गर्भावस्‍था के आखिरी सप्‍ताह में व्‍यायाम में बरतें सावधानी

गर्भावस्था के आखिरी हफ्ते में महिलाओं को विशेष सावधानी बरतनी चाहिए साथ ही व्यायाम के दौरान महिलाओं को चिकित्सक की सलाह लेना भी जरूरी है।

Aditi Singh
गर्भावस्‍था Written by: Aditi Singh Published at: Oct 26, 2015
गर्भावस्‍था के आखिरी सप्‍ताह में व्‍यायाम में बरतें सावधानी

क्‍या गर्भावस्था के आखिरी चरण में व्यायाम करना सुरक्षित है। कितनी ही महिलाओं के मन में यह दुविधा होती है। इसमें कोई शक नहीं है कि गर्भावस्था में व्यायाम करने से मां व बच्चे दोनों की सेहत बेहतर होती है। गर्भावस्था के आखिरी हफ्ते में महिलाओं को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत होती है साथ ही व्यायाम के दौरान महिलाओं को चिकित्सक की सलाह लेना भी जरूरी है। क्योंकि आपके डॉक्टर से बेहतर कोई नहीं जान सकता कि आपका शरीर गर्भावस्था के दौरान व्यायाम कर सकता है या नहीं। अगर आप गर्भावस्था के शुरुआती दौर से व्यायाम करती आ रहीं है तो आप इसे जारी रख सकती हैं। व्यायाम से आपका शरीर प्रसव पीड़ा को झेलने के लिए तैयार हो जाता है।

 

आराम से करें व्यायाम

गर्भावस्था के आखिरी कुछ हफ्तों में हो सकता है महिलाएं व्यायाम के दौरान सहज महसूस नहीं करें क्योंकि इस समय तक शिशु का पूर्ण विकास हो चुका होता है इसलिए महिलाओं को चलने, उठने व बैठने में समस्या होती है। ऐसे में महिलाओं को चिकित्सक की सलाह से अपने व्यायाम में बदलाव करना चाहिए और वहीं व्यायाम करना चाहिए जो वे आसानी से कर सकें।

 

टहलना एक अच्छा व्यायाम

विशेषज्ञ की मानें तो गर्भावस्था के दौरान नियमित रूप से टहलना अच्छा व्यायाम है। इससे श्रोणि पर पड़ने वाला दबाव कम होता है। इसके साथ ही पेट व पीठ के लिए व्यायाम करने से कमर दर्द व शरीर में होने वाले दर्द से आराम मिलता है।

 

  • गर्भावस्था के आखिरी हफ्ते में व्यायाम करने से आपकी सेहत बनी रहती है। लेकिन ध्यान रहें व्यायाम का चुनाव करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। अगर आप व्यायाम के समय सावधानियां बरतेंगे तो यह आपके और आपके शिशु के लिए कभी नुकसानदेह नहीं होगी।
  • व्यायाम करने के लिए उचित जगह का चुनाव करें। ऐसी जगह पर व्यायाम नहीं करें जहां बहुत गर्मी या उमस हो। व्यायाम के बाद स्टीम बाथ या सौना बाथ का ज्यादा प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • व्यायाम करते समय कपड़ो का विशेष खयाल रखना चाहिए। ऐसे कपड़ों का प्रयोग करे जिससे आप आसानी से सांस ले सकें। व्यायाम के बीच में पानी पीना नहीं भूलें इससे आप डिहाइड्रेशन की समस्या से बच सकती हैं। ध्यान रहें जब आपकी सांस फूलने लगे या आपको सांस लेने में परेशानी होने लगे, तो व्यायाम करना बंद कर दें।

 

 

अगर व्यायाम के दौरान आपको किसी तरह की तकलीफ हो रही है तो व्यायाम करना बंद कर दें। हो सकता है व्यायाम के दौरान मितली, श्रोणि में दर्द, धुंधला दिखाई देना व सांस लेने में तकलीफ की समस्या हो तो ऐसे में तुरंत डॉक्टर से संपंर्क करें।

 

 

 

 

Image Source- Getty

Read More Articles On Pregnacy Fitness In Hindi.

Disclaimer