जानें उम्र से पहले झुर्रियां आने के 5 कारण

कई बार समय से पहले ही झुर्रियां आने लगती हैं। ऐसा आपके इन 5 लापरवाहियों के कारण होता है जिसके बारे में विस्तार से इस स्लाइडशो में जानें और ऐसी लापरवाहियां करने से बचें।

Meera Roy
Written by: Meera RoyPublished at: Aug 22, 2016

झुर्रियों का आना

झुर्रियों का आना
1/6

40 वर्षीय रानी यूं तो गोरी, लम्बी और खूबसूरत है। लेकिन कुछ दिनों पहले आयने के सामने खड़े होते वक्त अचानक उसे झटका लगा। क्योंकि उसकी उम्र अभी चेहरे पर झुर्रियों की नहीं थी। जबकि उसके चेहरे की त्वचा लटकने लगी है। भौंएं और आंखों के नजदीक त्वचा बढ़ती उम्र की घंटी बजा रही है। वह परेशान हो उठी। लेकिन अब उसका कोई खास इलाज उसे नहीं मिल रहा।यूं तो झुर्रियों का बढ़ती उम्र के साथ गहरा ताल्लुक है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि झुर्रियां हर समय उम्र के कारण ही देखने को मिले। इन दिनों देखने को मिल रहा है कि कम उम्र के लोगों में भी झुर्रियों की समस्या होने लगी है। सवाल उठता है कि ऐसा क्यों होता है? इसके पीछे कई वजहंे छिपी है। आइये इन वजहों पर गौर करते हैं।

बेकार मॉश्चराइजर

बेकार मॉश्चराइजर
2/6

अगर आप सही मॉश्चराइजर का इस्तेमाल नहीं करेंगे तो समय से पहले झुर्रियां आने की आशंका बनी रहेगी। जरूरी है कि ऐसे मॉश्चराइजर का इस्तेमाल करें जो अल्ट्रावायलेट रेज से आपकी सुरक्षा करे। अगर आपके मॉश्चराइजर में यह गुण नहीं होगा तो न सिर्फ आपकी त्वचा में झुर्रियां आने लगेंगी बल्कि आपका रंग सांवला भी होने लगेगा। इसके अलावा लोग अपनी जीवनशैली में एक सामान्य गलती करते हैं। वे अकसर सनस्क्रीन सनबाथ लेने में या पूल जाते समय इस्तेमाल करते हैं। जबकि सनस्क्रीन का हर समय इस्तेमाल करना चाहिए। क्योंकि सूरज की रोशनी सिर्फ पूल पर ही नहीं बल्कि आपके घर, रास्ता और हर उस जगह पड़ती है, जहां सूरज रोशनी पहुंच सकती है। अतः झुर्रियों से बचना है तो ऐसे मॉश्चराइजर का उपयोग करें जिसमें सूरज की रोशनी से बचाने की क्षमता हो। यही नहीं मॉश्चराइजर का हर समय इस्तेमाल करें।

मीठा खाना

मीठा खाना
3/6

आपको बता दें कि जो लोग अतिरिक्त मीठा खाते हैं, उन्हें भी समय से पहले झुर्रियां आने लगती हैं। कुछ लोगों को मीठा खाने का सिर्फ शौक नहीं होता बल्कि सनक होती है। अगर आप जवां दिखने के शौकीन हैं, ढलती उम्र में भी ऊर्जावान दिखना चाहते हैं तो मीठे से तौबा करें। मीठा न सिर्फ आपको हृदय सम्बंधी बीमारी गिफ्ट में दे सकता है बल्कि झुर्रियों का तोहफा भी अपने साथ लेकर आता है। आपको बता दें कि आपकी त्वचा एक ओर्गन होती है और चीनी ओर्गन के लिए कतई सही नहीं है। वह उस पर नकारात्मक प्रभाव डालती है। नतीजतन चेहरे पर झुर्रियां लटकने लगती हैं। यही नहीं चीनी या मीठा त्वचा में जलन जैसी समस्या भी पैदा कर सकती है। इस प्रक्रिया को ग्लाइकेशन कहा जाता है। यह त्वचा को कमजोर और इलास्टिक की माफिक बनाती देती है। सो, मीठा छोड़ने के लिए यह वजह शायद काफी है।

प्रदूषण

प्रदूषण
4/6

जो लोग शहरों में या ऐसी जगहों पर रहते हैं जहां बहुत ज्याद प्रदूषण है, वे भी झुर्रियों की समस्या से बावस्ता होते हैं। असल में प्रदूषण हमारी त्वचा को बुरी तरह प्रभावित करता है। प्रदूषण का मतलब सिर्फ चंद फैक्ट्रियों या घर के आसपास फैले कूड़ों से नहीं है। प्रदूषण शहर में बढ़ रही गाड़ियों के कारण भी हो सकता है। प्रदूषण प्राकृकि चीजों के नष्ट करने से भी बढ़ सकता है। कहने का मतलब यह है कि यदि आप प्रकृति से दूर हैं, तो यह आपकी त्वचा के लिए अच्छी खबर नहीं है। यूं तो मौजूद जीवनशैली में प्रदूषण हमारी जिंदगी का अभिन्न हिस्सा बन गया है। आफिस, कालेज या कहीं भी जाना हो, हमें प्रदूषण से दो चार होना ही होता है। लेकिन यदि संभव हो तो कोशिश करें कि प्रदूषण कम से कम हो और अपनी त्वचा को प्रदूषित रसायनों से दूर रखें। प्रदूषण से दूर रहने पर ही हम असमय आए झुर्रियों को मात दे सकते हैं या फिर उन्हें आने से रोक सकते हैं।

अपर्याप्त नींद

अपर्याप्त नींद
5/6

अपर्याप्त नींद की समस्या अब लगभग हर युवा को हो रही है। इसके पीछे बढ़ती प्रतिस्पर्धा तो है ही साथ ही रात में बढ़ते एंटरटेनमेंट के कारण भी ऐसा हो रहा है। लेकिन वजह चाहे जो भी हो, इसका असर हमारी त्वचा पर होता है। चेहरे पर झुर्रियां आने लगती हैं, आंखों के नीचे काले घेरे बढ़ जाती हैं। यही नहीं चेहरा हमेशा मुर्झाया हुआ रहता है। इस समस्या से निपटने के लिए चाहिए कि समय पर नींद लें और पर्याप्त नीदं लें।

धूम्रपान

धूम्रपान
6/6

धूम्रपान के तमाम नकारात्मक प्रभावों से हम सब वाकिफ हैं। धूम्रपान से कैंसर तो हो ही सकता है। साथ ही धूम्रपान हमारी जवानी को भी प्रभावित करती है। इसके कारण हमारा चेहरा बेकार हो जाता है। चेहरा हमेशा थकन से भरा रहता है। इसके इतर चेहरे पर झुर्रियां भी साफ दिखने लगती हैं। मतलब यह कि उम्र बढ़ी नहीं कि त्वचा में झुर्रियां लटकने लगी। बेहतर यही है कि धूम्रपान से दूर रहें।

Disclaimer