तो इन 4 कारणों से बढ़ रहा है आपके बच्‍चे का वजन!

जो बच्‍चे मोटे होते हैं उनके माता-पिता अक्‍सर यही सोचते हैं कि उनका बेटा या बेटी स्‍वस्‍थ और तंदरूस्‍त हैं। जबकि ऐसा बिल्‍कुल भी नही हैं क्‍यों कि ज्‍यादातर बच्‍चे मोटापे का शिकार होते हैं। जिसके पीछे कई कारण है। इसके लिए बच्‍चों के पैरेंट्स भी कहीं न कहीं जिम्‍मेदार होते हैं। तो आइए आज हम आपको कुछ ऐसे कारणों से परिचित कराने जा रहे हैं जो आपके बच्‍चे के मोटापे का कारण हैं, जिनसे अपने बच्‍चों को दूर रखिए।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Feb 22, 2017

प्रोसेस्‍ड और जंक फूड

प्रोसेस्‍ड और जंक फूड
1/4

बच्‍चे अक्‍सर प्रोसेस्ड फूड जैसे चिप्‍स, कबाब, सैंडविच और विस्किट जैसे खाद्य पदार्थ और बर्गर, पिज्‍जा जैसी चीजों को खाने के लिए पागल हो जाते हैं, कई बार इनके लिए अपने माता-पिता से जिद भी करते हैं। जब इन खाद्य पदार्थों में कैलोरी अधिक होने से बच्‍चों में मोटापा बढ़ाता है।

गेमिंग

गेमिंग
2/4

तेजी से तरक्‍की करती दुनिया में हर कोई डिजिटल हो रहा है। आजकल छोटे-छोटे बच्‍चे फिजिकल गेम से ज्‍यादा वर्चुअल गेम में व्‍यस्‍त रहते हैं, जिससे बच्‍चों का शारीरिक वि‍कास नही हो पाता है। इससे बच्‍चों का मोटापा बढ़ता है। समय रहते ध्‍यान न दिया गया तो आगे चलकर बच्‍चे बीमार हो सकते है।

सॉफ्ट ड्रिंक

सॉफ्ट ड्रिंक
3/4

आजकल बच्‍चों में भी बड़ों की तरह सॉफ्ट ड्रिंक (कोल्‍ड ड्रिंक और मार्केट में मिलने वाले अन्‍य केमिकल युक्‍त पेय पदार्थ) पीने की आदत बढ़ गई है, जो बच्‍चों के लिए काफी हानिकारक होता है। इनमें शुगर की मात्रा ज्‍यादा होती है जो केवल कैलोरी बढ़ाती है, पोषक पदार्थ नही होता है।

सही समय पर न खाना

सही समय पर न खाना
4/4

जब बच्‍चे सही समय पर खाना नही खाते हैं यानी लगातार खाते रहते हैं तो इससे भी मोटापा बढ़ता है। विशेषज्ञों की मानें तो दो घंटे के अंतराल पर खाना खाने से सही पोषण मिल पाता है। हालांकि लंबे समय तक खाना नही खाने से ब्‍लड सुगर प्रभावित होता है, जिसका प्रभाव मेटाबॉलिज्‍म पर पड़ता है। Image Source : Getty

Disclaimer