दस चीजें जो छीन सकती हैं आपकी प्‍यारी मुस्‍कान

एक प्‍यारी सी मुस्‍कान कितने कामों को आसान बना देती है। तनाव और चिंता को दूर कर सकती हैं। लेकिन कुछ चीजें जाने अनजाने आपकी मुस्‍कान को नुकसान पहुंचा सकती हैं। जानिये कौन सी हैें वे दस चीजें।

Bharat Malhotra
Written by: Bharat MalhotraPublished at: Nov 24, 2014

आपकी मुस्‍कान

आपकी मुस्‍कान
1/11

खूबसूरत और प्‍यारी मुस्‍कान किसी के भी दिल में आपकी जगह बना सकती है। और आप इसे हमेशा बरकरार भी रखना चाहेंगे। आप ब्रश भी करते हैं, वाइट स्ट्रिप भी इस्‍तेमाल करते हैं और साल में दो बार डेंटिस्‍ट के पास भी जाते हैं, लेकिन स्‍वस्‍थ मुस्‍कान के लिए केवल इतना ही जरूरी नहीं है। कई चीजें हैं जो आपके दांतों को नुकसान पहुंचा सकती हैं। और आपको इनसे बचना जरूरी है। Image Courtesy- Getty Images

स्‍पोटर्स ड्रिंक

स्‍पोटर्स ड्रिंक
2/11

हम सब ऊर्जा के लिए इनका सेवन करते हैं, लेकिन ये हमारे दांतों के लिए अच्‍छी नहीं होतीं। वैज्ञानिक शोध में यह साबित हुआ है कि इसमें मौजूद अम्‍लीय तत्‍वों की अधिक मात्रा दांतों को नुकसान पहुंचा सकती है। इससे दांतों का इनेमल नष्‍ट हो जाता है। इसके साथ ही इन स्‍पोटर्स ड्रिंक में शर्करा की अधिक मात्रा होती है, जिससे मुंह में अधिक बैक्‍टीरिया पैदा होती हैं जो कैविटी का कारण बनते हैं। Image Courtesy- Getty Images

डायबिटीज

डायबिटीज
3/11

डायबिटीज के कारण संक्रमण के प्रति शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। इससे आपको मसूड़ों की बीमारी होने का खतरा भी बढ़ जाता है। ब्रश करने, फ्लोसिंग और अपनी ब्‍लड शुगर पर नजर रखने से आपको इस संदर्भ में लाभ हो सकता है। डायबिटीज से कई बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है और इसलिए जरूरी है कि आप न केवल मसूड़ों बल्कि अन्‍य बीमारियों की जांच के प्रति भी सचेत रहें। डायबिटीज के कारण मसूड़ों के लिए जरूरी इनसुलिन के स्‍तर में भी गिरावट आती है। Image Courtesy- Getty Images

तंबाकू

तंबाकू
4/11

धूम्रपान करने से दांत पीले हो जाते हैं। लेकिन इसके नुकसान अधिक भयावह होते हैं। किसी भी रूप में तंबाकू का सेवन करने से आपके दांतों और मसूड़ों को बेहद नुकसान पहुंचाता है। इससे गले और मुंह का कैंसर हो सकता है और कई मामलों में यह मृत्‍यु का कारण भी बन सकता है। तंबाकू में मौजूद टार से दांतों पर एक परत जम जाती है, जिसमें बैक्‍टीरिया उत्‍पन्‍न होता है। इससे दांतों और मसूड़ों को काफी नुकसान हो सकता है। Image Courtesy- Getty Images

वाइन

वाइन
5/11

वाइन को दिल के लिए अच्‍छा माना जाता है, लेकिन नियमित रूप से इसका सेवन दांतों के कुदरती इनेमल को नुकसान पहुंचा सकता है। दंत विशेषज्ञों के अनुसार वाइन में मौजूद अम्‍लीय तत्‍व दांतों की संरचना को क्षतिग्रस्‍त कर सकते हैं। वाइन पीते समय जब वह काफी समय तक दांतों के संपर्क में रहती है या आप बड़े घूंट भरते हैं, तो उससे दांतों का इनेमल नष्‍ट हो जाता है। तो छोटे सिप भरें और पीने के बाद साफ पानी से कुल्‍ला करें। Image Courtesy- Getty Images

