आपको सेहतमंद रखेंगे ये 10 मसाले

मसाले खाने के स्‍वाद को बढ़ाने के साथ सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होते है। इस स्‍लाइड शो के जरिये हम आपको औषधीय गुणों से भरपूर अलग-अलग मसालों के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के बारे में बता रहे हैं।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Feb 04, 2014

मसालों से सेहत

मसालों से सेहत
1/11

भारतीय व्‍यंजनों में स्‍वाद को बढ़ाने के लिए मसालों का इस्‍तेमाल अधिक होता है। लेकिन क्‍या आप जानते है कि यह मसाले खाने के स्‍वाद को बढ़ाने के साथ सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होते है। इस स्‍लाइड शो के जरिये हम आपको औषधीय गुणों से भरपूर अलग-अलग मसालों के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के बारे में बता रहे हैं।

दालचीनी

दालचीनी
2/11

दालचीनी ना सिर्फ खाने का जायका बढ़ाती है, बल्कि टाईप-2 डायबिटीज और ह्वदय रोगों से भी बचाती है। दालचीनी में कैल्शियम और फाइबर भरपूर मात्रा में होता है। रक्त शर्करा को सन्तुलित करने की प्रभावी औषधि है।

हल्‍दी

हल्‍दी
3/11

हल्‍दी लगभग सभी व्‍यंजनों में इस्‍तेमाल की जाती है। हल्‍दी में पाया जाने वाला करक्युमिन नामक तत्‍व कैंसर को फैलने से और टाइप-2 डायबिटीज को रोकने में मदद करता है। इसके इस्तेमाल से त्‍वचा सम्‍बन्‍धी रोग भी दूर होते हैं। इसके अलावा साथ ही घाव या कटे पर हल्दी लगाने से काफी आराम मिलता है।

मिर्च

मिर्च
4/11

अमेरिकी वैज्ञानिकों के अनुसार, मिर्च में मौजूद कैप्‍सेसिन नामक तत्‍व शरीर के मैटाबॉलिज्म को तेज करता है। इससे शरीर की कैलरीज ज्यादा खर्च होने लगती है जिससे शरीर का वजन अधिक बढ़ता नहीं है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सिडेट्स कोलेस्ट्रॉल को घटाने में मदद करते हैं।

लहसुन

लहसुन
5/11

एंटीबायोटिक गुणों से भरपूर लहसुन सर्दी-जुकाम जैसी बीमारियों से लड़ने में शरीर की मदद करता है। गर्म तासीर के कारण इसका सर्दियों में प्रयोग काफी फायदेमंद होता है। लहसुन दिल के लिए भी बहुत लाभकारी होता है। इसका नियमित रूप से सेवन कोलेस्‍टॉल और थायरॉयड के स्‍तर कम करने में मदद करता है।

लौंग

लौंग
6/11

लौंग एक गर्म मसाला है जो पाचन तंत्र को ठीक रखता है। दांत दर्द से बचने के लिए लौंग के तेल का इस्‍तेमाल किया जाता है। इस मे मौजूद एंटीसेप्टिक गुणों के कारण इसे बेहतर माउथवॉश भी कहते है। इसके अलावा यह मुहांसों को दूर करने में भी मदद करता है।

जीरा

जीरा
7/11

जीरा आयरन का बहुत अच्‍छा स्रोत है। इसका सेवन नियमित रूप से करने से खून की कमी को दूर किया जा सकता है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट ट्यूमर को बढ़ने से रोकने में मदद करते है। इसके अलावा जीरे का सेवन बावसीर में भी लाभकारी माना जाता है।

काली मिर्च

काली मिर्च
8/11

काली मिर्च में पाइपरीन नामक तत्‍व पाया जाता है जो मेटाबोलिज्म को बढ़ाता है और पाचन तंत्र को ठीक रखता है। इसके सेवन से कब्‍ज नहीं होता और पेट को भी काफी आराम मिलता है। यह वजन कम करने में भी आपकी मदद करती है।

अजवायन

अजवायन
9/11

अजवायन रुचिकारक एवं पाचक होती है। यह भूख व पाचन शक्ति को बढ़ाकर पेट संबंधी अनेक रोग जैसे- गैस, अपच, कब्ज आदि को दूर करने में सहायक होती है। साथ ही अजवायन डायबिटीज रोगी को फंगल इंफेक्शन से भी बचाती है।

जायफल

जायफल
10/11

जायफल में एंटी-बैक्‍‍टीरियल तत्‍व होने के साथ ही इसमें मिनरल, पोटैशियम, कैल्‍शियम, आयरन और मैगनीशियम भी पाया जाता है। इसके सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढती है। साथ ही जायफल के इस्तेमाल से त्वचा पर पडऩे वाली झाईयों से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है।

Disclaimer