जिंजर बीयर से पाएं, मुहांसों से हमेशा के लिए छुटकारा

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:May 16, 2017
एलकोहॉल रहित जिंजर बियर को कई स्वास्थ्य समस्याओं, जैसे पेट की बीमारियों और गठिया आदि का इलाज करने के लिए इस्तेमाल में लाया जा सकता है।
  • 1

    जिंजर बियर से रोगों का इलाज

    एलकोहॉल रहित जिंजर बियर को कई स्वास्थ्य समस्याओं, जैसे पेट की बीमारियों और गठिया आदि का इलाज करने के लिए इस्तेमाल में लाया जाता रहा है। अदरक पेट की ख़राबी के इलाज के लिए बहुत प्रभावी होता है। साथ ही यह पाचन प्रक्रिया में सुधार भी करता है। इसकी मदद से कोलेस्ट्रॉल और उच्च रक्त शर्करा के स्तर को कम किया जा सकता है। ऐसा पाया गया है कि जिंजर बियर सर्दी और फ्लू के लक्षणों को कम कर सकती है और ब्लड सर्कुलेशन में सुधार व कैंसर से बचाव भी करती है। तो चलिये जानें एल्कोहॉल रहित जिंजर बियर के ऐसे ही कुछ और फायदे -
    Images source : © Getty Images

    जिंजर बियर से रोगों का इलाज
    Loading...
  • 2

    अदरक में मौजूद लाभकारी तेल

    ताजा और सूखे अदरक में कई प्राकृतिक तेल होते हैं, लेकिन स्वास्थ्य लाभ से जुड़े दो मुख्य तेल हैं गिंगरोल (gingerol) और शोगाओल (shogaol)। दोनों तेलों अध्ययन किया गया है, लेकिन आज तक के अध्ययनों में से किसी में भी वास्तविक अदरक बियर का इस्तेमाल नहीं किया गया है। लेकिन एल्कोहॉल रहित जिंजर बियर भी लाभदायक होती है।
    Images source : © Getty Images

    अदरक में मौजूद लाभकारी तेल
  • 3

    मतली से राहत दिलाए

    मेमोरियल स्लोन केटरिंग कैंसर सेंटर के अनुसार अदरक पाचन में सुधार करते हुए मतली से राहत दिलाता है। मार्च 2014 के नुट्रिशन जर्नल की समीक्षा के अनुसार आप गर्भवती हैं और आपको मॉर्निंग सिकनेस की समस्या है तो बना एस्कोहॉल वाली जिंजर बियर से मतली में कुछ राहत मिलती है। समीक्षा के अनुसार अदरक सुरक्षित है और इसके साइड इफेक्ट नहीं होते हैं। सपोर्टिव केयर इन कैंसर के जुलाई 2012 के अंक में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार कैंसर के वयस्क रोगियों में अदरक मतली को कम करता है। हालांकि इस विषय पर भी कुछ मत विभेद भी हैं।  
    Images source : © Getty Images

    मतली से राहत दिलाए
  • 4

    कैंसर की रोकथाम में

     वर्ष 2008 में मॉलिक्यूलर नुट्रिशन एंड फ़ूड रिसर्च की एक रिपोर्ट में पाया गया कि अदरक ने प्रयोगशाला में मानव कैंसर कोशिकाओं के विकास में रोकथाम की। एक पायलट अध्ययन में शोधकर्ताओं ने कोलोरेक्टल कैंसर के जोखिम वाले लोगों को दो समूहों में विभाजित किया। एक समूह में 28 दिनों के लिए हर दिन अदरक लिया, जबकि दूसरे समूह एक प्लसिबो (placebo, प्रयोगिक औषध) की। अ प्रल 2013 में आई कैंसर प्रिवेंशन रिसर्च के अनुसार प्लसिबो लेने वाले समूह के विपरीत अदरक लेने वाले समूह कैंसर के खतरे के लिए जैविक मार्कर में गिरावट देखी गई।
    Images source : © Getty Images

    कैंसर की रोकथाम में
  • 5

    एंटी-इंफ्लेमेटरी बेनिफिट्स (सूजन कम करने में)

    हर्बल मेडिसन की समीक्षा के अनुसार अदरक को बहुत पहले से ही एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है। लेकिन इस विषय पर शोधों के विरोधाभासी परिणाम आए हैं। हालांकि कुछ अध्ययनों में पाया गया कि अदरक से सूजन में कमी आती है।  
    Images source : © Getty Images

    एंटी-इंफ्लेमेटरी बेनिफिट्स (सूजन कम करने में)
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK