवाएं बंद करने पर शरीर में बदलाव

गर्भनिरोधक दवाएं बंद करने पर शरीर में बदलाव
1/5

अगर आपने गर्भनिरोधक दवाओं का सेवन किया है तो इन्हें लेना शुरू करने के बाद के प्रभावों जैसे हल्के मासिक धर्म, ऐंठन से मुक्ति तथा गर्भ ठहर जाने के डर से मुक्ती आदि से वाकिफ़ होंगी। लेकिन तब क्या जब आप इन दवाओं का सेवन बंद कर देती हैं! जी हां गर्भनिरोधक दवाओं का सेवन बंद करने पर भी इसके कुछ प्रभाव होते हैं। विशेषज्ञों से जब इस संबंध में बात की गई तो उन्होंने भी बताया कि हार्मोनल बर्थ कंट्रोल पिल्स लेना बेद करने पर इसके कुछ प्रभाव होते हैं, लेकिन ये अलग-अलग महिलाओं में भिन्न होते हैं। चलिये जानें क्या हैं ये प्रभाव -  Images source : © Getty Images

तेज पीरियड्स और एंठन का अनुभव

तेज पीरियड्स और एंठन का अनुभव
2/5

येल स्कूल ऑफ मेडिसिन में प्रसूति और स्त्री रोग की प्रोफेसर जाने मिंकन के अनुसार कई सारी महिलाएं इन गोलियों का सेवन इसलिये करती हैं क्योंकि इनके सेवन से पीएमएस की पीड़ा टल जाता है। लेकिन इन गोलियों का सेवन बंद कर देने पर ये वापस होने लग जाता है। Images source : © Getty Images

स्तन मामूली सा सिकुड़ सकते हैं

स्तन मामूली सा सिकुड़ सकते हैं
3/5

बिर्थ कंट्रोल पिल में मौजूद प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन घटकों की वजह से स्तनों का आकार थोड़ा बढ़ सकता है। तो एक बार इन दवाओं का सेवन कम करने पर स्तनों के आकार में गिरावट भी आती है। हालांकि ऐसा सभी महिलाओं के साथ नहीं होता है। Images source : © Getty Images

ज्यादा हो सकता है बहाव

ज्यादा हो सकता है बहाव
4/5

क्योंकि ये दवाएं ऑव्यूलेट करने की शरीर की क्षमता को बढ़ाती हैं, इनके सेवन के समय तरल का रिसाव कम होता है। लेकिन एक बार इनका सेवन बंद कर देने पर ऑव्यूलेशन के समय ज्यादा तरल का रिसाव हो सकता है। Images source : © Getty Images

कामेक्षा में इज़ाफा या गिरावट हो सकता है

कामेक्षा में इज़ाफा या गिरावट हो सकता है
5/5

विशेषज्ञ बताते हैं कि काफी सारी महिलाएं बताती हैं कि इन दवाओं सेवन करने पर उनकी काम भावना में काफी गिरावट आती है। हालांकि कुछ महिलाओं में इस दौरान कामेक्षा बढ़ जाती है। ये प्रभाव पूरी तरह महिलाओं के हार्मोन पर निर्भर करता है। Images source : © Getty Images

Disclaimer