अधिक वजन से सेहत को होते हैं ये 7 जोखिम

अगर आप मोटापे के शिकार हैं तो जल्द से जल्द इसे कम करने के उपाय करें, क्योंकि मोटापे का मतलब सिर्फ बेडौल शरीर ही नहीं कई रोगों को बुलावा भी है।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Jan 24, 2015

अधिक वजन से सेहत को जोखिम

अधिक वजन से सेहत को जोखिम
1/8

देश भर में मोटापे की समस्या बढ़ रही है। इसका कारण शारीरिक श्रम कम करना, फास्ट फूड का सेवन व मसालेदार खानपान है। इसके चलते गंभीर बीमारियों को खतरा भी दिनों-दिनों बढ़ता जा रहा हैं। डॉक्टर मोटापे को जीवनशैली से जुड़ी बीमारी मानते हैं। डॉक्टरों के अनुसार, गंभीर बीमारियां मधुमेह, ब्लड प्रेशर, हृदय की बीमारियां, लकवा, गठिया, अवसाद, किडनी व कैंसर आदि मोटापे का ही परिणाम हैं। इसके अलावा अधिक वजन प्रजनन क्षमता को भी प्रभावित करता है। इसलिए अगर आप मोटापे के शिकार हैं तो जल्द से जल्द इसे कम करने के उपाय करें, क्योंकि मोटापे का मतलब सिर्फ बेडौल शरीर ही नहीं कई रोगों को बुलावा है। Image Courtesy : Getty Images

जोड़ों की समस्‍या

जोड़ों की समस्‍या
2/8

मोटापे में ज्यादातर लोग जोड़ों के दर्द का शिकार हो जाते हैं। उन्हें जोड़ों में उठते बैठते वक्त असहनीय दर्द झेलना पड़ता है। साथ ही अधिक दबाव के कारण जोड़ों पर अधिक भार पड़ने और कार्टिलेज की मात्रा के कम होने से आर्थराइटिस की समस्‍या होने लगती है। वजन बढ़ने से जोड़ो का प्रत्‍यारोपण भी लगभग 8.5 फीसदी अधिक होने लगता है। एक किलो वजन बढ़ने का मतलब है कि जोड़ों पर चार से छह गुना दबाव बढ़ जाता है।Image Courtesy : Getty Images

हृदय रोग

हृदय रोग
3/8

मोटापे से हृदय रोग का खतरा दोगुना हो जाता है। क्योंकि वजन बढ़ने से आपका हृदय शरीर के बाकी हिस्सों में सही ढंग से ब्लड सप्लाई नहीं कर पाता है। जिससे दिल का दौरा होने की संभावना होती है। इसके अलावा मोटापे से हृदय के आसपास की धमनियों में चर्बी जमा हो जाती है। और शरीर में वसा की मात्रा अधिक होने पर सोडियम इकट्ठा हो जाता है, इससे रक्त का दाबव बढ़ जाता है। यह दिल के लिए काफी नुकसानदेह होता है। जिससे हृदय की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।Image Courtesy : Getty Images

डायबिटीज

डायबिटीज
4/8

मोटापे की वजह से आप डायबटीज के शिकार हो सकते हैं, क्योंकि जब आप खाने में ग्लूकोज की मात्रा ज्यादा लेने लगते हैं तो मोटापे का शिकार हो जाते हैं। इस वजह से आपको मधुमेह होने का खतरा भी बढ़ जाता है।Image Courtesy : Getty Images

डिप्रेशन

डिप्रेशन
5/8

मोटापे के कारण लोग डिप्रेशन के शिकार भी हो जाते हैं। लोगों की सोच नकारात्मक हो जाती है। हर समय दुखी रहते हैं। कभी-कभी तो लोग खुदकुशी की भी कोशिश करते हैं। 'क्लीनिकल साइकोलाजी' जर्नल में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार मोटापा और डिप्रेशन एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। अगर आप में इन दोनों में से किसी एक की मौजूदगी है तो दूसरा खुद-ब-खुद आपके पास चला आता है।Image Courtesy : Getty Images

कैंसर

कैंसर
6/8

स्तन कैंसर, कमर का कैंसर या आंतो के कैंसर की सबसे बड़ी वजह मोटापा होता है। हाल ही में हुए शोधों में पता चला है कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं। मोटापे के कारण सबसे ज्यादा ब्रेस्ट और कोलन कैंसर होने की आशंका रहती है। इसके अलावा पैनेक्रिएटिक या ओएसोफैगस कैंसर भी हो सकता है। बुरी खबर यह है कि इन दोनों कैंसर में बचने की संभावना बहुत कम होती है। Image Courtesy : Getty Images

हार्निया

हार्निया
7/8

हार्निया की मुख्य वजहों में से एक है मोटापा । मोटापे के चलते आपका डायफ्राम कमजोर हो जाता है या उसका आकार बढ़ जाता है, जिससे आप हार्निया के शिकार हो जाते हैं। वजन कम करने से आप इस खतरे से काफी हद तक बच सकते हैं।Image Courtesy : Getty Images

आंतों की समस्या

आंतों की समस्या
8/8

पूरी तरह स्वस्थ रहने के लिए आंतों का स्वस्थ रहना बहुत जरूरी होता है। लेकिन मोटापे के कारण आंत में समस्‍या आने लगती है। अधिक वजन बढ़ने से आंत की कोशिकाओं पर ज्यादा दबाव पड़ने लगता है। मोटापा बढ़ाने वाली चीजें खाने या एल्कोहल लेने पर आपकी आंत कमजोर हो जाती है और आंत से संबंधी बीमारियां हो सकती हैं।Image Courtesy : Getty Images

Disclaimer