सेम के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के बारे में जानें

सेम खाने में स्‍वादिष्‍ट होने के साथ पौष्टिक भी होती है। इसे कई बीमारियों को ठीक करने की अचूक औषधि माना जाता है। आइए सेम के स्‍वास्‍थ्‍य गुणों की जानकारी लेते हैं।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Jun 16, 2016

सेम के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

सेम के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ
1/6

सेम की सब्‍जी हर घर में बनाई और बहुत चाव से खाई जाती है। यह खाने में स्‍वादिष्‍ट होने के साथ पौष्टिक भी होती है। इसे कई बीमारियों को ठीक करने की अचूक औषधि माना जाता है। सेम में मैग्नेशियम, कैल्शियम, आयरन और विटामिन 'ए' की भरपूर मात्रा होती है। इसके बीज में ढेर सारा प्रोटीन होता है। सेम को दाहजनक, बलकारी, शीतल, कफ और पित्त नाशक करने वाला कहा जाता है। सेम में कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने वाले फाइबर होते हैं। यह ब्‍लड शुगर लेवल को कंट्रोल करता है, इसलिये डायबिटीज रोगियों को इसे अपने आहार में जरुर शामिल करना चाहिये। आइए सेम के स्‍वास्‍थ्‍य गुणों की जानकारी लेते हैं।

प्रोटीन का महत्वपूर्ण स्रोत

प्रोटीन का महत्वपूर्ण स्रोत
2/6

सेम संयंत्र प्रोटीन का महत्वपूर्ण स्रोत हैं। सेम में मौजूद प्रोटीन के कई पोषण लाभ होते हैं। प्रोटीन आपके बाल और नाखूनों को मजबूत रखता है। आपका शरीर इस प्रोटीन की मदद से कमजोर और क्षतिग्रस्‍त मसल्‍स की मरम्‍मत करता है। सेम प्रोटीन मीट प्रोटीन की तुलना में बेहतर तरीके से पच जाता है। इसके अलावा, सेम एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन, मिनरल, और संयंत्र स्टेरोल्स का समृद्ध स्रोत हैं।

फाइबर से भरपूर

फाइबर से भरपूर
3/6

पाचन क्रिया को दुरुस्‍त रखने के लिए आहार में फाइबर की अच्‍छी मात्रा का होना बहुत जरूरी होता है और सेम से आपको फाइबर तो मिलता ही है साथ ही इसमें कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा भी कम होती है। जिससे दिल सुरक्षित रहता है। एक अध्‍ययन के अनुसार जिन लोगों ने सेम का सेवन लंबे समय तक किया, उन्हें दिल के रोग का खतरा कम हुआ क्योंकि इसमें मैग्नीशियम की मात्रा अधिक होती है, जो हार्ट ब्लॉकेज को रोकती है।

एनर्जी और आयरन का भंडार

एनर्जी और आयरन का भंडार
4/6

सेम ब्‍लड में ब्लड शुगर लेवल को संतुलित करती है और शरीर को ढेर सारी एनर्जी प्रदान करती है। सेम एनर्जी और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होने के साथ शरीर को बहुत सारा आयरन भी देती है। यह महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होता है क्‍योंकि अक्‍सर महिलाओं में हीमोग्‍लोबिन की मात्रा पुरुषों की तुलना में कम होती है।

विटामिन का मुख्‍य स्रोत

विटामिन का मुख्‍य स्रोत
5/6

सेम में विटामिन बी6, थाइमीन, पैंथोथेनिक एसिड और नियासिन पाया जाते है, जो शरीर के लिए आवश्यक होते हैं। इसके अलावा सेम की फली में बादाम के बराबर विटामिन-ई होता है। इसके सेवन से न्यूरो सिस्टम और ब्रेन संबंधी समस्याएं नहीं होतीं। इसलिए अपने शरीर में विटामिन की कमी को पूरा करने के लिए अपने आहार में सेम को शामिल करें।

मैग्नीशियम और पोटेशियम

मैग्नीशियम और पोटेशियम
6/6

मैगनीशियम मैंगनीज और कैल्शियम के साथ काम करके हड्डियों को मजबूत बनाती है। यह महत्‍वपूर्ण मिनरल सेम सहित कई प्रकार के खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। इस मिनरल से भरपूर आहार को खाने से मांसपेशियों में कमजोरी, सिर में दर्द और कई अन्‍य प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर किया जा सकता है। पोटे‍शियम सेल उत्‍पादन और मसल्‍स के संकुचन में इस्‍तेमाल होने वाला एक इलेक्‍ट्रोलाइट है। यह दिल और पाचन की सेहत में महत्‍पवूर्ण भूमिका निभाता है। पोटेशियम आपके शरीर के कई अन्‍य मिनरल के साथ काम करता है। यह कैल्शियम, मैंगनीज और मैग्नीशियम की  मदद से हड्डियों को मजबूत बनाए रखने रखता है।Image Source : Getty

Disclaimer