गर्भवती होने के बाद शुरूआत के 12 हफ्ते महिला के लिए हैं बहुत ही जरूरी

गर्भावस्था के शुरुआती दौर में गर्भपात की संभावना ज्यादा होती है इसलिए इस दौरान इन हेल्थ टिप्स को आजमाएं और स्वस्थ रहें।

Anubha Tripathi
गर्भावस्‍था Written by: Anubha TripathiPublished at: Sep 29, 2012
गर्भवती होने के बाद शुरूआत के 12 हफ्ते महिला के लिए हैं बहुत ही जरूरी

tips in pregnancy weeksगर्भावस्था की पहली तिमाही में महिलाओं में कई तरह के बदलाव होते हैं जैसे मितली आना, मूड में परिवर्तन व तनावग्रस्त होना। इस दौरान गर्भपात की संभावना ज्यादा होती है, इसलिए महिलाओं को अतिरिक्‍त सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है। गर्भावस्था के दूसरे व तीसरे तिमाही में महिलाओं के शरीर में परिवर्तन आना शुरू हो जाता है।

भ्रूण के विकसित होने के साथ ही महिलाओं का पेट बढ़ने लगता है, जिससे महिलाओं को कई तरह के सामान्य दर्द का सामना करना पड़ता है। गर्भावस्था के पहले 12 हफ्तों में महिलाओं के हार्मोन में होने वाले बदलाव, पोषण की जरूरत व निम्‍न रक्‍त चाप (लो ब्लड प्रेशर) की वजह से कई समस्याएं होती हैं। अपनी इन समस्याओं के बारे में अपने डॉक्टर से बात करके महिलाएं गर्भावस्था में आने वाली समस्याओं का सामना कर सकती हैं।

 

गर्भावस्‍था के हफ्ते

 

पोषण

गर्भवती होने के तुरंत बाद से ही महिलाओं के शरीर के लिए पोषण की जरूरत बदल जाती है। अब महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा पौष्टिक आहार का सेवन करना चाहिए क्योंकि आप जो भी खाएंगी उसका असर शिशु के विकास पर भी होगा। गर्भावस्था के पहले 12 हफ्तों में महिलाओं को प्रोटीन, विटामिन व मिनरल ज्यादा से ज्यादा लेना चाहिए जिससे आपके शिशु का विकास ठीक से हो सके । इस दौरान आपको अनाज से बनी हुई चीजें, फल, हरी सब्जियां व लो फैट वाले दुग्ध उत्पाद अधिक मात्रा में लेने चाहिए। साथ ही अपने डॉक्‍टर से यह भी पूछना चाहिए कि गर्भावस्था में जरूरी आयरन, कैल्शियम, विटामिन डी व फोलेट की पर्याप्त मात्रा किस प्रकार ली जाए।


व्यायाम

गर्भावस्था के पहली तिमाही में व्यायाम करने से महिलाएं को तनाव व अनिद्रा राहत मिलती है। विशेषज्ञों के मुताबिक ज्यादातर महिलाएं गर्भावस्था के दौरान भी व्यायाम कर सकती हैं, लेकिन इस बारे में अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए। अगर आप गर्भावस्था में व्यायाम की शुरुआत करना चाहती हैं तो नियमित रुप से आधा घंटा टहलना, स्वीमिंग, पिलातेस व योग अभ्यास किया जा सकता है। व्यायाम के दौरान ब्लड प्रेशर व ब्लड शुगर में बदलाव के कारण पहली तिमाही में चक्कर आना व थकान की समस्या हो सकती है। अगर इस तरह की कोई भी समस्या हो तो व्यायाम करना बंद कर दें और लेट जाएं इससे आप थोड़ी देर में बेहतर महसूस करने लगेंगी।

 

सामान्य बातें

गर्भावस्था के दौरान आप जो भी आहार लेती हैं उससे आपके शरीर से शिशु को भी पोषण मिलता है इसलिए हो सकता है कि आप सामान्य दिनों की अपेक्षा जल्दी थक जाती हों। ऐसा खासकर गर्भावस्था की पहली तिमाही में होता है। थकान महसूस होने का मतलब है कि आप में खून की कमी है इसलिए डॉक्टर से बात करें उसे इस बारे में बताएं।

 

 

अन्‍य सावधानियां

  • गर्भावस्था के दौरान धूम्रपान व नशे से दूर रहें।
  • दिन भर में एक या दो कप कॉफी ही लें। अनपॉशचराइज्ड दूध से भी दूर रहें।
  • साथ ही खुले में मिलने वाला जूस भी आपके लिए ठीक नहीं है।
  • चीज़, कच्चा मांस, अंडा व मछली खाने से बचना चाहिए क्योंकि इसमें  बैक्‍टीरिया हो सकते हैं।
  • चीज़, कच्चा मांस, अंडा व मछली खाने से बचना चाहिए क्योंकि इसमें  बैक्‍टीरिया हो सकते हैं।

 

 

Read More Articles On Pregnancy Care In Hindi

 

Disclaimer