बुरी आदतें जो आप अपने साथी से सीखती हैं

कई बार आपको कुछ बुरी आदतें अपने पार्टनर को देख कर लग जाती हैं। ऐसा खासकर शादीशुदा लोगों के साथ होता है। आइए जानें उन आदतों के बारे में जो आपको अपने पार्टनर से सीखती हैं।

Anubha Tripathi
Written by: Anubha TripathiPublished at: Jun 07, 2014

बुरी आदतें जो मिलती हैं पार्टनर से

बुरी आदतें जो मिलती हैं पार्टनर से
1/10

जब आप एक दूसरे के साथ रहते हैं, तो एक दूसरे की काफी आदतें सीख जाते हैं। इनमें कुछ आदतें अच्छी होती हैं, तो कुछ बुरी। और यह तो मानवीय प्रवृत्त‍ि है कि वह बुरी आदतों को पहले सीखता है। पति-पत्नी भी एक दूसरे की कई अच्छी-बुरी आदतों को सीखते हैं। अकसर ये आदतें  उनके वैवाहिक संबंधों के बीच भी आ सकती हैं। जानने की कोश‍िश करते हैं उन आदतों के बारे में जो आप अपने साथी से सीखती हैं-

गुस्सा

गुस्सा
2/10

महिलायें आमतौर पर पुरुषों की अपेक्षा शांत स्वभाव की होती हैं। पुरुषों में ही यह आदत होती है कि वे अपनी बात को सही साबित करने के लिए तथ्यों और तर्कों के स्थान पर ऊंची आवाज का सहारा लेते हैं। धीरे-धीरे महिलाओं को यह भी आभास होने लगता है कि शायद उनका साथी बात करने का यह अंदाज समझता है। इसलिए वे भी पहले की अपेक्षा अध‍िक उग्र होने लगती हैं। वे अपना गुस्सा अपने साथी के अलावा बच्चों पर भी निकालने लगती हैं। हालांकि हर नियम की तरह इस नियम के भी अपवाद होते हैं। और यह शत-प्रतिशत सभी पर लागू नहीं होता।

आलसी

आलसी
3/10

आपके पति ने जिम के पैसे तो एडवांस भर दिये, लेकिन दोबारा पलटकर उस गली में नहीं गए। वे मेहनत तो करते हैं, लेकिन केवल मानसिक स्तर पर। शारीरिक स्तर पर वे अकसर आलसी हो जाते हैं। रफ्ता-रफ्ता यह आदत आपकी जिंदगी में भी शुमार होती जा रही है। आप पहले कितनी आसानी से घर ओर दफ्तर के बीच संतुलन बना लेती थीं, लेकिन अब आप काम से जी चुराने लगी हैं।

झूठ

झूठ
4/10

झूठ तो सर्वव्यापी आदत है। पति अकसर फोन पर झूठ बोलते हैं। यार वो काम इसलिए नहीं हो पाया कि मेरी तबीयत खराब है। या फिर कुछ और। हालांकि, महिलाओं को यह हुनर सीखने के लिए किसी की जरूरत हो, ऐसा नहीं है। लेकिन, समस्या तब होती है, जब आप बिना जरूरत के झूठ बोलने लग जाती हैं। जहां झूठ बोलना मजबूरी हो, वहां तो समझा जा सकता है, लेकिन हर मौके पर झूठ बोलने की भला क्या जरूरत है।

फिजूलखर्ची

फिजूलखर्ची
5/10

अब यह आदत कौन किससे सीखता है, यह आप खुद ही तय करें। महिलायें अकसर वे चीजें खरीदती हैं, जो उसकी किसी सहेली या पड़ोसी के पास हों। उनकी शॉपिंग लिस्ट में जरूरत से ज्यादा हसरत का सामान होता है, वहीं पुरुष केवल रौब झाड़ने के लिए शॉपिंग करते हैं। हालांकि वे शॉपिंग में महिलाओं जितना वक्त नहीं लगाते, लेकिन, वे खरीदारी को लेकर ज्यादा किफायत बरतते भी नहीं आते।

बाहर का खाना

बाहर का खाना
6/10

आपके पति महोदय, पहले अकसर बाहर का खाना खाया करते थे। घर-परिवार से दूर रहना और खाना पकाने के झंझट से बचने के लिए वे ऐसा किया करते। लेकिन, अब आप उनकी इस आदत का हिस्सा बन बनिये। कभी-कभार तो बाहर खाने में अब भी हर्ज नहीं। लेकिन, इसे आदत तो मत बनाइये। इससे पैसे और उससे बढ़कर आपकी सेहत को नुकसान होता है। घर पर बना खाना सेहत और पैसे दोनों की बचत करता है। जरूरी नहीं कि हर बार खाना आप ही पकायें, आप दोनों इसमें एक दूसरे की मदद कर सकते हैं।

तनाव

तनाव
7/10

आपके पति अकसर ऑफिस को घर लेकर आ जाते हैं। उनके माथे पर लकीरें घर आकर और गहरी हो जाती हैं। और कहते हैं न कि तनाव हवा में तेजी से फैलता है। यदि कोई अपना तनावग्रस्त है, तो आप भी उससे प्रभावित हुए बिना नहीं रह सकतीं। लेकिन, याद रख‍िये आपको टेंशन नहीं लेनी है। आप पर दोहरी जिम्मेदारियां हैं। ऐसे में आपको चाहिये कि अपने साथी की बात सुनकर उसका तनाव दूर करने की कोश‍िश करें। इस समय आपका स्वभाव एक दोस्त की तरह होना चाहिये।

आज का काम कल पर टालना

आज का काम कल पर टालना
8/10

काल करे सो आज कर, आज करे तो अभी। यह नियम तो आपके साथी ने शायद सीखा ही नहीं। उनकी जिंदगी का फलसफा तो कुछ यूं कहता है- आज करे तो कल कर, कल करे परसों, इतनी जल्दी क्या है, जब जीना है बरसों। आप भी कहीं ऐसी तो नहीं होती जा रहीं। स्टोर की सफाई से लेकर, अपनी पुरानी दोस्त को फोन करने की बात को आप अगले दिन पर टाल देती हैं। याद रखिये , कल नाम है काल का। जो काम आज किया जा सकता है, उसे कल पर क्यों टाला जाए।

देर रात तक जगना

देर रात तक जगना
9/10

कई बार आपका शेड्यूल आप के पार्टनर के शेड्यूल के मुताबिक बदलता रहता है। ऐसे में अगर आपके पार्टनर की आदत होती है देर रात तक जगने की तो आप भी धीरे-धीरे इस आदत का शिकार हो जाती हैं।

धूम्रपान और एल्कोहल का सेवन

धूम्रपान और एल्कोहल का सेवन
10/10

अगर आपका पार्टनर घर पर भी धूम्रपान और एल्कोहल का सेवन करता है तो उसे ऐसा करता देख आप भी उसकी इस आदत को अपनाने के बारे में सोचने लगती हैं।

Disclaimer