रुद्राक्ष धारण करने से शरीर और मस्तिष्क को मिलते हैं ये 5 फायदे

हिन्‍दू धर्म के अनुसार रूद्राक्ष पहनना शुभ माना जाता है। रूद्राक्ष पहनना केवल धर्म की परंपरा के अनुसार ही शुभ नहीं है, बल्कि इसके कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ भी हैं। रूद्राक्ष आपके चित व मन शांत रखने में लाभदायी है। रूद्राक्ष पहनने से व्‍यक्ति का आध्‍यात्मिक व मानसिक सेहत दोनों को भरपूर फायदा होता है। आइए हम आपको बताते हैं कि रूद्राक्ष के क्‍या-क्‍या फायदे हैं।

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Apr 27, 2019

शरीर के लिए रूद्राक्ष

शरीर के लिए रूद्राक्ष
1/6

हिन्‍दू धर्म के अनुसार रूद्राक्ष पहनना शुभ माना जाता है। रूद्राक्ष पहनना केवल धर्म की परंपरा के अनुसार ही शुभ नहीं है, बल्कि इसके कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ भी हैं। रूद्राक्ष आपके चित व मन शांत रखने में लाभदायी है। रूद्राक्ष पहनने से व्‍यक्ति का आध्‍यात्मिक व मानसिक सेहत दोनों को भरपूर फायदा होता है। रूद्राक्ष में इलेक्‍ट्रोमैग्‍नेटिक गुणों के कारण अद्भुत शक्ति होती है। इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी फलोरिडा के वैज्ञानिक डाक्‍टर डेविड ली के अनुसार रूद्राक्ष विद्युत ऊर्जा के आवेश को संचित करता है। जिससे इसमें चुंबकीय गुण विकसित होते हैं। इसे डाय इलेक्ट्रिक प्रापर्टी कहा गया है। रूद्राक्ष की डायनमिक पोलेरिटी अद्भुत होती है, यह आपके मस्तिष्‍क में कुछ केमिकल्‍स को प्रोत्‍साहित करते हैं। आइए हम आपको बताते हैं कि रूद्राक्ष के क्‍या-क्‍या फायदे हैं। 

रुद्राक्ष के मानसिक प्रभाव

रुद्राक्ष के मानसिक प्रभाव
2/6

रूद्राक्ष आपके तन व मन दोनों के लिए फायदेमंद है। रूद्राक्ष आपकी बौद्धिक क्षमता व स्‍मरण शक्ति के बेहतर बनाने में फायदेमंद है। इसके अलावा तनाव व चिंता की समस्‍या से परेशान लोगों को रूद्राक्ष धारण करना चाहिए। इससे आपका मानसिक तनाव कम होता है और शरीर की ऊर्जा में वृद्धि होती है। इसके अलावा इसे पहनने से तनाव डिप्रैशन व सिर दर्द की समस्‍या होने के कम आसार रहते हैं।    

दिल के लिए रूद्राक्ष

दिल के लिए रूद्राक्ष
3/6

रूद्राख आपके दिल के लिए भी सही माना जाता है। इसमें मौजूद कीमोफार्माकोलॉजिकल विशेषताओं  के कारण यह दिल संबंधी समस्‍यों को दूर करने में मदद करता है। रूद्राक्ष हृदयरोग, रक्‍तचाप और कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को बनाए रखने में प्रभावी है। हृदय, फेफड़े, गुर्दे और मस्तिष्‍क की बीमारियों से ग्रस्‍त लोगों को धारण करने की सलाह दी जाती है। 

नर्वस सिस्‍टम के लिए रूद्राक्ष

नर्वस सिस्‍टम के लिए रूद्राक्ष
4/6

रूद्राक्ष आपके नर्वस सिस्‍टम पर भी प्रभाव डालता है। और नयूरोट्रांसमीटर के प्रवाह को संतुलित रखता है। रूद्राक्ष में कोबाल्‍ट, आयरन, फास्‍फोरस, एल्‍युमीनियम, कैल्शियम, सोडियम, पोटैशियम और सिलिका जैसे तत्‍व पाये जाते हैं। इसलिए रूद्राक्ष धारण करने से आपका नर्वस सिस्‍टम ठीक रहता है।

डायबिटीज और किडनी के लिए रूद्राक्ष

डायबिटीज और किडनी के लिए रूद्राक्ष
5/6

डायबिटीज और किडनी के लिए रूद्राक्ष फायदेमंद है। नियमित रूप से रूद्राक्ष धारण करने से डायबिटीज का स्‍तर संतुलित रहता है और यह किडनी के लिए भी फायदेमंद होता है। 

ब्लड प्रैशर के लिए रूद्राक्ष

ब्लड प्रैशर के लिए रूद्राक्ष
6/6

वैसे तो रूद्राक्ष एक से 21 मुखी तक होते हैं, लेकिन पंचमुखी रूद्राक्ष को सबसे अधिक सुरक्षित व अच्‍छा माना जाता है। इसलिए पंचमुखी रूद्राक्ष को महिला, पुरूष व बच्‍चे हर किसी के लिए अच्‍छा माना जाता है। रूद्राक्ष से ब्‍लड प्रैशर के लिए भी रूद्राक्ष धारण किया जा सकता है। पंचमुखी रूद्राक्ष पहनने से रक्‍तचाप नीचे आता है और आपका बल्‍उ प्रैशर कंट्रोल रहता है।  

Disclaimer