जानें डायबिटीज होने के कारण, लक्षण और घर पर ब्लड शुगर जांचने के तरीके

अनियमित खानपान के कारण डायबिटीज की समस्या पैदा होती है, ऐसे में लगातार आपको अपने ब्लड शुगर की जांच करते रहना चाहिए।  

Vishal Singh
डायबिटीज़Written by: Vishal SinghPublished at: May 01, 2012
जानें डायबिटीज होने के कारण, लक्षण और घर पर ब्लड शुगर जांचने के तरीके

आजकल भागदौड़ भरी जिंदगी और सही खानपान न होने के कारण डायबिटीज एक आम बीमारी हो गई है। डायबिटीज होने पर मरीज को अपनी जीवनशैली में कई बदलाव करने पड़ते हैं। डायबिटीज में खाने पीने की चीजों पर खासा ध्यान देना पड़ता है। इसके साथ ही डॉक्टर की ओर से दी जाने वाली सलाह दी जाती है। डायबिटीज के मरीज को कई और भी गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। डायबिटीज से पीड़ित शख्स को किडनी, लीवर से संबंधित बीमारियों का शिकार होने का खतरा रहता है। इसके साथ ही हार्ट अटैक का खतरा भी बना रहता है। 

पहले डायबिटीज के मरीजों की संख्या 40 से 45 के बाद की उम्र के लोगों को हुआ करती थी। लेकिन अब अनहेल्दी फूड और भागदौड़ भरी जिंदगी के कारण डायबिटीज किसी भी उम्र में किसी को भी अपना शिकार बना सकता है। जब हमारे शरीर के पैंक्रियाज में इंसुलिन का पहुंचना कम होने पर खून में ग्लूकोज का स्तर बढ़ जाता है जिसे डायबिटीज कहते हैं। इंसुलिन एक हार्मोन होता है जो हमारे शरीर में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने का काम करता है। इसलिए किसी को भी कोशिश करनी चाहिए कि उनके शरीर का ब्लड शुगर लेवल हमेशा नियंत्रित रहना चाहिए। 

diabetes

डायबिटीज के कारण क्या है? 

डायबिटीज का मुख्य कारण देखा जाए तो ज्यादा मीठा खाना होता है। लेकिन इसके साथ ही ऐसे कई कारण है जो डायबिटीज जैसी बीमारी को बढ़ावा देते हैं। डायबिटीज के मुख्य कारण: 

  • ज्यादा मीठे का सेवन करना। 
  • शरीर में हमेशा पानी की कमी होना। 
  • मोटापा। 
  • एक्सरसाइज से दूरी रखना। 
  • अनहेल्दी डाइट। 

इसे भी पढ़ें: डायबिटीज पेशेंट के लिए कितना फायदेमंद है सुबह 30 मिनट तक पैदल चलना, जानें सुबह की सैर से मिलने वाले अचूक फायदे

लक्षण

डायबिटीज के लक्षण बहुत ही आम होते हैं लेकिन इन्हें पहचानना काफी मुश्किल हो जाता है। जिसकी वजह से डायबिटीज एक गंभीर स्थिति में पहुंच जाता है। इसलिए आपको अपने स्वास्थ्य पर लगातार नजर रखनी चाहिए जिससे की आप लक्षणों के जरिए डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारियों को जल्द पहचान सकें और इसका समय पर इलाज करा सकें। 

  • ज्यादा थकान होना। 
  • वजन लगातार कम होना। 
  • प्यास ज्यादा लगना। 
  • कई बार भूख भी ज्यादा लगने लगती है। 

बचाव

हमेशा तनावमुक्त रहें

तनाव बढ़ने से शरीर में ब्लड शुगर लेवल भी बढ़ता है। जिससे डायबिटीज के मरीज की तबीयत भी बिगड़ सकती है। इसके लिए आप लगातार योग या एक्सरसाइज करते रहें जिससे की आप हमेशा तनावमुक्त रह सकें। 

मीठे का सेवन कम करें

डायबिटीज के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक है मीठा। मीठा का सेवन ज्यादा करने से डायबिटीज का खतरा हद से ज्यादा हो जाता है। इसलिए आपको कोशिश करनी चाहिए कि मीठे का सेवन कम से कम मात्रा में करें। इसके साथ ही मीठे से आपका वजन भी बढ़ता है।

ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं

डायबिटीज के मरीज को थोड़ी-थोड़ी देर पर पानी पीना चाहिए। इससे आपका डायबिटीज भी कंट्रोल में रहेगा साथ ही आपके शरीर में होने वाली पानी की कमी भी दूर रहेगी। 

सौंफ 

डायबीटीज के मरीजों के लिए सौंफ बहुत फायदेमंद होती है। सौंफ खाने से डायबीटीज नियंत्रण में रहता है। इसको नियमित रूप से खाने आपका ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है। 

करेले

करेले डायबिटीज के रोगियों के लिए काफी अच्छा माना जाता है। करेले का रस शुगर की मात्रा कम करता है। डायबीटीज पर नियंत्रण पाने के लिए करेले का रस नियमित रूप से पीना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: आयुर्वेद से ठीक हो सकती है डायबिटीज? जानें डायबिटीज फ्री होने के आसान टिप्स

कैसे करें ब्लड शुगर की जांच 

  • जरूरी नहीं कि आप हर बार डॉक्टर के पास ही जाएं और ब्लड शुगर लेवल की जांच कराएं। आप घर पर ब्लड शुगर लेवल की जांच कर सकते हैं। आइए हम आपको जांच करने का तरीका बताते हैं। 
  • कभी भी अगर आप ब्लड शुगर की जांच कर रहे हैं तो इसके लिए आपको हाथ धो लेने चाहिए और हाथों को अच्छी तरह सूखा लें।
  • किसी भी उंगली से खून की एक बूंद निकाल लें और मीटर में रख दें। 
  • जांच करने के लिए एक कांच की पट्टी लें जिसमें आप खून का नमूना रखेंगे। 
  • खून का नमूला लेने के बाद आप मीटर में सही जगह उसे रखें। उसके बाद अच्छी तरह परीक्षण करने वाले हिस्से को कवर कर दें। 
  • आपको इसका परिणाम मिलने में कुछ वक्त जरूर लग सकता है। 

 Read More Articles On Diabetes In Hindi

 
 
 
Disclaimer