नारियल के आटे के 5 स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के बारे में जानें

मिठाई के ऊपर लगा हुआ नारियल का बुरादा केवल टेस्ट के अनुसार ही नहीं बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। नारियल के आटे के सभी स्वास्थ्य लाभों के बारे में इस स्लाइड शो में विस्तार से जानें।

Gayatree Verma
Written by: Gayatree Verma Published at: Aug 25, 2016

नारियल के आटे में मौजूद पोषक-तत्व

नारियल के आटे में मौजूद पोषक-तत्व
1/6

एक कटोरी नारियल के आटे में कई सारे पोषक-तत्व मौजूद होते हैं। रोजाना खाने में सब्जी या दूध या आटे में एक कटोरी नारियल का आटा मिलाकर खाएं। ये एक कटोरी आटा आपको कई सारी बीमारियों से बचाएगा। इस स्लाइड शो में जानिए नारियल का आटा खाने से होते हैं क्या-क्या फायदे। 5ग्राम प्रोटीन  11ग्राम फाइबर 17ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स  4ग्राम फैट मिनरल्स

सीलिकाग्रस्त मरीजों के लिए फायदेमंद

सीलिकाग्रस्त मरीजों के लिए फायदेमंद
2/6

नारियल का आटा ग्लूटेन फ्री होता है और इस कारण ये स्वास्थ्य के लिए अधिक फायदेमंद होता है। जबकि अन्य तरह के आटे जैसे गेहूं और राई के आटे में ग्लूटेन काफी मात्रा में होता है जो स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाते हैं, खासकर सीलिका से पीड़ित मरीजों को। ग्लूटेन छोटी आंत की लाइनों को डैमेज कर देता है जो भोजन के पोषक-तत्वों को ऑब्जर्व करता है। नारियल के आटे का ग्लूटेन फ्री होना ही इसे लोगों के बीच में ज्यादा लोकप्रिय बनाए हुए है। कई स्टडी में ये बात सामने आई है कि रोज एक कटोरी नारियल के आटे का सेवन सीलिका की बीमारी से बचाता है।

कम करें दिल की बीमारी

कम करें दिल की बीमारी
3/6

नारियल के आटे में काफी मात्रा में फाइबर्स होते हैं जो खाना पचाने के लिए काफी जरूरी होते हैं। इसलिए अपने भोजन में नारियल का आटा जरूर इस्तेमाल करें। दिसम्बर 2006 में इनोवेटिव फुड साइंस और इमर्जिंग टेक्नोलॉजी में प्रकाशित हुई स्टडी के अनुसार भोजन में रोजाना नारियल का आटा इस्तेमाल करने से हृदय की बीमारियों का खतरा कम होता है। इसके अलावा सामान्य आटे की जगह नारियल का आटा इस्तेमाल करने से कोलस्ट्रॉल लेवल भी कम होता है।

पचाने में आसान

पचाने में आसान
4/6

नारियल के आटे में मौजूद फाइबर भोजन पचाने में सहायक है। नारियल के आटे में मौजूद फाइबर शरीर में भोजन द्वारा गए बेकार की चीजों व पेरासाइट्स को शरीर से ऑब्जर्व कर शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है। ये शरीर की सफाई करने का प्राकृतिक तरीका है। इससे कब्ज की समस्या ठीक होती है और आपकी पाचन शक्ति को बेहतर बनाता है। इसलिए रोजाना आटे में नारियल के आटे की एक उचित मात्रा का इस्तेमाल करें खुद के शरीर को डिटॉक्सीफाई रखें।

मेटाबॉलिज्म बूस्ट करे

मेटाबॉलिज्म बूस्ट करे
5/6

नारियल के आटे में काफी मात्रा में फैट होते हैं जो स्वास्थ्य के लिए काफी हेल्दी होते हैं। ये एक तरह से हेल्दी फैट होते हैं जो शरीर में फैट जमने नहीं देते और मेटाबॉलिज्म बूस्ट करते हैं। इस कारण नारियल का आटा खाने से वजन कम करने में भी मदद मिलती है। 100 ग्राम नारियल के आटे में 9 ग्राम फैट होता है जिसमें से 8 ग्राम सैचुरेटेड होते हैं और किसी भी तरह से शरीर को नुकसान नहीं पहुंचाते। इसके अलावा ये हेल्दी फैट शरीर को फंगस और अन्य वायरल एक्टिविटी से भी बचाते हैं।

मधुमेह से बचाए

मधुमेह से बचाए
6/6

नारियल के आटे का सबसे अधिक फायदा है कि ये मधुमेह और कैंसर जैसी घातक बीमारियों से भी बचाता है। दरअसल नारियल के आटे में फाइबर के अलावा लो डाइजेस्टेबल कार्बोहाइड्रेट होते हैं जो पचने में आसान होते है। इस कारण इससे मोटापा नहीं बढ़ता। इसके अलावा ये बल्ड में शुगर लेवल भी तुलनात्मक रुप से संतुलित रखता है।

Disclaimer