कैंसर से बचने के तरीके

लाइफस्‍टाइल को नियमित करके कैंसर जैसी बीमारी से बचा जा सकता है, आइए हम आपको बताते हैं कि कैसे बचें कैंसर से।

Nachiketa Sharma
Written by: Nachiketa SharmaPublished at: Apr 02, 2013

स्‍वस्‍थ आहार

स्‍वस्‍थ आहार
1/6

विटामिन और पोषणयुक्‍त आहार का सेवन करने से कैंसर की जटिलता को कम किया जा सकता है। अपने डाइट चार्ट में हरी और पत्‍तेदार सब्जियों को शामिल कीजिए। खाने में अंडे, मशरूम, गाजर, पत्‍तागोभी, टमाटर जैसी सब्जियों को खाइए। सब्‍िजयों और फलों में फाइबर होता है जो कैंसर से बचने में मदद करता है।

नियमित व्‍यायाम

नियमित व्‍यायाम
2/6

हजारों महिलाओं पर हाल ही में हुए अध्‍ययन से यह पता चला है कि जो महिलाएं नियमित एक्‍सरसाइज करती हैं उन्‍हें ब्रेस्‍ट कैंसर होने का खतरा कम होता है। कैंसर से बचने के लिए कम से सप्‍ताह में पांच दिन करीबन 30 मिनट के लिये वॉकिंग करनी चाहिये। अगर वॉक का समय ना हो तो घर पर ही कुछ हल्‍की एक्‍सरसाइज करें।

पारंपरिक तरीके से खाना पकायें

पारंपरिक तरीके से खाना पकायें
3/6

खाने को माइक्रोवेव में पकाने से और ज्‍यादा तलने से खाने की पौष्टिकता समाप्‍त हो जाती है। इसलिए खाने को उबालकर और भाप से पकाने की कोशिश कीजिए। खाने को पकाने के बाद खा लीजिए, ठंडे खाने को गरम करके खाने से बचिए।

रेड मीट न खायें

रेड मीट न खायें
4/6

रेड मीट को खाने से बचें। रेड मीट खाने से प्रोस्‍टेट कैंसर का खतरा बढ़ता है। नेशनल कैंसर इंस्‍टीट्यूट के अध्‍ययन के अनुसार रेड मीट खाने से प्रोस्‍टेट कैंसर होने का खतरा 12 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। जो महिलाएं रेड मांस का ज्‍यादा प्रयोग करती हैं उनको ब्रेस्‍ट कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है।

चीनी और नमक से बचें

चीनी और नमक से बचें
5/6

ज्‍यादा मात्रा में मिठाइयों को खाने से बचें, खाने में नमक की मात्रा सीमित ही रखें इससे कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। चीनी में लो फाइबर होता है जो शरीर की पोषक क्षमता को कमजोर करता है। ज्‍यादा नमक खाने से पेट का कैंसर हो सकता है।

धूम्रपान और मदिरापान न करें

धूम्रपान और मदिरापान न करें
6/6

धू्म्रपान को छोडकर रक्त कैंसर के खतरे को कम किया जा सकता है। धूम्रपान करने से शरीर के अंदर निकोटीन प्रवेश करता है जो कि कई प्रकार के कैंसर के लिए उत्तरदायी होता है। धूम्रपान फेफडे़ और मुंह के कैंसर को फैलाता है। रक्त कैंसर के 100 में से चार रोगियों में धूम्रपान से ल्यूकीमिया होता है। इसलिए धूम्रपान करने और स्मोकिंग एरिया में जाने से बचें।

Disclaimer