दांतों के बदरंग होने के कारण और उन्‍हें दूर करने के घरेलू उपाय

तंबाकू, चाय, कॉफी, सॉफ्ट ड्रिंक्स के ज्यादा सेवन, विभिन्‍न प्रकार के खाद्य पदार्थ और सफाई के अभाव के कारण दांत बदरंग होने लगते हैं। लेकिन दांतों की उचित साफ-सफाई और कुछ घरेलू उपायों को अपनाकर दांत मोतियों जैसे चमकदार और मजबूत बने रहते हैं।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Apr 21, 2014

बदरंग दांत

बदरंग दांत
1/16

हर किसी की चाहत होती है, सुंदर मुस्‍कान और मोतियों जैसे सफेद दांत। लेकिन कई बार विभिन्‍न प्रकार के खाद्य और पेय पदार्थों, गलत आदतों और सफाई के अभाव के कारण दांत बदरंग होने लगते हैं। आइए जानें दांतों के बदरंग होने के कारण और दाग से छुटकारा पाने के उपायों के बारे में।

दांतों के बदरंग होने के कारण

दांतों के बदरंग होने के कारण
2/16

दांतों पर दाग बदसूरत लगते है, लेकिन एक सख्त और सावधानीपूर्वक मुंह की सफाई द्धारा दांतों से दाग को दूर और रोकने में मदद मिलती है। दांतों में टार्टर एक चिपचिपी परत की तरह होता है। जिसके कारण दांतों में बैक्टीरिया बढ़ने और दाग उत्‍पन्‍न होने लगते है। इस कठोर जमाव को वाइटनिंग उपचार के माध्यम से दूर करने की आवश्यकता होती है।

चाय

चाय
3/16

दांतों के बदरंग होने के बहुत से कारण होते है। उनमें से एक चाय के विभिन्न प्रकारों का इस्‍तेमाल करना। शोध के अनुसार, काली, हरी यहां तक की हर्बल चाय के सेवन से दांतों के इनैमल खिसकने लगते है। और कॉफी के मुकाबले ज्‍यादा दाग पैदा करते हैं।

वाइन

वाइन
4/16

रेड वाइन एसि‍डिक ड्रिंक है। इसमें मौजूद पिग्मेंटेड मोलेक्युल्स दांतों के बदरंग होने का कारण होते हैं। दूसरी ओर, हालांकि वाइट वाइन डार्क कलर की नहीं होती है फिर भी यह अपने तेज एसिडिक प्रकृति के कारण दाग का कारण बनती है।

करी पाउडर

करी पाउडर
5/16

करी पाउडर का इस्‍तेमाल कई प्रकार के भारतीय व्‍यंजन में किया जाता है। वैसे तो करी पाउडर आमतौर पर गहरे नहीं होते है, लेकिन गहरे रंग के कारण, लम्‍बे समय में दांतों में दाग पैदा कर सकते हैं।

तम्बाकू

तम्बाकू
6/16

तम्‍बाकू में मौजूद हानिकारक निकोटीन सेहत के साथ दांतों के लिए भी बहुत नुकसानदेह होता है। इसके सेवन से दांतों में पीलापन और भूरे रंग जैसा जमाव पैदा होने लगता है। इसे साफ करना बहुत ही मुश्किल होता है।

डार्क कलर के पल्प

डार्क कलर के पल्प
7/16

स्‍वादिष्‍ट सॉस जैसे, सोया सॉस, टमाटर सॉस, टमाटों प्‍यूरी, रेड पास्‍ता सॉस आद‍ि दांतों में दाग का कारण बनता है। आमतौर पर दांतो का एनमैल कमजोर होने के कारण आसानी से डार्क कलर के संपर्क में आ जाता है।

डार्क पिग्मेंटेड फल

डार्क पिग्मेंटेड फल
8/16

बहुत सारे फल जैसे ब्‍लूबेरी, क्रैनबेरी, अनार और काले अंगूर, एंटीऑक्‍सीडेंट और पोषक तत्‍वों से भरपूर होते है। इनको एक सीमा तक इस्‍तेमाल करना चाहिए क्‍योंकि दांतों के संपर्क में आने पर इसमें मौजूद तेज पिग्‍मेंडेट मोलेक्युल्स दांतों के एनमैल के साथ चिपक जाते है और दांतों को बदरंग कर देते हैं।

सॉफ्ट ड्रिंक

सॉफ्ट ड्रिंक
9/16

डार्क सोडा और पेय पदार्थो में मौजूद बैक्‍टीरिया दांतों में गंभीर मलिनकिरण पैदा कर सकते हैं। सोडा का बहुत ठंडा तापमान दांतों में संकुचन पैदा कर उन्‍हें झरझरा और संवेदनशील बनाता है। इसके अलावा हल्के रंग का सोडा भी अन्य अम्लीय खाद्य पदार्थों और पेय के साथ मिलाने पर एसिडिक हो जाता हैं।

बदरंग दांतों के लिए उपचार

बदरंग दांतों के लिए उपचार
10/16

दांतों में दाग किसी के भी आत्मविश्वास और आत्मसम्मान को प्रभावित कर सकता हैं। दांत हमारे व्‍यक्तित्‍व की पहली चीज है जो किसी से बात करते यह हंसते समय नोटिस में आ जाती है। इसलिए इनका सुंदर होना बहुत जरूरी है। दांतों के बदरंग होने का इलाज ओरल सफाई और खान-पान का ध्‍यान रखकर किया जा सकता है। आइए ऐसे ही कुछ घरेलू उपायों के बारे में जाने।

Disclaimer