ग्लूकोमा वीक : इस बीमारी मेंं इन 6 चीजों का सेवन है जानलेवा!

ग्लूकोमा के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए हर साल दुनियाभर में 6 मार्च से 12 मार्च तक 'वल्र्ड ग्लूकोमा वीक' मनाया जाता है।

Rashmi Upadhyay
ग्‍लाउकोमा Written by: Rashmi UpadhyayPublished at: Mar 02, 2017
ग्लूकोमा वीक : इस बीमारी मेंं इन 6 चीजों का सेवन है जानलेवा!

अगर आप ग्लूकोमा के बारे में जानते हैं तो बहुत अच्छी बात है, लेकिन अगर आप नहीं जानते तो हम आपको बता देते हैं कि गलूकामा को आम भाषा में मोतियाबिंद या कालामोतिया भी कहते हैं। यह एक गंभीर बीमारी है। अगर समय रहते इसका इलाज नहीं किया गया तो ये पूरी तरह से अंधा भी बना देती है। वर्तमान समय में दुनियाभर में कई लोग ग्लूकामा की गिरफ्त में हैं। वैसे तो आंखों के कमजोर और खराब होने के कई कारण हैं। लेकिन आंखों से संबंधित परेशानियों की अनदेखी और लापरवाही धीरे-धीरे ग्लूकोमा का स्पष्ट निमंत्रण देती है। ग्लूकोमा के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए हर साल दुनियाभर में 6 मार्च से 12 मार्च तक 'वल्र्ड ग्लूकोमा वीक' मनाया जाता है। आज हम आपको ग्लूकोमा के लक्षण और इस बीमारी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए ये बता रहे हैं। ग्लूकोमा को समझते से पहले हमें अपनी आंख को विस्तार से समझने की जरूरत है।

इसे भी पढ़ें, इस तरह करें अपनी आखों की रोशनी का ग्लूकोमा से बचाव

 

कैसी है आंख की रचना


आंख में मौजूद कॉर्निया के पीछे आंखों को सही आकार और पोषण देने वाला तरल पदार्थ होता है, जिसे एक्वेस ह्यूमर कहा जाता है। जो इस तरल पदार्थ को बनाता है उसे सीलियरी टिश्यू कहते हैं। यह तरल पदार्थ द्रव पुतलियों के माध्यम से आंख के भीतरी हिस्से में जाता है। इस तरह से आंखों में एक्वेस ह्यूमर का बनना और बहना लगातार जारी रहता है। आंखों को स्वस्थ रखने के लिए इस प्रक्रिया का होना जरूरी होता है।

 

ग्लूकोमा के लक्षण

 

  • जब किसी व्यक्ति को ग्लूकोमा होता है तो आंखों में तरल पदार्थ का दबाव बहुत ज्यादा हो जाता है।
  • आंखों के नंबर में जल्दी-जल्दी उतार-चढ़ाव आता है।
  • आंखें अक्सर लाल रहती हैं।
  • रोशनी का धुंधला दिखाई देना और आंखों में तेज दर्द होना।
  • धुंधलापन और रात में दिखना बंद हो जाना।
  • बिना बात के मितली या उलटी होना।
  • सिरदर्द और हल्के चक्कर आना।
  • डायबिटीज, हाई बीपी और हार्ट की बीमारियों की वजह से भी ग्लूकोमा हो सकता है।
  • इन लक्षणों में से अगर 2 लक्षण भी किसी व्यक्ति को अपने आप में महसूस होते हैं तो उसे तुरंत डॉक्टर से जांच करानी चाहिए।

 

ना खाने योग्य पदार्थ

 

  • शराब और तम्बाकू
  • शक्कर
  • मसाले और अचार
  • मांस के आहार
  • चाय और कॉफी
  • शीतल पेय

 

ग्लूकोमा में खाने योग्य पदार्थ

 

  • विटामिन-ए, बी, सी, और ई (मुख्यतः सी)।
  • गिरियां, मेवे और अनाज।
  • खट्टे फल और पत्तेदार हरी सब्जियां।
  • अंडे, गाजर, दूध, लीन मीट, समुद्री भोजन, ब्लूबेरिस, चेरी, टमाटर इन सभी का सेवन ग्लूकोमा के मरीजों को विशेष रूप से करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें, क्‍या है ग्‍लूकोमा या काला मोतिया


ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Glucoma In Hindi

Disclaimer