गाल ब्लैडर को रखना है स्वस्थ और पथरी मुक्त, तो कम कर दें इन 5 आहारों का सेवन

गाल ब्लैडर यानी पित्ताशय के काम के बारे में आमतौर पर लोग बहुत कम जानते हैं। ज्यादातर लोग सिर्फ इतना जानते हैं कि गाल ब्लैडर यानी पित्ताशय में पथरी होती है। पित्ताशय की पथरी के मामले पिछले कुछ समय में काफी बढ़ गए हैं। इसका कारण लोगों का खानपान है। कुछ ऐसे आहार हैं, जो गाल ब्लैडर की समस्या को बढ़ा देते हैं। इसलिए अगर आप भी इन आहारों का सेवन अक्सर करते हैं, तो सावधान हो जाएं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Dec 11, 2018

ब्रेड, रस्क और अन्य बेकरी उत्पाद

ब्रेड, रस्क और अन्य बेकरी उत्पाद
1/6

बेकरी में बने उत्पाद जैसे- ब्रेड, मफिन्स, कुकीज, कप केक आदि का सेवन गाल ब्लैडर के स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। दरअसल इन फूड्स में सैचुरेटेड और ट्रांस फैट की मात्रा बहुत ज्यादा होती है और इनमें से ज्यादातर फूड्स मैदे से बने होते हैं। अगर आपको गाल ब्लैडर से संबंधित कोई रोग है, तो इन उत्पादों का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए। इसकी जगह पर आप मोटे अनाज से बने आहारों का सेवन करें।

ज्यादा प्रोटीन भी है खतरनाक

ज्यादा प्रोटीन भी है खतरनाक
2/6

अगर आपको अपने गाल ब्लैडर को स्वस्थ रखना है, तो जानवरों में पाये जाने वाले प्रोटीन की मात्रा सीमित कर देनी चाहिए। दरअसल जानवरों में पाए जाने वाले प्रोटीन से कैल्शियम स्‍टोन और यूरिक एसिड स्‍टोन के होने का खतरा बढ़ जाता है। मछली, मांस, में प्रोटीन के साथ कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है, इसलिए इनका सेवन बहुत अधिक नहीं करें। अगर आपको गाल ब्लैडर या किडनी में पथरी है, तब तो इनका सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए।

मीठी चीजों का सेवन

मीठी चीजों का सेवन
3/6

मीठी चीजों में रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट काफी मात्रा में पाया जाता है। इसके साथ ही चीनी के ज्यादा सेवन से कोलेस्ट्रॉल गाढ़ा होता है, जिससे दिल के रोगों के साथ-साथ गाल ब्लैडर में पथरी का खतरा भी बढ़ जाता है। इसलिए मीठी चीजों का बहुत अधिक सेवन नहीं करना चाहिए।

गर्भनिरोधक दवाएं

गर्भनिरोधक दवाएं
4/6

ज्यादा मात्रा में या जल्दी-जल्दी गर्भनिरोधक दवाओं का प्रयोग करने वाली महिलाओं में भी गाल ब्लैडर की समस्या काफी पाई जाती है। इसलिए महिलाओं को चाहिए कि दवाओं के बजाय अन्य प्रकार के गर्भनिरोधक उपायों को अपनाएं, क्योंकि दवाओं का ज्यादा सेवन उन्हें गाल ब्लैडर में पथरी का मरीज बना सकता है। इसके अलावा इन दवाओं का किडनी और लिवर पर भी बुरा असर पड़ता है।

कॉफी

कॉफी
5/6

अगर आप कॉफी का ज्यादा सेवन करते हैं, तो भी आपको गाल ब्लैडर की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए जिन लोगों को गाल ब्लैडर में पहले ही पथरी या अन्य कोई शिकायत है, उन्हें कॉफी का सेवन बिल्कुल बंद कर देना चाहिए। जो लोग स्वस्थ हैं, वो दिन में एक या दो कॉफी पी सकते हैं मगर इससे ज्यादा कॉफी का सेवन नहीं करना चाहिए।

सोडा का सेवन

सोडा का सेवन
6/6

पथरी होने पर पानी का अधिक सेवन करने की सलाह दी जाती है, लेकिन कुछ पेय पदार्थ ऐसे भी होते हैं जो पथरी होने पर नहीं पीना चाहिए। स्‍टोन होने पर सोडा का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए, इसमें फॉस्‍फोरिक एसिड होता है जो स्‍टोन के खतरे को बढ़ाता है।

Disclaimer