नो स्‍मोकिंग डे: आपके अंदर हैं ये 5 दोष, इसलिए नहीं छूट रही सिगरेट की लत

असल में हमारी कुछ नादानियां और कुछ गलतियों के कारण धूम्रपान की चाह हमारे सिर पर छायी रहती है। हमें चाहिए कि उन नादानियों से लड़ें और उन गलतियों को दोहराने से बचें जिनके कारण धूम्रपान की लत से हम उबर नहीं पाते। सवाल है कैसे?

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Mar 13, 2018

क्यों नहीं छूटती धूम्रपान की आदत?

क्यों नहीं छूटती धूम्रपान की आदत?
1/7

दिन, महीने, साल। सब गुजर जाते हैं लेकिन धूम्रपान छोड़ने की प्रतिज्ञा जस से तस नहीं होती। आखिर ऐसा क्यों होता है कि बार बार धूम्रपान छोड़ने चाह होने के बावजूद हम उससे दूर नहीं जा पाते? क्या वाकई धूम्रपान छोड़ना इतना मुश्किल है? जी, नहीं! असल में हमारी कुछ नादानियां और कुछ गलतियों के कारण धूम्रपान की चाह हमारे सिर पर छायी रहती है। हमें चाहिए कि उन नादानियों से लड़ें और उन गलतियों को दोहराने से बचें, जिनके कारण धूम्रपान की लत से हम उबर नहीं पाते। सवाल है कैसे? आइए हम मदद करते हैं।

एक बार में न छोड़ना

एक बार में न छोड़ना
2/7

बार बार खुद से, अपनों चाहने वालों से यह वायदा करने के बावजदू हम धूम्रपान, इसलिए नहीं छोड़ पाते क्योंकि हम अपने वायदे पर स्टिक नहीं रहते। धूम्रपान छोड़ने हेतु अपनी प्रतिज्ञा और अपनी चाहत के प्रति स्थाई होना जरूरी है। अगर आपने निश्चय किया है कि आप धूम्रपान नहीं करेंगे, तो इसे दृढ़निश्चय बनाएं। खुद पर काबू करें। चलो एक बार ले लेते हैं, अगली बार ऐसा नहीं करेंगे। इस तरह की सोच से उबरें।

ऐसी जगहों से बचना

ऐसी जगहों से बचना
3/7

हमारे दोस्त, साथी या सहकर्मी। हमें कहीं भी ऐसे लोग मिल सकते हैं, जो कि धूम्रपान की लत का शिकार हैं। लेकिन आपको करना यह है कि ऐसे लोगों से बचना है। उनसे दूरी बनानी है। दरअसल इस किस्म के लोग आपको धूम्रपान के लिए बार बार उक्साते हैं। न चाहते हुए भी धूम्रपान को आप छोड़ नहीं पाते। सो, इस बार चूंकि आपने दृढ़निश्चय किया है, तो ऐसे लोगों से सावधान रहें और दूरी बनाएं, जो धूम्रपान के बिना जी नहीं पाते।

ध्यान भटकाना

ध्यान भटकाना
4/7

धूम्रपान छोड़ने के दौरान कई लोग बार बार आपको पिंच करेंगे। आपका ध्यान भटकाएंगे। लेकिन आपको अपनी इच्छाशक्ति पर टिके रहना है। यदि आपको एक बार भी धूम्रपान करने की चाह हो, तो बेहतर यही है कि कहीं बाहर घूम आएं। यह ध्यान भटकाने का सबसे अच्छा तरीका है। दरअसल जिन लोगों से आप रोजाना रूबरू होते हैं, उनसे आप छुटकारा नहीं पा सकते। ऐसे में यदि आप कहीं घूम आए, तो कुछ दिनों के लिए ही सही लेकिन ध्यान कहीं और लगेगा। नतीजतन धूम्रपान की चाह में कमी आएगी।

परिजनों की मदद

परिजनों की मदद
5/7

क्या आपको लगता है कि आपके परिजन धूम्रपान छोड़ने में आपकी मदद नहीं करेंगे? कहीं आप ऐसा तो नहीं सोचते कि धूम्रपान छोड़ने के कारण, वे आपका मजाक उड़ा सकते हैं। क्योंकि पहले भी कई बार इस तरह के निश्चय कर आप असफलता को गले लगा चुके हैं। जरा ध्यान दें कि वह आपके अपने हैं। आपकी भलाई चाहेंगे। उन्हें कांफिडेंस में लें। उन्हें बताएं कि आपने दृढ़निश्चय किया है। यकीन मानें धूम्रपान छोड़ने में वह हर संभव मदद आपको देंगे। इसे भी पढ़ें: इन तरीकों से धूम्रपान को कहें अ‍लविदा

निकोटिन गम का सही इस्तेमाल करना

निकोटिन गम का सही इस्तेमाल करना
6/7

बाजार में निकोटेक्स और धूम्रपान छोड़ने हेतु कई गम मौजूद हैं। उनका आवश्यक रूप में इस्तेमाल करें। आपको बता दें कि कोई भी आदत एक दिन में नहीं छूटती। खासकर, जो नशे होते हैं मसलन धूम्रपान। उन्हें छोड़ना सहज नहीं होता। इसके लिए बाजार में उपलब्ध कई किस्म की दवाएं होती हैं। आप चाहें तो विशेषज्ञों की मदद भी ले सकते हैं। इससे आपको मदद मिलेगी। जबकि ज्यादातर लोग ऐसा करने से बचते हैं। धूम्रपान छोड़ने का यह गलत तरीका है। सही दिशा में हैं तो सही निर्देशों का आवश्यक रूप से पालन करें।

खुद की तारीफ

खुद की तारीफ
7/7

जैस कि सफलता एक दिन में हाथ नहीं लगती वैसे ही धूम्रपान एक दिन में नहीं छूट सकता। आप सबसे पहले कम-कम दिनों के लक्ष्य बनाएं। मान लीजिए आपने एक सप्ताह बिल्कुल धूम्रपान नहीं किया। ऐसे में खुद की तारीफ करें। यह आपको मानसिक रूप से बल देगा। जबकि ज्यादातर लोग खुद को यह कहकर कोसने की कोशिश करते हैं कि क्या सिर्फ एक सप्ताह हुए हैं? खुद की तारीफ करना अपनी सफलता को सरहाना होता है।

Disclaimer