गर्भावस्‍था

गर्भावस्‍था
6/11

गर्भावस्‍था के दौरान आपको अपने दांतों की खास देखभाल करने की जरूरत होती है। शोधों में यह प्रमाणित हुआ है कि मसूड़ों की बीमारी का संबंध समय-पूर्व प्रसव और सामान्‍य से कम वजन के बच्‍चे के जन्‍म, से होता है। गर्भवस्‍था के दौरान हॉर्मोंस में बदलाव आता है जिससे मसूड़ों में सूजन हो सकती है। यही समस्‍या आगे चलकर जिंजिवाइटिस का रूप ले सकती है। इससे मुख संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। अगर आपको मॉर्निंग सिकनेस की शिकायत होती है, तो उल्‍टी के बाद अपने दांतों को अच्‍छी तरह पेस्‍ट या बेकिंग सोडा से साफ करें। Image Courtesy- Getty Images

दांत पीसना

दांत पीसना
7/11

दांतों को पीसने से आपके मसूड़ों में परेशानी हो सकती है। इससे दर्द भी हो सकता है और कुछ मामलों में इससे आपके चेहरे की लुक भी बदल सकती है। दांतों को बार-बार रगड़ने से न केवल उनका इनेमल नष्‍ट होता है, बल्कि इससे वे कमजोर भी हो जाते हैं। ऐसा होने से दांतों में सेंसेटिविटी बढ़ जाती है। तनाव और गुस्‍से में लोग अकसर दांत पीसने लगते हैं। यह अच्‍छी आदत नहीं। अपनी भावनाओं को जाहिर करने के वै‍कल्पिक उपाय तलाशिये। Image Courtesy- Getty Images

किशोरावस्‍था

किशोरावस्‍था
8/11

किशोरावस्‍था में हॉमोंस में आने वाले बदलावों से मसूड़ों में सूजन की शिकायत हो सकती है। इससे संक्रमण, जिंजिवाइटिस, मुंह में छाले आदि भी हो सकते हैं। लेकिन, आमतौर पर ऐसी परेशानी तभी होती है, जब मसूड़ों की साफ-सफाई का अच्‍छी तरह ध्‍यान न रखा जाए। किशोरावस्‍था में दांतों की अच्‍छी तरह सफाई करें और नियमित रूप से डेंटिस्‍ट के पास जाएं। Image Courtesy- Getty Images

मुंह का रुखापन

मुंह का रुखापन
9/11

मुंह का रुखापन भी दांतों को नुकसान पहुंचा सकता है। साल्विया के कारण कैविटी उत्‍पन्‍न करने वाले बैक्‍टीरिया और हानिकारक एसिड नष्‍ट हो जाते हैं। साल्विया के बिना आपके दांतों में परेशानी बढ़ सकती है। इसके अलावा आपको कई अन्‍य ओरल डिजीज भी हो सकती हैं। इससे बचने के लिए खूब पानी पियें, शुगर-लैस च्‍युइंग गम चबायें और साथ ही दंत चिकित्‍सक से संपर्क करें। Image Courtesy- Getty Images

डायटिंग

डायटिंग
10/11

खानापन की खराब आदतें और डायटिंग के काराण भी ऐसी समस्‍यायें हो सकती हैं। जरूरी है कि आप अपने आहार में जरूरी पोषक तत्‍वों को शामिल करें। इससे आपकी मुस्‍कान कायम रहेगी। जरूरी है कि आप विटामिन बी, प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन सी आदि युक्‍त आहार का पर्याप्‍त मात्रा में सेवन करें। Image Courtesy- Getty Images

Disclaimer