यात्रा के बाद जब दर्द सताये तो ये प्राकृतिक उपचार आजमायें

यात्रा के बाद अगर दर्द अधिक हो रहा हो तो इसे दूर करने के लिए आप प्राकृतिक उपचारों की शरण में जा सकते हैं। आइए हम आपको बताते हैं कि सुहाने सफर के बाद जब दर्द सताये तो प्राकृतिक उपचार की मदद से इस दर्द से कैसे छुटकारा पायें।

Pooja Sinha
Written by:Pooja SinhaPublished at: Jul 04, 2015

यात्रा के बाद होने वाले दर्द को दूर करने के उपाय

यात्रा के बाद होने वाले दर्द को दूर करने के उपाय
1/9

यात्रा शुरू करने का जितना उत्‍साह होता है यात्रा समाप्‍त होने पर उतना ही दर्द होता है। क्‍योंकि एक ही जगह घंटों बैठकर यात्रा करने और लंबे समय तक यात्रा करने से मांसपेशियों में सूजन आ जाती है। रक्‍त संचार सही से नहीं होता है जिसके कारण जोड़ भी प्रभावित होते हैं और यात्रा समाप्‍त होने के बाद पूरे शरीर में दर्द होता है। ऐसे में कई बाद आपको उस हसीन और यादगार यात्रा पर अफसोस भी होता है। लेकिन अगर दर्द अधिक हो रहा हो तो इसे दूर करने के लिए आप प्राकृतिक उपाय की शरण में जा सकते हैं। आइए हम आपको बताते हैं‍ कि सुहाने सफर के खत्‍म होने के बाद जब दर्द सताये तो प्राकृतिक उपचार की मदद से इस दर्द से कैसे छुटकारा पायें।Image Source : osmiva.com

चेरी का जूस

चेरी का जूस
2/9

चेरी का जूस एक लंबी यात्रा के बाद दर्द वाली मांसपेशियों को आराम दिलाता है। चेरी में पाया जाने वाला एंथोक्यनिंस नामक एंटीऑक्‍सीडेंट सूजन को कम करने के लिए जाना जाता है। दर्द और सूजन को कम करने के लिए चेरी का जूस पीयें।Image Source : Getty

मैग्नीशियम युक्त खाद्य पदार्थ

मैग्नीशियम युक्त खाद्य पदार्थ
3/9

शरीर में मैग्नीशियम के निम्न स्तर से मांसपेशियों में दर्द और ऐंठन होने लगती है। इसलिए मैग्‍नीशियम की कमी को पूरा करने के लिए सप्‍लीमेंट लें या अपने आहार में मैगनीशियम से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करें। कई खाद्य पदार्थ जैसे गुड़, स्क्वैश और कद्दू के बीज (pepitas), पालक, स्विस chard, कोको पाउडर, काली सेम, सन बीज, तिल के बीज, सूरजमुखी के बीज, बादाम और काजू मैग्नीशियम के अच्‍छे स्रोतों में से एक हैं।  Image Source : Getty

एप्पल साइडर सिरका

एप्पल साइडर सिरका
4/9

एप्पल साइडर सिरका मांसपेशियों में होने वाले दर्द से राहत देने और पीड़ा कम करने का एक प्रभावी घरेलू उपाय है। एक गिलास पानी में एक या दो बड़े चम्‍मच एप्पल साइडर सिरका मिलाकर पीयें। या आप पीड़ादायक मांसपेशियों/ ऐंठन वाले हिस्‍से पर सीधे सिरके को सीधा लगा सकते हैं। इससे आपको मांसपेशियों के दर्द से राहत मिलेगी।Image Source : Getty

आवश्‍यक तेलों से मालिश

आवश्‍यक तेलों से मालिश
5/9

आवश्‍यक तेल एंटी-इंफ्लेमेंटरी, एनाल्‍जेसिक की तरह काम करते हैं, इसलिए आवश्यक तेल से मालिश शरीर में दर्द से राहत दिलाने में प्रभावी ढंग से काम करते हैं। मालिश गर्मी प्रदान कर ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ाने में मदद करती है। तेल से मांसपेशियों को आराम और दर्द से राहत मिलती है। आवश्यक तेलों का अरोमा गहरी से रिलैक्‍स करने और शरीर की प्राकृतिक चिकित्सा में मदद करता है। तेल जैसे पाइन, लैवेंडर, अदरक और पुदीना मांसपेशियों में दर्द को कम करने में बहुत उपयोगी साबित होते हैं। Image Source : Getty

सेंधा नमक वाले पानी से स्नान

सेंधा नमक वाले पानी से स्नान
6/9

सेंधा नमक या मैग्नीशियम सल्फेट प्राकृतिक मिनरल है, जो मांसपेशियों के ऊतकों की सूजन कम करने और शरीर में दर्द से राहत मिलती है। इसके अलावा बहुत पुराने मांसपेशियों के दर्द फाइब्रोमायल्जिया में आराम देता है। एक गुनगुने पानी से भरे बॉथटब में 1-2 चम्‍मच सेंधा नमक मिलाकर, 15-30 मिनट के लिए उसमें आराम से स्‍नान करें। इसके अलावा स्‍नान मांसपेशियों में दर्द और ऐंठन से राहत देने और शरीर को रिलैक्‍स करने और तनाव को दूर करने में मदद करता है। Image Source : Getty

लाल मिर्च

लाल मिर्च
7/9

एंटी-इंफ्लेमेंटरी और एनाल्जेसिक गुणों के कारण लाल मिर्च मांसपेशियों के दर्द को दूर करने का एक शानदार उपाय है। इसके अलावा यह सूजन और कठोरता को कम करने में भी मदद करता है। दर्द होने पर डेढ़ कप नारियल तेल को हल्का गर्म करें और उसमें 2 चम्मच लाल मिर्च पाउडर मिला लें। फिर इस मिश्रण को दर्द वाली जगह पर लगाएं। 20 मिनट बाद इसे धो लें। इस उपाय को दिन में दो बार करें। Image Source : Getty

कोल्‍ड थेरेपी

कोल्‍ड थेरेपी
8/9

कोल्‍ड थेरेपी को क्रयोथेरपी के रूप में भी जाना जाता है। इसमें बर्फ या ठंडे पानी से दर्द से राहत पाई जाती है। अक्‍सर इसका इस्‍तेमाल मांसपेशियों के दर्द को कम करने के लिए किया जाता है। आइस पैक लगाने से दर्द वाले हिस्‍से में ब्‍लड सर्कुलेशन धीमा होता है, जिसके परिणामस्‍वरूप सूजन और दर्द कम होता है। आइस पैक, बर्फ की मालिश, जेल पैक, केमिकल कोल्‍ड पैक, वपोकूलन्ट स्प्रे कोल्‍ड थेरेपी के विभिन्‍न रूपों को आप अपना सकते हैं।  Image Source : Getty

हीट थेरेपी

हीट थेरेपी
9/9

इस थेरेपी का इस्‍तेमाल मांसपेशियों की जकड़न, मोच या तनाव और मांसपेशियों में ऐंठन के इलाज के लिए किया जाता है। लेकिन बहुत ज्‍यादा गंभीर चोट में हीट थेरेपी से बचना चाहिए क्‍योंकि इससे सूजन बढ़कर, परेशानी का कारण बन सकती है। हीट थेरेपी में हॉट पैक, पैराफिन मोम और हाइड्रोथेरेपी भी शामिल है। आप इन उपचारों के लिए फिजियोथेरेपिस्ट के पास भी जा सकते हैं। Image Source : lifemartini.com

Disclaimer