साइनस रोगियों को नहीं खाने चाहिए ये 8 फूड्स, बढ़ा सकते हैं लक्षणों की गंभीरता

साइनस रोगियों को अपने आहार में ऐसे खाद्य पदार्थों को नहीं शामिल करना चाहिए, जिससे उनकी परेशानी बढती है। जानते हैं ऐसे 8 फूड्स के बारे में-

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jul 14, 2021

साइनस रोगी न खाएं ये 8 फूड

साइनस रोगी न खाएं ये 8 फूड
1/10

बढ़ते प्रदूषण और धूल-मिट्टी की वजह से आज के समय में साइनस की समस्या काफी आम हो चुकी है। साइनस बढ़ने के समय होने वाला दर्द बहुत ही कष्टदायक होता है। साइनस इंफेक्शन से बचने के लिए हमें अपनी इम्यूनिटी पावर को बूस्ट करने की जरूरत होती है। साथ  इस दौरान ऐसे फूड्स का सेवन करने की सलाह दी जाती है, जो इम्यूनिटी को बढ़ावा दे सकते हैं। इसके अलावा कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं, जिससे साइनस की परेशानी बढ़ सकती है। चलिए जानते हैं उन खाद्य पदार्थों के बारे में-  

कैफीनयुक्त चाय-कॉफी

कैफीनयुक्त चाय-कॉफी
2/10

साइनस से ग्रसित रोगियों के शरीर में पानी की कमी होने लगती है। जिसकी वजह से उनका नाक जाम होने लगता है। कैफीनयुक्त पेय पदार्थ जैसे चाय, कॉफी का सेवन करने से शरीर में पानी की कमी बढ़ने लगती है। इससे मरीजों में नाक बंद की समस्या बढ़ सकती है। इसलिए साइनस के रोगियों को चाय-कॉफी का सेवन कम करने की सलाह दी जाती है।

वसा युक्त चीजों से रहें दूर

वसा युक्त चीजों से रहें दूर
3/10

साइनस रोगियों को वसा युक्त आहार जैसे- पिज्जा, बर्गर, मीट, दूध, पनीर, तेल इत्यादि से दूर रहने की सलाह दी जाती है। दरअसल, इन चीजों में मौजूद फैट एपीडोज (Epidose) टिश्यूज के सूजन का कारण बनता है। इसलिए साइनस रोगियों को फैट युक्त आहार न खाने की सलाह दी जाती है।

ठंडी चीजों को कहें न

ठंडी चीजों को कहें न
4/10

साइनस रोगियों को ठंडी चीजों का सेवन न करने की सलाह दी जाती है। आइसक्रीम, कोल्ड्रिंक्स या फिर अन्य ठंडी चीजों के सेवन से शरीर में संक्रमण बढ़ने का खतरा रहता है। इसके कारण दाढ़ और सिर में तीव्र दर्द होने लगता है। ठंडी चीजों के सेवन से साइनस की तकलीफ काफी ज्यादा बढ़ने लगती है। इसलिए साइनस रोगियों को ठंडी चीजें न खाने की सलाह दी जाती है।

डेरी प्रोडक्ट्स से रहें दूर

डेरी प्रोडक्ट्स से रहें दूर
5/10

साइनस से ग्रसित मरीजों को डेरी प्रोडक्ट्स का सेवन न करने की सलाह दी जाती है। चाहे वह दूध और पनीर ही क्यों न हो। इन प्रोडक्ट्स के सेवन से साइनस का संक्रमण बढ़ने का खतरा रहता है। इसके अलावा कुछ लोगों को अन्य कैल्शियमयुक्त चीजें न लेने की सलाह दी जाती है। इससे साइनस की समस्या बढ़ने का खतरा रहता है।

रेड मीट को कहें न

रेड मीट को कहें न
6/10

रेड मीट में प्रोटीन भरपूर रूप से होता है। इसलिए कई साइनस रोगियों को रेड मीट न खाने की सलाह दी जाती है। इससे साइनस का इंफेक्शन बढ़ सकता है। साथ ही साइनस रोगियों को सांस से जुड़ी परेशानी हो सकती है। ऐसे में अगर आपको साइनस है, तो रेड मीट के सेवन से बचें।

शराब और धूम्रपान से रहें दूर

शराब और धूम्रपान से रहें दूर
7/10

कैफीनयुक्त चीजों के सेवन से शरीर डिहाइड्रेट हो जाता है। शराब और धूम्रपान की चीजों में कैफीन होता है। इससे आपका म्यूकस गाढ़ा हो जाता है, जो संक्रमण को काफी ज्यादा उत्तेजित करता है। अगर शरीर में पानी की कमी होने लगे तो म्यूकस का फ्लो रूक जाता है, जिससे साइनस की परेशानी बढ़ सकती है।

टमाटर का सेवन करें बंद

टमाटर का सेवन करें बंद
8/10

साइनस रोगियों को टमाटर न खाने की सलाह दी जाती है। दरअसल, टमाटर में प्राकृतिक रूप से अम्लीय गुण होता है। अगर आप टमाटर का सेवन करते हैं, तो आपके शरीर में हिस्माटिन का स्तर बढ़ने लगता है। जिसके कारण साइनस क्षेत्र में एलर्जी बढ़ने लगती है। ऐसी स्थिति होने पर साइनस रोगियों को कई तरह की परेशानियों से जूझना पड़ता है। इसलिए साइनस से परेशान लोगों को टमाटर न खाने की सलाह दी जाती है। 

मसालेदार खाद्य पदार्थ

मसालेदार खाद्य पदार्थ
9/10

मसालेदार भोजन का सेवन करने से भी म्यूकस का जमाव पैदा होता है। कुछ मामलों में आपने देखा होगा कि मसालेदार खाना खाने से व्यक्ति का नाक बहने लगता है, जिससे व्यक्ति का म्यूकस बाहर निकल जाता है। लेकिन हर एक मामलों में ऐसा नहीं है। अगर मसालेदार खाना खाने से आपकी नाक बंद या जाम हो जाती है, तो आज ही मसालेदार चीजों का सेवन बंद कर दें।

10/10

अगर आप साइनस से पीड़ित हैं, तो अपने डाइट में इन चीजों को शामिल न करें। इसके अलावा साइनस रोगियों को कार्बोहाइड्रेट, ओमेगा-7 फैटी-एसिड, ग्लूटेन और केसीन युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से भी बचना चाहिए। अगर आपको साइनस है, तो किसी अच्छे डॉक्टर की सलाहनुसार अपने डाइट का चुनाव करें। इससे आपका स्वास्थ बेहतर होगा।   

Disclaimer