गणित हो सकता है बदन दर्द के लिए जिम्मेंदार

जाने, गणित का स्‍वस्‍थ्‍य पर प्रभाव और गणित से बदन दर्द कैसे हो सकता है।

Bharat Malhotra
लेटेस्टWritten by: Bharat MalhotraPublished at: Nov 02, 2012
गणित हो सकता है बदन दर्द के लिए जिम्मेंदार

ganit ho sakta hai badan dard ke liye jimmedarकई लोगों के लिए गणित जहां एक खेल ही तरह होता है, वहीं अधिकतर लोग अंकों की इस पहेली से जूझते ही नजर आते हैं। लेकिन, अब गणित और मानव के बीच एक और संपर्क के बारे में पता चला है। अगर गणित आपको परेशान करता है तो यह न सिर्फ आपका सिर चकराएगा, बल्कि इससे आपके बदन में दर्द शुरू हो जाएगा। जी, बात जरा अटपटी लग सकती है, लेकिन है पूरी तरह सच।

[इसे भी पढ़े- मांसपेशियो के दर्द का घरेलू उपचार]

वैज्ञानिकों ने पाया है कि गणित विषय से यदि आपको डर लगता है तो इसके चलते मस्तिष्क में बदन दर्द को सक्रिय करने वाला तंत्र चालू हो जाता है। यह शोध यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो के शोधकर्ताओं ने किया है। शोधकर्ताओं ने पाया कि गणित विषय के प्रति घबराहट और बेचैनी से मस्तिष्क का वह हिस्सा अधिक सक्रिय हो सकता है जिसके तार बदन दर्द से जुड़े होते हैं।

शोध दल के मुखिया इयान लियोन्स ने पाया कि गणित की जमा घटा के प्रति घबराहट जितनी अधिक होगी, दिमाग का शारीरिक दर्द का अनुभव कराने वाला हिस्सा उतना ही अधिक सक्रिय हो जाएगा।

[इसे भी पढ़े- पीठ दर्द के लिए योगासन]

इससे पहले किए गए शोध इस बात की ओर इशारा करते थे कि सामाजिक अलगाव और संबंधों में विच्छेद जैसे मानसिक दबाव भी बदन दर्द की शिकायत होती है। लेकिन, ऐसा पहली बार है जब गणित विषय के चलते बदन दर्द होने की बात पता चली हो।

 

Read More Article On- Swastha samachar in hindi

Disclaimer