सुबह का नाश्‍ता नजरअंदाज करना पड़ सकता हैै भारी, बढ़ता है इन 5 गंभीर बीमाि‍रियों का खतरा

सुबह के नाश्‍ते क‍ाेे सेहत के लिहाज से सबसे महतवपूर्ण माना जाता हैैै। इसलिए समय की कमी या अन्‍य कारणो से नाश्‍तेे को नजरअंदाज करना आपकी सेहत पर भारी पड़़ सकता हैैै।

Rashmi Upadhyay
Written by: Rashmi UpadhyayPublished at: Mar 08, 2018

नाश्ते की अहमियत

नाश्ते की अहमियत
1/8

आपने बहुत से लोगों को सुबह का नाश्‍ता न करते देखा और सुना होगा। लेकिन क्‍या आपको लगता है कि ऐसा करने से आपकी सेहत पर असर नहीं पड़ता? अगर आप ऐसा सोचते हैं, तो आप बिलकुल गलत हैं। सुबह के खाने यानि कि नाश्‍ते को तीनो समय में से सबसे जरूरी व अहम माना जाता है। आपका नाश्‍ता कैसा है इसका सीधा असर आपकी पूरे दिन के क्रियाकलापों पर पड़ता है। इतना ही नहीं नाश्‍ता नजरअंदाज करना आपके लिए कई बीमारियों को न्‍योता देने समान हो सकता है। इसलिए बहुत जरूरी है कि आप भूलकर भी सुबह के खाने को नजरअंदाज न करें क्‍योंकि यह आपके लिए काफी नुकसान हो सकता है। 

कमजोरी

कमजोरी
2/8

स्वस्थ नाश्ता आपके शरीर को ऊर्जा देता है। आपने बीते दस घंटों से कुछ नहीं खाया होता और नाश्ता इस कमी को पूरा कर आपको ताकत देता है। अगर आप नाश्ता नहीं करते हैं, तो मजबूरन आपके शरीर को ऊत्तकों से ग्लूकोज लेना पड़ता है। इससे आप लंच तक कमजोर और आलसी महसूस करते रहते हैं। आप तब तक खुद को नींद में ही महसूस करते हैं। और जब तक आपके पेट में कुछ भोजन नहीं जाता आपके सोचने की क्रिया भी पूरी रफ्तार नहीं पकड़ पाती। भले ही आप बॉडी बिल्डर न हों, लेकिन भी आप अपने शरीर को टोन रखने के लिए कुछ मांसपेश‍ियां जरूर चाहेंगे। और नाश्ते के बिना ये मांसपेश‍ियां हासिल करना संभव नहीं। आप दिन की शुरुआत खाली पेट करते हैं। तो यह सबसे माकूल समय है, जब आप अपने शरीर को मांसपेशीय निर्माण के लिए उपयुक्त भोजन से पोषण दे सकते हैं।

वजन बढ़ना

वजन बढ़ना
3/8

आप सोचते होंगे कि नाश्ता न करने से आपको वजन कम करने में आसानी होगी। जनाब आपको अपनी सोच बदलने की जरूरत है। नाश्ता न करने से आपके शरीर का मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है। इसका अर्थ यह है कि आप जो भी खाते हैं, वह लंबे समय तक आपके शरीर में जमा रहता है। इसके साथ ही आप नाश्ता न करने से कमजोर महसूस करते हैं। और इसी कमजोरी के कारण आप शारीरिक क्रियायें भी कम करते हैं। इससे आपका वजन कम होने की प्रक्रिया भी धीमी हो जाती है।

आप अस्वास्थ्यकर खाते हैं

आप अस्वास्थ्यकर खाते हैं
4/8

अगर आप नाश्ता नहीं करेंगे तो आपका शरीर और मन भोजन के लिए लालायित रहेगा। ऐसे में आप मीठा और उच्च कैलोरी युक्त भोजन की ओर आकर्ष‍ित होंगे। यानी नाश्ता न करके आप एक साथ दो-दो गलतियां करेंगे। शोध यह प्रमाणित करते हैं कि जो लोग सुबह नाश्ता नहीं करते, उनके लिए अस्वास्थ्यकर भोजन से दूर रह पाना आसान नहीं होता। उनका मस्तिष्क अपने आप ही सेहतमंद भोजन की अपेक्षा अनहेल्दी भोजन को तरजीह देता है। इसे भी पढ़े: बच्चों पर ना डालें पढ़ाई का ज्यादा दबाव, झेलना पड़ सकता है ये नुकसान

ध्यान में कमी

ध्यान में कमी
5/8

नाश्ता न करने से आपको ध्यान केंद्रित करने में परेशानी आती है। कई बार हालात यह हो जाती है कि आप खुद को बीमार महसूस करने लगते हैं। नाश्ता न करने से आपका शरीर और दिमाग दोनों बीमार महसूस करने लगते हैं। क्योंकि आपके शरीर में पोषण की कमी होती है, इसलिए दिमाग बार-बार उस ओर जाता है। ऐसे में आप काम की ओर ध्यान नहीं लगा पाते। अगर आप इस दुविधा में हैं कि आपको नाश्ते में क्या खाना चाहिये तो इसके लिए आप किसी आहार- विशेषज्ञ से मदद ले सकते हैं। वह आपके बीएमआई के आधार पर सही नाश्ता चुनने में मदद करेगा। इसके साथ ही अगर आप वजन कम करना चाहते हैं, तो भी वह आपकी मदद करता है।

डायबीटीज

डायबीटीज
6/8

आपके खाने की आदत और सेहत का गहरा ताल्लुक है। जो लोग अक्सर सुबह का नाश्ता छोड़ देते हैं या जल्दबाजी में आधा-अधूरा करते हैं उन्हें टाइप 2 डायबीटीज का खतरा बहुत ज्यादा होता है। इससे आपका ब्लड शुगर लेवल प्रभावित होता है और आपको डिप्रेशन, टेंशन और बेचैनी भी हो सकती है। ब्लड शुगर के एक स्तर से ज्यादा गिर जाने से शरीर में एनर्जी लेवल प्रभावित होता है और इसके परिणाम घातक हो सकते हैं।

सुस्ती और थकान

सुस्ती और थकान
7/8

अगर आप सुबह का नाश्ता छोड़ देते हैं तो आपको दिनभर सुस्ती और थकान महसूस होगी, भले ही आपने खाने में भरपेट भोजन कर लिया हो। असल में सुबह के समय पेट पोषक तत्वों को अवशोषित करने के लिए तैयार होता है। ऐसे में अगर आप नाश्ता छोड़ देते हैं तो इससे शरीर को दिन भर के काम के लिए ऊर्जा नहीं मिल पाती है और आपको दिनभर सुस्ती और थकान महसूस होती है।

विशेषज्ञ से लें मदद

विशेषज्ञ से लें मदद
8/8

अगर आप इस दुविधा में हैं कि आपको नाश्ते में क्या खाना चाहिये तो इसके लिए आप किसी आहार- विशेषज्ञ से मदद ले सकते हैं। वह आपके बीएमआई के आधार पर सही नाश्ता चुनने में मदद करेगा। इसके साथ ही अगर आप वजन कम करना चाहते हैं, तो भी वह आपकी मदद करता है। image courtesy : getty image

Disclaimer