नुराइटिस के लिए आयुर्वेदिक घरेलू नुस्‍खे

नुराइटिस पेरीफेरल नर्वस सिस्टम और ऑप्टिक नर्वस को प्रभावित करता है, लेकिन नुराइटिस के लिए विभिन्न घरेलू उपचार उपलब्‍ध हैं। आप नुराइटिस से संबंधित विकारों को दूर करने के लिए इनका उपयोग कर सकते हैं।

Pooja Sinha
Written by:Pooja SinhaPublished at: Apr 28, 2016

क्‍या है नुराइटिस (neuritis)

क्‍या है नुराइटिस (neuritis)
1/7

नुराइटिस पेरीफेरल नर्वस सिस्टम और ऑप्टिक नर्वस को प्रभावित करता है, लेकिन दोनों ही स्थिति में यह समस्‍या बहुत नाजुक होती है। पेरीफेरल नुराइटिस से पीड़ि‍त होने पर पेरीफेरल नर्वस सिस्‍टम का हिस्‍सा क्षतिग्रस्‍त हो सकता है। इसके कारण अस्थिर गति, कंपन और अकड़न महसूस होती है। आप थका हुआ, गंभीर दर्द के साथ खुजली और सिहरन भी महसूस कर सकते है। लेकिन ऑप्टिक नुराइटिस से पीड़ि‍त होने पर  ऑप्टिक नर्वस में सूजन हो सकती है। इसके साथ ही आप दृष्टि हानि, कलर ब्लाइंडनेस आदि का अनुभव हो सकता है। ऑप्टिक नर्वस आमतौर पर बैक्‍टीरिया के इंफेक्‍शन और पेरीफेरल नुराइटिस डायबिटीज जैसी बीमारियों के माध्‍यम से होता है। दोनों ही मामलों में उचित उपचार से समस्‍या को दूर कर सकते हैं। रोग के निदान और उपचार योजना के लिए चिकित्‍सक से परामर्श करें। हालांकि आप उपचार की प्रभावकारिता को बढ़ाने में अपनी भूमिका निभा सकते हैं। नुराइटिस के लिए विभिन्न घरेलू उपचार उपलब्‍ध हैं। Image Source : i.ytimg.com

विटामिन का सेवन

विटामिन का सेवन
2/7

देखा गया है कि भोजन में विटामिन की कमी भी नुराइटिस के कारणों में से एक है। विटामिन की कमी जैसे विटामिन बी-1, बी-6, बी-12, पेंटोथेनिक एसिड आदि नुराइटिस के लिए जिम्‍मेदार होता है। इसलिए विटामिन की कमी को पूरा करने के लिए आपको आहार में भरपूर मात्रा में विटामिन की जरूरत होती है। आपको अधिक मात्रा में विटामिन डेयरी उत्पाद, मीट, अंडे, यीस्‍ट, ब्रोकोली, अंडे, नट्स, दालें, मछली, ब्राउन राईस, एनिमल लीवर आदि में मिल जाता हैं। इसलिए नुराइटिस को ठीक करने के लिए अपने नियमित आहार में इन्‍हें शामिल करें।

बेकिंग सोडा का कमाल

 बेकिंग सोडा का कमाल
3/7

ब्‍लड और टिश्‍युओं में बहुत अधिक मात्रा में एसिड भी नुराइटिस के लिए जिम्‍मेदार होता है। इसलिए नुराइटिस के प्रभाव को कम करने के लिए शरीर में एसिड के अनुपात को नीचे लाना बहुत जरूरी होता है। इस समस्‍या में बेकिंग सोडा आपकी मदद कर सकता है। इसमें मौजूद क्षारीय गुण के कारण कई उपायों में पारंपरिक रूप से इसका इस्‍तेमाल किया जाता है। रोजाना एक गिलास पानी में एक चुटकी बेकिंग सोडा मिलाकर पीने की आदत डालें। इससे धीरे-धीरे आपके ब्‍लड का पीएच बढ़ने लगेगा और नुरा‍इटिस के लक्षण धीरे-धीरे लेकिन हमेशा सके लिए दूर हो जायेगें।

सोयाबीन दूध और शहद

सोयाबीन दूध और शहद
4/7

यह नुराइटिस के लिए सबसे अच्‍छे उपचारों में से एक है। सोयाबीन का दूध शहद के साथ मिक्‍स करने से यह विटामिन बी, लेसिथिन और ग्लुटमिक एसिड से भरपूर हो जाता है और यह सभी नर्वस सिस्‍टम की रक्षा में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यह तत्‍व नर्वस सिस्‍टम को मजबूत करने में मदद करता हैं। समस्‍या होने पर एक कप सोया मिल्‍क में एक चम्‍मच शहद डालकर, अच्‍छी तरह से मिलाये। इसे हर रात को सोने से पहले लें।

पालक और गाजर

पालक और गाजर
5/7

विटामिन और मिनरल की कमी से नुराइटिस की समस्‍या होती है। पालक और गाजर दोनों ही कई प्रकार के आवश्‍यक विटामिन और मिनरल से भरपूर होता है। दोनों में ही उत्‍कृष्‍ट एंटी-ऑक्‍सीडेंट बीटा कैरोटीन मौजूद होता है। इसलिए नुराइटिस के गंभीर प्रभाव को कम करने के लिए नियमित रूप से पालक और गाजर लें। आप पालक या गाजर का जूस भी ले सकते हैं। यह नर्वस सिस्‍टम को मजबूत कर दर्द से राहत प्रदान करता है। समस्‍या होने पर 300 मिलीलीटर गाजर और 200 मिलीलीटर पालक का जूस अच्‍छी तरह से मिलाकर लें।

अनानास का जादू

अनानास का जादू
6/7

अनानास में कुछ बहुत ही आवश्‍यक विटामिन होते हैं जो नुराइटिस से प्रभावी ढंग से लड़ सकते हैं। अनानास में मौजूद कुछ आवश्‍यक एसिड में रोग के इलाज करने की क्षमता होती है। साथ ही यह इम्‍यून सिस्‍टम और नर्वस सिस्‍टम को मजबूत बनाता है। इसलिए नुराइटिस की समस्‍या को ठीक करने के लिए नियमित रूप से एक कम अनानास का जूस पीने की आदत बनायें।

जौ का काढ़ा

जौ का काढ़ा
7/7

जौ एक और प्राकृतिक तत्व है, जो नुराइटिस के इलाज में काफी कारगर होता है। यह नुराइटिस से होने वाले तेज दर्द को रोकने में सहायक होता है। अपने शीतलक और सुखदायक प्रभाव के कारण यह नर्वस सिस्‍टम को शांत रखता है। जौ का काढ़ा बनाने के लिए एक गिलास जौ लेकर उसे पानी में उबाल लें जब पानी आधा रह जाये तो इसे बंद करके ठंडा होने के लिए रख दें।अच्‍छा परिणाम पाने के लिए इसमें थोड़ा सा बटरमिल्‍क और लाइम मिला दें। यह नर्वस सिस्‍टम को मजबूती देने के साथ अन्‍य लाभ भी देता है। लाइम विटामिन सी से भरपूर होने के लिए इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूती देता है। इसलिए जौ के काढ़े, बटर मिल्‍क और लाइम जूस का शक्तिशाली संयोजन नुराइटिस के लिए फायदेमंद होता है। Image Source : Getty

Disclaimer