हर भोजन के बाद शौच जाने की समस्‍या को कैसे दूर करें

कुछ लोगों को भोजन के तुरंत बाद शौच जाने की आदत की समस्‍या होती है। लेकिन कुछ खाद्य पद‍ार्थ और उपायों को अपनाकर आसानी से भोजन के तुरंत बाद शौच जाने की समस्‍या से बचा जा सकता है।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Apr 25, 2014

भोजन के बाद शौच

भोजन के बाद शौच
1/11

कुछ लोगों को भोजन के तुरंत बाद शौच जाने की आदत की समस्‍या होती है। यह समस्‍या जल्‍दी-जल्‍दी और भूख से अधिक भोजन खाने के कारण होती है। अधिक धूम्रपान, खानपान की अनियमितता, पचने में मुश्किल खाद्य पदार्थों के सेवन से भी यह समस्‍या होती है। इसके अलावा पर्याप्‍त नींद ना लेने, मानसिक तनाव और लीवर की समस्‍या या दवाइयों के अधिक सेवन से भी यह समस्‍या हो सकती है। लेकिन कुछ खाद्य पद‍ार्थ और उपायों को अपनाकर आसानी से भोजन के तुरंत बाद शौच जाने की समस्‍या से बचा जा सकता है।

प्रसंस्कृत जंक फैट को सीमित करें

प्रसंस्कृत जंक फैट को सीमित करें
2/11

प्रसंस्कृत खाद्य ठीक प्रकार से ना पचने के कारण बार-बार शौच का कारण बनते हैं। इसमें मौजूद उच्‍च फैट और शुगर पचाने के लिए पेट को बहुत समय लगता है। और पेट लंबी अवधि तक परिपूर्णता का अहसास होता है।

फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन

फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन
3/11

कब्‍ज की शिकायत होने पर भी हर भोजन के बाद आपको शौच जाने की समस्‍या होती है। कब्‍ज की समस्‍या होने पर आंतों में भी समस्‍या आने लगती है। इसलिए इस समस्‍या से बचने के लिए फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों को अपने आहार में शामिल करें। फाइबर से भरपूर खाद्य पर्दा‍थों में नाशपाती, सेब, मटर, ब्रोकोली, साबुत अनाज, सेम और दालें शामिल है।

गैसीय खाद्य पदार्थों का कम सेवन

गैसीय खाद्य पदार्थों का कम सेवन
4/11

सेम, ब्रोकोली, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, फूल गोभी, अरबी, सीताफल आदि जैसे खाद्य पदार्थ खाने के बाद आपके पेट में गैस बनने लगती है और आपको परिपूर्णता का एहसास होता है। इसलिए बार-बार शौच की समस्‍या से बचने के‍ लिए आपको गैसीय खाद्य पदार्थों से दूर रहना होगा।

कार्बोनेटेड पेय का सेवन कम करें

कार्बोनेटेड पेय का सेवन कम करें
5/11

कार्बोनेटेड पेय पदार्थ में मौजूद बुलबुले पेट में जाकर बुदबुदाते है और आंतों में गैस को उत्‍पन्‍न करते हैं। लेकिन प्रत्‍येक दिन कार्बोनेटेड पेय की मात्रा को कम करने से बार-बार शौच की समस्‍या को कम करने में मदद मिलती है। इसके स्‍थान पर नींबू और खीरे से बने पेय को लें। इसके अलावा पुदीने की चाय भी आपकी समस्‍या को कम करती है।

नमक का सीमित सेवन

नमक का सीमित सेवन
6/11

यह बात को आप जानते ही हैं कि नमक की अधिक मात्रा शरीर से पानी को सोख कर पेट में सूजन का कारण बनता है। नमक के सिर्फ एक चम्मच सोडियम में 2300 मिलीग्राम होता है और अपने शरीर को केवल एक दिन में 200 की जरूरत होती है। इसलिए इसके अधिक सेवन से बचना चाहिए।

एंटी ब्लोटिंग खाद्य पदार्थ लें

एंटी ब्लोटिंग खाद्य पदार्थ लें
7/11

कुछ अध्ययनों के अनुसार, बार-बार शौच जाने की समस्‍या से बचने के लिए आपको ऐसे आहार लेने चाहिए जो शरीर में अतिरिक्त पानी को बनाये रखने और गैस की समस्‍या को दूर करने में उपयोगी हो। पुदीना चाय, अदरक, अनानास, अजमोद, और दही सब इस सूची में हैं। इसके अलावा केले, आम, पालक, टमाटर, नट्स, और शतावरी पोटेशियम से उच्‍च होने के कारण इसमें श्रेणी में आते हैं।

खाना धीरे और चबाकर खाये

खाना धीरे और चबाकर खाये
8/11

व्‍यस्‍त जीवन शैली के कारण हम में से बहुत से लोग भोजन को लेकर बुरी आदतों को शामिल कर लेते हैं। इसमें से एक है आहार को जल्‍दी से खाना। लेकिन जल्‍दी खाना खाने से आप अनजाने में खाने के साथ हवा को भी निगल जाते है। जो पेट में गैस और सूजन को कारण बनता है। इसलिए अपने आहार को 30 बार चबाने की कोशिश करें। फिर देखिये आप अपनी समस्‍या को कैसे आसानी से दूर कर लेते हैं।

एक समय में कम मात्रा में खाये

एक समय में कम मात्रा में खाये
9/11

छोटे भागों में खाना खाना आपके पेट और कमर के प्रति दयालु होता है। इसलिए भोजन को 3 बड़े आहार की जगह 4-5 छोटे-छोटे भोजन करें। यह आपके चयापचय को ठीक रखता है और बार-बार भूख लगने को रोकता है।

रात में ज्‍यादा खाने से बचें

रात में ज्‍यादा खाने से बचें
10/11

बार-बार शौच की समस्‍या होने पर रात को ज्‍यादा खाने से बचना चाहिए। विशेष रूप से कार्बोहाइड्रेंट आहार। रात को ज्‍यादा खाने से आपको सुबह फूला हुआ सा महसूस होता है। इसलिए अगर आप चाहते हैं कि आपका एक समय का भोजन बाकि से भारी हो तो आप दोपहर का भोजन ले सकते हैं।

Disclaimer