आप चाहती हैं कि आपका पार्टनर मेनोपॉज के बारे में जानें ये 5 बातें

मेनोपॉज के दौरान महिलाओं की स्थिति कई तरीके से बदलती है, कई तरह के उतार-चढ़ाव आते हैं, ऐसे में एक महिला यह चाहती है कि उसके पार्टनर को मेनोपॉज से जुड़ी ये बातें पता होनी चाहिए।

Gayatree Verma
Written by: Gayatree Verma Published at: Dec 15, 2015

महिलाओं में मेनोपॉज

महिलाओं में मेनोपॉज
1/6

हर महिला को अपने जीवन में मेनोपॉज के दौर से गुजरना होता है। यह वो समय है जब महिलाओं में पीरियड्स बंद हो जाते हैं। यह 45-50 वर्ष की उम्र में होता है। कई महिलाओं को जानकारी के अभाव में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में कई बार उनके पार्टनर भी उनको सपोर्ट नहीं करते हैं। ऐसे में महिलाओं की चाहत होती है कि कम से कम मेनोपॉज के इन 5 लक्षणों के बारे में तो उनका पार्टनर जरूर जानें।

वजन बढ़ना

वजन बढ़ना
2/6

शादी के बाद महिलाओं का वजन बढ़ना आम बता है। लेकिन अगर कुछ महिलाओं ने अपने आपको शादी के बाद भी मेंटेन रखा है तो भी मेनोपॉज के बाद ये संभव नहीं हो पाता। मेनोपॉज के समय महिलाओं के भार में वृद्धि हो जाया करती है एवं संधियों में पीड़ा होने लगती है।

होता है वजाइनल ड्रायनेस

होता है वजाइनल ड्रायनेस
3/6

मेनोपॉज का सबसे सामान्य लक्षण होता है वजाइनल ड्रायनेस। मेनोपॉज में वजिना का ड्रायनेस होना मतलब सेक्स के दौरान दर्द होना। मेनोपॉज की शुरुआत होने पर वजिना की दीवार पतली और कम लचीली हो जाती है। जिससे वजीना की चिकनाहट कम हो जाती है। ऐसे में संबंध बनाने के दौरान दर्द और ब्लीडिंग भी होती है।

इच्‍छाओं में उतार-चढ़ाव

इच्‍छाओं में उतार-चढ़ाव
4/6

मेनोपॉज के दौरान महिलाओं में संबंध बनाने की तीव्र इच्छा होती है। लेकिन एक समय के बाद यह इच्छा धीरे-धीरे खत्म हो जाती है। ऐसे में उनके पार्टनर से दूर जाना आम बात है क्योंकि ये लक्षण पुरुषों की समझ से बाहर होते हैं।

थकान होना

थकान होना
5/6

इन दौरान कभी-कभी महिलाओं को अत्यधिक गर्मी महसूस होने लगती है तथा पसीना प्रकट होने लगता है। कभी-कभी स्त्री के सभी अंग थोड़ी देर के लिए सुन्न हो जाते हैं और अत्यधिक थकान महसूस करने लगती है।

इन लक्षणों को भी जानें

इन लक्षणों को भी जानें
6/6

मेनोपॉज के बाद त्वचा में ढीलापन होना, योनि में खिंचावट व जलन के साथ बार-बार पेशाब आना, नींद ठीक से न आना चिड़चिड़ापन आदि। यह सब लक्षण हारमोन के स्तर में होने वाले बदलाव की वजह से होते हैं। इससे महिलाएं शारीरिक के साथ मानसिक तौर पर परेशान हो जाती हैं और उनकी चाहत होती हो कि इन परेशानियों को उनके पार्टनर भी समझें।

Disclaimer