खतरनाक है अल्‍ट्रावॉयलेट किरणों का बढ़ता स्‍तर, इस तरह आपकी त्वचा और आंखों के लिए है नुकसानदायक

यूवी किरणों का अधिकतम 10 मानक तक रहना खतरनाक नहीं होता, लेकिन जैसे ही इसका स्‍तर 12 तक पहुंच जाता है तो यह खतरनाक हो सकता हैं। आइए इस हेल्‍थ न्‍यूज के

Vishal Singh
विविधWritten by: Vishal SinghPublished at: Apr 26, 2016
खतरनाक है अल्‍ट्रावॉयलेट किरणों का बढ़ता स्‍तर, इस तरह आपकी त्वचा और आंखों के लिए है नुकसानदायक

सर्दियों के मौसम में जो धूप हमे सबसे ज्यादा पसंद आती है गर्मी में वही धूप हमे सबसे ज्यादा बुरी लगती है। वजह ये कि सर्दी के मौसम में धूप में हमे गर्मी का अहसास कराती है तो गर्मी में ये हमे और ज्यादा गर्मी देती है। गर्मी का मौसम शुरू होने के साथ ही लोग धूप से बचने और गर्मी से बचने के तरीके तलाशते रहते हें। वहीं, दूसरी ओर जो लोग बाहर जाते हैं वो धूप से बचने के लिए कई तरह के तरीके अपनाते हैं जिससे कि वो किसी भी तरह धूप से बचने में कामयाब हो सकें। तेज धूप के कारण गर्मी तो लगती ही है लेकिन साथ ही ये हमारी त्वचा को भी काफी नुकसान पहुंचाने का काम करती है। लेकिन इन सबके अलावा अल्ट्रावॉयलेट किरणें भी हमारे लिए नुकसानदायक होती है। आइए जानते हैं हमारे लिए धूप और अल्ट्रावॉयलेट किरणें कैसे नुकसानदायक है।

अल्ट्रावॉयलेट किरण के नुकसान

मेलानिन होता है कम

तेज धूप और अल्ट्रावॉयलेट किरणों के कारण हमारे शरीर से मेलानिन की मात्रा कम होने लगती है। मेलानिन हमारे शरीर में पाए जाने वाला एक तत्व होता है, जो बालों को शाइनिंग देने के साथ हेल्दी रखता है। तेज धूप में ज्यादा देर रहने के कारण शरीर से मेलानिन की मात्रा धीरे-धीरे कम होने लगती है। जिसका सीधा असर हमारे बालों पर पड़ता है। 

स्किन कैंसर का खतरा

ये तो आप सभी जानते हैं कि तेज धूप के कारण हमारी त्वचा को भी काफी नुकसान का सामना करना पड़ता है। तेज धूप के कारण हमारी त्वचा में कई प्रकार के प्रभाव पड़ते हैं। यह लाल-काली और छिल सी जाती है। इसके साथ ही अल्ट्रावॉयलेट किरणों के कारण हमेशा स्किन कैंसर का खतरा बना रहता है। 

इसे भी पढ़ें: गर्मी से बचने के लिए रंगों का सही चयन भी है जरूरी, इस तरह घर और कमरों में करें ये छोटे बदलाव

आंखों पर पड़ता है बुरा असर

आप जितनी देर धूप में रहते हैं उतनी देर तक आपकी आंखों को तो तकलीफ होती ही है लेकिन साथ ही ये आपकी आंखों को हमेशा के लिए नुकसान पहुंचाने का काम करती है। तेज धूप के कारण आपकी आंखों में जलन और लाल रहने लगती है। ज्यादा देर तक रोशनी में रहने के कारण आंखों को होने वाले नुकसान की तरह ही आपको क्षति पहुंचती है। कई अध्ययन ये बताते हैं कि कम धूप के कारण भी आप आंखों की गहरी बीमारियों के शिकार बन सकते हैं। आप अगर रोजाना धूप का सामना करते हैं तो ऐसे में आपको अपनी आंखों की देखभाल भी करनी जरूरी है नहीं तो आप मोतियाबिंद का शिकार हो सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: फायदेमंद है आपके लिए गर्मी में पसीना आना, बॉडी डिटॉक्स करने के साथ बॉडी टेंपरेचर भी करता है बैलेंस

ऐसे करें बचाव

  • अगर तेज धूप का मौसम है तो आप कोशिश करें कि बाहर कम निकलें और अगर आप बाहर निकलते भी हैं तो अपनी त्वचा को कोई नुकसान न हो इस तरह की देखभाल के साथ निकलें।
  • बाहर निकलते हुए हमेशा त्वचा को ढककर रखने की कोशिश करें। 
  • एक साल से छोटे बच्चों को सीधे धूप में न लाएं, इससे त्वचा संबंधित परेशानियां हो सकती है। 
  • आप धूप से होने वाले नुकसान से बचने के लिए अपनी त्वचा पर सनस्क्रीन का इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  • आंखों को धूप के सीधे संपर्क में आने से बचाएं या चश्मा लगाएं। 

 Read More Articles On Miscellaneous in Hindi

 
 
 
Disclaimer