सोते समय आप भी लेते हैं खर्राटे? इन 12 आसान उपायों से दूर हो जाएगी समस्या

खर्राटों की समस्या के कारण अक्सर आपको दूसरों के सामने शर्मिन्दा होना पड़ता है। लेकिन इस समस्या को कुछ आसान उपायों से दूर किया जा सकता है।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Feb 01, 2014

खर्राटों की समस्या

खर्राटों की समस्या
1/15

आपके खर्राटों के कारण जब दूसरों की नींद खराब होती है, तो आपको शर्मिन्दा होना पड़ता है। कुछ लोग समझते हैं कि खर्राटे आना सामान्य है, इसलिए वो इस पर ध्यान नहीं देते हैं। जबकि ज्यादातर लोगों में शारीरिक समस्याओं या गलत आदतों के कारण खर्राटे आते हैं। खास बात यह है कि खर्राटों की समस्या को कुछ आसान घरेलू उपायों से रोका जा सकता है, मगर लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं होती है। यही कारण है कि खर्राटे आना एक बड़ी समस्या की तरह देखा जाता है। आइए हम आपको बताते हैं ऐसे 12 उपाय, जिनसे जल्द ही आपके खर्राटों की समस्या दूर हो जाएगी।

हल्‍के में न लें खर्राटे

हल्‍के में न लें खर्राटे
2/15

खर्राटे, जिसमें व्‍यक्ति सोने के बाद नाक से तेज आवाज के साथ सांस लेता और छोड़ता है। क्या आपको खर्राटे की समस्या है क्‍या कभी आप खर्राटे की समस्‍या को लेकर डॉक्‍टर के पास गए हैं? नहीं! अधिकतर लोग खर्राटे को एक साधारण प्रक्रिया समझकर टालते हैं, पर खर्राटे स्लिपिंग डिसऑर्डर का हिस्सा भी हो सकता है। इसलिए खर्राटों से बचने के उपाय करने चाहिए।

खर्राटे से बचने के उपाय

खर्राटे से बचने के उपाय
3/15

खर्राटे लेने के कई कारण हो सकते हैं जैसे, एलर्जी, नाक की सूजन, जीभ मोटी होना, अधिक धूम्रपान करना, शराब या नशीले पदार्थों का सेवन करना और रात को अधिक भोजन करना आदि। आइए जाने खर्राटे से बचने के तरीको के बारें में।

मन रखें शांत

मन रखें शांत
4/15

जिन्हें रात को सोते समय खर्राटे लेने की आदत हो उसे खर्राटे से बचने के लिए रात को सोते समय मन को शांत व मस्तिष्क को बाहरी विचारों से मुक्त रखकर सोना चाहिए।

भरपूर पानी पीएं

भरपूर पानी पीएं
5/15

क्‍या आप जानते हैं कि शरीर में पानी की कमी से भी खर्राटे आते है। जब शरीर में पानी की कमी होती है तो नाक के रास्ते की नमी सूख जाती है। ऐसे में साइनस हवा की गति को श्वास तंत्र में पहुंचने के बीच में सहयोग नहीं कर पाता और सांस लेना कठिन हो जाता है। ऐसे में खर्राटे की प्रवृत्ति बढ़ जाती है। इसलिए सेहतमंद और खर्राटों से दूर रहने के लिए दिनभर भरपूर पानी पीएं

वजन कम करें

वजन कम करें
6/15

अधिकतर मोटे लोग ही खर्राटों की समस्‍या के शिकार होते हैं। गले के आप-पास अधिक वसा युक्त कोशिकाएं जमा होने से गले में सिकुड़न होती है और खर्राटे की ध्वनि निकलती है। तो अगर आप भी खर्राटों से छुटकारा पाना चाहते हैं तो अपना वजन कम करने के उपाय करें।

करवट से सोएं

करवट से सोएं
7/15

पीठ के बल सोना वैसे तो आदर्श तरीका होता है लेकिन इस मुद्रा में सोने से खर्राटों की आशंका बढ़ जाती है। ऐसे में खर्राटों से बचने के लिए आप अगर करवट के बल सोएंगे तो खर्राटों की आशंका कम होगी।

धूम्रपान से बचें

धूम्रपान से बचें
8/15

धूम्रपान से खर्राटों की संभावना अधिक होती है। धूम्रपान वायुमार्ग की झिल्‍ली में परेशानी पैदा करता है और इससे नाक और गले में हवा पास होना रूक जाती है। इसलिए अगर आपको खर्राटों की समस्‍या हैं तो धूम्रपान छोड़ दें।

नींद की गोलियों से बचें

नींद की गोलियों से बचें
9/15

नींद की गोलियों मांसपेशियों पर विपरीत प्रभाव डालती है। सोने के लिए अगर आप शराब, नींद की गोलियों या अन्‍य दवाईयों का इस्‍तेमाल करते है तो बंद कर देना चाहिए। क्‍योंकि इससे भी खर्राटे आते है।

सोने का समय

सोने का समय
10/15

नियमित रूप से एक ही समय पर सोएं। सोते समय अपने शरीर को पूर्ण आराम दें तथा सोते समय ध्यान रखें कि किसी भी अंग पर जोर न पड़ें।

Disclaimer